Smog से दिल्ली-एनसीआर वालों के फेफड़े हुए छलनी, शरीर से गंदी हवा निकालने के लिए घर बैठे करे ये उपाय

By: Pinki Fri, 04 Nov 2022 6:10:31

Smog से दिल्ली-एनसीआर वालों के फेफड़े हुए छलनी, शरीर से गंदी हवा निकालने के लिए घर बैठे करे ये उपाय

दिल्ली-एनसीआर में लोगों को स्मॉग के कारण आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत हो रही है। प्रदूषण, धुएं और धुंध से मिलकर बनी हवा को स्मॉग कहते है। स्मॉग के कारण दृश्यता बेहद कम हो जाती है। स्मॉग व पॉल्यूशन सबसे ज्यादा नुकसान शरीर को पहुंचाता है। इसके कारण सांस लेने में परेशानी, गले में जकड़न, लंग कैंसर, हार्ट डिजीज, रेस्पिरेटरी इंफेक्शन जैसी खतरनाक बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए, फेफड़ों से प्रदूषित हवा को निकालना बहुत जरूरी है।

फेफड़ों से गंदगी निकालकर उन्हें साफ किया जा सकता है। बस इसके लिए आपको कुछ घरेलू उपाय अपनाने होंगे। मेडिकल न्यूज टुडे के अनुसार, जब हमारे फेफड़ों या रेस्पिरेटरी सिस्टम में गंदगी के कण पहुंच जाते हैं, तो उसे रोकने के लिए शरीर बलगम का उत्पादन करता है। जिसे निकालने के लिए खांसी आती है। इसलिए खांसी को फेफड़े साफ करने का नैचुरल तरीका माना जाता है। अगर आप स्मॉग या दिल्ली के प्रदूषण के संपर्क में आते हैं, तो कुछ सेकेंड नियंत्रित खांसें। इससे गले, सांस की नली और फेफड़ों में फंसे प्रदूषण के कण निकल जाएंगे।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

गर्म पानी की भाप

गर्म पानी की भाप लेना वायुमार्ग को खोलने के लिए सबसे बढ़िया और आसान तरीका है। इससे सांस लेने में सुधार तो होता ही है साथ ही फेफड़ों से प्रदूषण और स्मॉग को निकालने में मदद मिलती हैं। भाप के कण आपकी नली को रिलैक्स करते हैं और बलगम ढीला हो जाता है। इससे प्रदूषण के कण भी बलगम के साथ बाहर आ जाते हैं। गर्म पानी का भाप लेने के लिए एक पतीले में पानी गर्म करना है और सिर के ऊपर एक तौलिया रखकर भाप लेनी है।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

गुड़ का सेवन करें

गुड़ का सेवन पॉल्यूशन के साइड इफेक्ट से बचने में मदद करता है। क्योंकि, गुड़ की मदद से शरीर के अंदर मौजूद खतरनाक कण और टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते अं। इसके लिए आप सुबह एक गिलास गुनगुने पानी के साथ थोड़ा गुड़ जरुर खाएं।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

ग्रीन टी

ग्रीन टी में कई एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो फेफड़ों में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं। ये तत्व फेफड़ों के टिश्यू को धुएं के सांस लेने के हानिकारक प्रभावों से भी बचा सकते हैं। ऐसे में आपको रोजाना कम से कम 2 कप ग्रीन टी पीना चाहिए।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

शहद खाएं

शहद खाने से गले में अटकी प्रदूषण की गंदगी बाहर निकल जाती है। शहद अपने साथ गंदगी को पेट में ले जाता है, जहां से वह अन्य वेस्ट मटेरियल के साथ शरीर से बाहर निकल जाती है। शहद खाने से फेफड़ों व सांस की नली की सूजन भी खत्म होती है।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

एंटी इंफ्लेमेटरी फूड खाएं

वायुमार्ग की सूजन सांस लेने में कठिनाई कर सकती है और छाती को भारी बना सकती है। फेफड़ों में जमा पॉल्यूशन को बाहर निकालने के लिए आपको एंटी इंफ्लेमेटरी फूड (जैसे हल्दी, पत्तेदार साग, चेरी, ब्लूबेरी, जैतून, अखरोट, सेम और दाल) का सेवन बढ़ा देना चाहिए।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

व्यायाम करें

नियमित व्यायाम करने से आपकी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है। ऐसे में फेफड़ों में जमा गंदगी को दूर करने के लिए बढ़िया और कारगर तरीका कोई और नहीं है। नियमित व्यायाम करने से शरीर की सांस लेने की दर बढ़ जाती है और मांसपेशियों को ऑक्सीजन की अधिक आपूर्ति होती है।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

अदरक वाली चाय

अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी के गुण पाए जाते हैं। अदरक शरीर में मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद करता है। साथ ही अदरक में पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक और बीटा कैरोटीन पाए जाते हैं। इसके लिए फेफड़ों को स्वस्थ और साफ रखने के लिए नियमित अदरक वाली चाय पीनी चाहिए। आप चाहे तो अदरक का जूस निकालकर उसे शहद के साथ सेवन कर सकते हैं।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

दालचीनी वाली चाय पिएं

फेफड़ों को साफ़ करने में अहम भूमिका निभाती है दालीचीनी। इसका सेवन फेफड़ों को स्वस्थ और साफ़ रखता हैं। इसके लिए एक गिलास पानी में दालीचीनी के एक छोटे टुकड़े को डालकर उबालें। जब पानी आधा हो जाए, तो इसका सेवन करें।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

मुलेठी की चाय

स्मॉग और प्रदूषण आपके फेफड़ों के टिशू को नुकसान पहुंचाते है ऐसे में मुलेठी की चाय आपके फेफड़ों की रक्षा करती है। मुलेठी की चाय सांस और संक्रमण की परेशानी से निजात दिलाने में मदद करती है। इससे श्वसन प्रणाली भी बेहतर होती है।

delhi,delhi news in hindi,delhi ncr news,delhi pollution news in hindi,lungs,lungs news in hindi,lungs care tips in hindi,pollution effect lungs in hindi

घर में एयर प्यूरीफायर लगाएं

बच्चों को प्रदूषण से बचाने के लिए स्कूल बंद करने के साथ घर पर एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल भी करना चाहिए। यह घर के अंदर की हवा को साफ करता है, जिससे आपको सांस लेने में परेशानी नहीं होती और हेल्दी एयर मिलती है। स्मॉग और पॉल्यूशन के दौरान आपके लिए यह डिवाइस लाइफ सेवर का काम कर सकता है।

ये भी पढ़े :

# वजन घटाने के लिए सबसे आसान उपाय हैं सब्जा सीड्स, कब्ज-बवासीर और डायबिटीज मरीजों के लिए भी फायदेमंद

|
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2023 lifeberrys.com