पर्यटकों की पहली पसंद बनी रहती है खुर्पाताल झील, बदलती है अपना रंग

By: Pinki Sat, 11 June 2022 00:04 AM

पर्यटकों की पहली पसंद बनी रहती है खुर्पाताल झील, बदलती है अपना रंग

उत्तराखंड के सबसे खूबसूरत स्थलों में से एक है नैनीताल. नैनीताल अपनी अद्भुत खूबसूरती के लिए मशहूर है। ये जगह न केवल पहाड़ी जगहों के लिए जानी जाती है, बल्कि शानदार आकर्षणों की वजह से भी लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है। लेकिन कई लोग अब नैनीताल जा-जाकर बोर हो चुके हैं। अगर आप भी उन लोगों में से एक हैं, जिन्हें नैनीताल से हटकर भी जगह देखनी है, तो आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं नैनीताल से महज 12 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल खुर्पाताल. खुर्पाताल, नैनीताल से कालांढूगी रोड पर बसा एक गांव है। खुर्पाताल समुद्र तल से 1,635 मीटर की ऊंचाई पर खुर्पाताल ऊंचे पाइन और पुराने देवदार के पेड़ों से घिरा हुआ है। यह एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है। यहां से पहाड़ों के भव्य सौन्दर्य का दीदार होता है। खुर्पाताल अपनी खुशनुमा जलवायु और मनमोहक झील के कारण पर्यटकों की पहली पसंद बना रहता है। इसके अलावा सीढ़ीदार खेत भी खुर्पाताल के मुख्य आकर्षण में से एक हैं। खुर्पाताल की आकृति घोड़े के खुर (तलवे) के सामान दिखती है, यही कारण है कि इस जगह का नाम खुर्पाताल पड़ा।

uttarakhand,khurpatal lake nainital,nainital tourism

रहस्मयी झील

यहां मौजूद झील को खुर्पाताल झील के नाम से जाना जाता है। लगभग आधा किलोमीटर व्यास वाली यह झील चारों ओर से पहाड़ियों से घिरी है। खुर्पाताल झील को रहस्मयी झील भी कहा जाता हैं, क्योंकि इस झील के पानी का रंग बदलता रहता है। इसका पानी कभी लाल तो कभी हरा तो कभी नीला दिखाई देता है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस झील के अंदर लगभग 40 प्रकार के शैवालों की प्रजातियां है। जब शैवाल के बीज बनते है, तो झील रंग बदलती है। इस झील का पानी साफ और गर्म होता है। इसलिए इसे गर्म पानी वाली झील भी कहा जाता है। खास बात है कि सर्दियों के मौसम में भी इस झील का पानी हल्का गुनगुना होता है।

खुर्पाताल झील में बोटिंग और टूरिस्ट एक्टिविटी नहीं होती है, लेकिन मछली पकड़ने के शौकीन लोगों के लिए यह जगह किसी स्वर्ग से कम नहीं है। इस झील में भारी तादाद में मछलियां पाई जाती है, यहीं कारण है कि इस झील को मछुआरों का स्वर्ग भी कहा जाता है।

पहाड़ियों और पेड़ों से घिरी यह झील बहुत ही मनमोहक नजर आती है। इसकी सुंदरता देखते ही बनती है। खुर्पाताल झील से थोड़ी दूर ऊपर मनसा देवी मंदिर है। 19वीं शताब्दी तक खुर्पाताल अपने लौह औजारों के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध था।

ब्रिटिशकाल में यह स्थल ब्रिटिश अधिकारियों की सबसे पसंदीदा जगहों में से एक हुआ करता था। खुर्पाताल के आसपास नैनीताल, भीमताल, पंगोट, किलबरी , रानीखेत और मुकतेश्वर जैसे प्रसिद्द पर्यटन स्थल भी मौजूद हैं।

uttarakhand,khurpatal lake nainital,nainital tourism

ऐसे पहुंचें खुर्पाताल

प्रसिद्ध पर्यटन स्थल नैनीताल से महज 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित होने के कारण यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है। नैनीताल से खुर्पाताल पहुंचने के लिए पर्यटक बस या निजी वाहन की मदद ले सकते हैं। नैनीताल से निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर नैनीताल से 71 किलोमीटर दूर है। यहां से दिल्ली के लिए उड़ानें मिलती हैं।

पंतनगर हवाई अड्डे से टैक्सी या बस से नैनीताल या खुर्पाताल तक पहुंचा जा सकता है। यहां से नजदीकी रेलवे स्टेशन काठगोदाम 35 किलोमीटर की दूरी पर है। नैनीताल राष्ट्रीय राजमार्ग 87 से जुड़ा हुआ है। दिल्ली, आगरा, देहरादून, हरिद्वार, लखनऊ, कानपुर और बरेली से यहां के लिए नियमित बसें चलती हैं।

ये भी पढ़े :

# प्रकृति और परंपराओं की जुगलबंदी देखने को मिलेगी जीरो वैली में, बच्चों के साथ बना ले घूमने का प्लान

# शिमला से 34 किलोमीटर दूर बेहद खूबसूरत पिकनिक स्पॉट हैं साधुपुल, बीच नदी में बैठकर ले सकते है ब्रेकफास्ट का मजा

# शिमला से 18 और कुफरी से महज 6 किलोमीटर दूर है यह खूबसूरत गांव, बर्फ से ढकी रहती हैं वादियां

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com