Advertisement

  • Ola, Uber की वजह से आई ऑटो सेक्टर में मंदी : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Ola, Uber की वजह से आई ऑटो सेक्टर में मंदी : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

By: Pinki Wed, 11 Sept 2019 09:40 AM

Ola, Uber की वजह से आई ऑटो सेक्टर में मंदी : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने मंगलवार को ऑटो सेक्टर (Auto Sector) में जारी मंदी का जिम्मेदार Ola, Uber को बताया। वित्त मंत्री ने कहा लोग अब खुद का वाहन खरीदकर मासिक किस्त देने के बजाए ओला और उबर जैसी आनलाइन टैक्सी सेवा प्रदाताओं के जरिये वाहनों की बुकिंग को तरजीह दे रहे हैं। वित्त मंत्री ने कहा है कि ऑटो इंडस्ट्री पर अब BS6 का प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि बीएस-6 तकनीक और ओला-उबर का इस्तेमाल बढ़ने से लोग नए वाहन नहीं खरीद रहे हैं। ये ऑटो उद्योग में सुस्ती की बड़ी वजह है।

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, सीतारमण ने कहा कि ऑटो इंडस्ट्री पर BS6 और मिलेनियल्स माइंडसेट की वजह से चोट पड़ी है। नए जमाने के लोग गाड़ियां खरीदने के बजाय ओला-उबर का इस्तेमाल कर रहे हैं। व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के संगठन SIAM के मुताबिक, ऑटो सेक्टर की सेल्स अगस्त में 41.09 फीसदी तक गिर गई है। नरेंद्र मोदी सरकार के 100 दिनों में लिए फैसलों और उनके असर के मौके पर फाइनेंस मिनिस्टर ने ऑटो सेक्टर में गिरावट की वजह पर चर्चा की। पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला दिया था कि 1 अप्रैल 2020 से भारत गैस (BS)IV वाली गाड़ियों की बिक्री नहीं होगी। सीतारमण ने कहा, 'अत: कोई एक कारण नहीं है जो वाहन क्षेत्र को प्रभावित कर रहे हैं। हमारी उस पर नजर है। हम उसके समाधान का प्रयास करेंगे।' भारत चरण-6 उत्सर्जन मानक एक अप्रैल 2020 से प्रभाव में आएगा। फिलहाल वाहन कंपनियां भारत चरण-4 मानकों का पालन कर रही हैं।

साथ ही निर्मला सीतारमण ने इस बात के भी संकते दिए कि आने वाले दिनों में ऑटो सेक्टर को और राहत मिल सकती है। उन्होंने कहा कि ऑटो कंपोनेंट्स के लिए इंडस्ट्री से मिले सुझावों पर काम जारी है। ऑटो इंडस्ट्री ने GST दरों में कटौती की मांग उठाई है। लेकिन दरों पर फैसला GST काउंसिल लेगी। ऑटो और ऑटो कंपोनेंट के लिए कई सुझावों पर काम जारी है। हम जानते हैं कि हमें कदम उठाने होंगे।

22 साल की सबसे बड़ी गिरावट, बाइक बिक्री 3 साल के निचले स्तर पर

देश में लगातार 10वें महीने पैसेंजर व्हीकल की बिक्री (August Auto Sales) कम हुई है। SIAM की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अगस्त में पैसेंजर व्हीकल (Passenger Vehicles Sales) की बिक्री पिछले साल इसी महीने की तुलना में 31.57 फीसदी घटकर 1,96,524 वाहन रह गई। वहीं अगस्त 2018 में 2,87,198 वाहनों की बिक्री हुई थी। ऑटो सेल्स में आई ये 22 साल की सबसे बड़ी गिरावट है। देश के ऑटो सेक्टर की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। सियाम की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, साल 1997-98 के बाद ऑटो सेल्स में किसी भी महीने में आई अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है। वहीं, इस दौरान बाइक बिक्री गिरकर 3 साल के निचले स्तर पर आ गई है।

Advertisement

Tags :
|
|
|

Advertisement