Pornographic Film Racket: राज कुंद्रा के वकील बोले- कंटेंट वल्गर था, लेकिन पोर्न की कैटेगरी में नहीं डाल सकते

By: Pinki Thu, 22 July 2021 11:02 AM

Pornographic Film Racket: राज कुंद्रा के वकील बोले- कंटेंट वल्गर था, लेकिन पोर्न की कैटेगरी में नहीं डाल सकते

बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी (Shilpa Shetty) के पति और उद्योगपति राज कुंद्रा (Raj Kundra) इस समय पुलिस हिरासत में है। कुंद्रा पर अश्लील फिल्मों के निर्माण और फिर उन्हें कुछ ऐप के जरिए अपलोड करने के मामले में ग‍िरफ्तार क‍िया गया है। मुंबई क्राइम ब्रांच इस मामले में जांच कर रही है। पोर्न मूवी केस में मुंबई पुलिस ने बुधवार शाम को राज कुंद्रा के मुंबई स्थित विआन इंडस्ट्रीज लिमिटेड के ऑफिस और कुछ अन्य ठिकानों पर रेड की। इस दौरान पुलिस ने कुंद्रा के ऑफिस में लगे कुछ कम्प्यूटर्स की हार्ड डिस्क और सर्वर को सीज कर दिया। माना जा रहा है कि यहीं से वी ट्रांसफर के जरिए पोर्न वीडियो को अपलोड किया जाता था।

बता दे, कुंद्रा के खिलाफ 4 फरवरी 2021 को ही केस दर्ज कर लिया गया था। हालांकि, एक बयान के अलावा पुलिस के पास कुंद्रा के खिलाफ कुछ भी नहीं था, इसलिए उन्हें तब पकड़ा नहीं गया। कुंद्रा को गिरफ्तार करने से पहले क्राइम ब्रांच की टीम ने 5 महीने तक कड़ी पड़ताल की है। क्राइम ब्रांच की टीम अश्लील फिल्में बनाने वाले गिरोह का सुराग तलाश रही थी, इसी दौरान राज कुंद्रा का नाम सामने आया था। जांच में सामने आया है कि राज कुंद्रा 20 साल की स्ट्रगलिंग एक्ट्रेस को टारगेट कर, उन्हें कॉन्ट्रैक्ट में फंसा फिल्मों के काम के लिए मजबूर करते थे। इस पूरे मामले पर अब राज कुंद्रा के वकील का स्टेटमेंट भी सामने आ गया है।

कंटेंट वल्गर था, लेकिन पोर्न नहीं

राज कुंद्रा के वकील ने कोर्ट में तर्क दिया है कि कंटेंट वल्गर था, लेकिन उसे पोर्न की कैटेगरी में नहीं डाल सकते। टाइम्‍स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि इस रिमांड में कुछ भी ऐसा नहीं दिखा है कि दोनों शख्स राज और रयान पोर्नोग्राफिक कंटेंट बना रहे थे।

उन्होंने अश्लील सामग्री के संबंध में अन्य धाराओं के साथ इलेक्ट्रॉनिक रूप में अश्लील सामग्री भेजने पर सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 67 ए के आवेदन पर भी आपत्ति जताई, क्योंकि ये कानून 'वास्तविक संभोग' को अश्लील मानते हैं और बाकी सब कुछ वल्गर कंटेंट के रूप में कहा जाता है।

राज कुंद्रा की गिरफ्तारी पर वकील ने आगे कहा कि गिरफ्तारी तब होनी थी जब उसके बिना जांच आगे नहीं हो सकती थी, लेकिन इस केस में गिरफ्तारी के बाद उनसे इन्वेस्टिगेशन की गई। राज के वकील ने ये भी कहा कि उनकी गिरफ्तारी कानून के हिसाब से नहीं हुई है।

राज कुंद्रा ने मामले में अग्रिम जमानत मांगी थी। साथ ही, पुलिस ने ये भी स्पष्ट किया कि उन्हें इसमें शिल्पा शेट्टी की कोई संलिप्तता नहीं मिली है।

टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने मुंबई पुल‍िस के सूत्रों के हवाले से ये दावा क‍िया है कि मुंबई पुल‍िस के हाथ कुछ अहम इलेक्‍ट्रोन‍िक सबूत म‍िले हैं।

इन सबूतों की मानें तो राज पोर्न ब‍िजनेस को बॉलीवुड जैसा बड़ा बनाना चाहते थे। इतना ही नहीं राज 'लाइव सेक्‍शुअल एक्‍ट' को इस ब‍िजनेस का फ्यूचर मानते थे।

30 से 50 हजार रुपए देते थे कलाकार को

कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद सामने आया कि अश्लील फिल्मों में काम करने वाली ज्यादातर लड़कियां और लड़के 20 से 25 साल की स्ट्रगलिंग एक्ट्रेस और एक्टर होते थे। शूटिंग से पहले एक कॉन्ट्रैक्ट साइन करवा लिया जाता था, इसमें अपनी मर्जी से फिल्म छोड़ने पर केस करने का क्लॉज था। पुलिस के मुताबिक, एक कलाकार को एक दिन का ये 30 से 50 हजार रुपए देते थे।

चार दिन पहले मलाड पश्चिम के मड गांव में एक किराए के बंगले में छापा मारा गया और वहां से पुख्ता सबूत मिलने के बाद ही राज कुंद्रा को गिरफ्तार किया गया। जांच में सामने आया है कि मड के जिस बंगले पर मुंबई पुलिस ने छापा मारा था, उसे राज कुंद्रा की टीम ने 20,000 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से किराए पर लिया था। मालिक ने पुलिस को बताया है कि उनसे भोजपुरी और मराठी फिल्मों की शूटिंग करने के नाम पर बंगला किराए पर लिया गया था। शूटिंग के दौरान बंगले का मालिक और अन्य कर्मचारियों को दूर रहने के लिए कहा जाता था। शूटिंग शुरू होने से पहले बंगले को चारों तरफ से नीले रंग के परदे से कवर कर लिया जाता था। बंगले के भीतर सेट बना हुआ था।

ये भी पढ़े :

# राज कुंद्रा के ऑफिस पर मुंबई पुलिस की रेड, पोर्न कंटेंट अपलोड करने वाला सर्वर सीज; रोज कमाते थे 10 लाख रुपए से ज्यादा

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए बॉलीवुड, टीवी और मनोरंजन से जुड़ी News in Hindi

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com