• हिन्दी न्यूज़››
  • हेल्थ››
  • कोरोना के नई स्ट्रेन ने बढ़ाई चिंता, आंखें कर रहा खराब, सुनने की शक्ति भी हो रही कम

कोरोना के नई स्ट्रेन ने बढ़ाई चिंता, आंखें कर रहा खराब, सुनने की शक्ति भी हो रही कम

By: Pinki Thu, 15 Apr 2021 10:57 AM

कोरोना के नई स्ट्रेन ने बढ़ाई चिंता, आंखें कर रहा खराब, सुनने की शक्ति भी हो रही कम

देश के सभी राज्‍यों में कोरोना संक्रमण के आंकड़े दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं। बीते 24 घंटे में 1 लाख 99 हजार 376 नए मरीज मिले हैं। 93 हजार 418 ठीक हुए और 1,037 की मौत हो गई। कोरोना की दूसरी लहर पहले से काफी खतरनाक दिखाई पड़ रही है। डॉक्‍टरों के मुताबिक इस बार कोरोना का संक्रमण आंख और कान पर सीधा असर कर रहा है। इस बार का नया स्‍ट्रेन मुख्‍य रूप से वायरल बुखार के साथ, डायरिया, पेट दर्द, उल्‍टी दस्‍त, अपच गैस, एसिडिटी, भूख न लगना और बदन दर्द जैसे लक्षण के साथ सामने आया था लेकिन जैसे जैसे कोरोना का संक्रमण फैल रहा है कुछ और लक्षण भी सामने आने लगे हैं।

विशेषज्ञों का कहना है इस बार जिस तरह से कोरोना ने अपना रूप बदला है उसके बाद से चिंता और बढ़ गई है। केजीएमयू व एसजीपीजीआई समेत कई अन्य कोविड अस्पतालों में भर्ती कोविड मरीजों को देखने और सुनने में दिक्‍कत बढ़ गई है। इन संस्‍थानों के चिकित्‍सा विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे कई मरीज हमारे सामने हैं जिन्‍हें दोनों कान से सुनना काफी कम हो गया है। इसके अलावा कुछ कोरोना संक्रमित मरीजों की ओर से दिखाई कम देने की भी शिकायतें सामने आई है। चिकित्‍सकों का कहना है कि गंभीर हालत होने पर शरीर के कई अंग प्रभावित होने लगते हैं ऐसे में कान और आंख पर भी असर दिखाई दे रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखने के बाद डॉक्‍टरों का कहना है कि लापरवाही को छोड़कर कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करना ही एक मात्र उपाय है। डॉक्‍टरों का कहना है कि नए वैरिएंट के मामले में राहत देने वाली बात यह है कि नया स्ट्रेन अगर रोगी की प्रतिरोधक क्षमता ठीक है तो अधिक समय तक परेशान नहीं करता और अधिकतम पांच से छह दिनों में सामान्य भी होने लगता है।

डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ में मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर विक्रम सिंह के मुताबिक कोरोना का दूसरा स्ट्रेन तेजी से लोगों को बीमार कर रहा है। ज्यादातर मरीजों में उ‌लटी-दस्त, अपच,गैस, एसिडिटी के अलावा बदन दर्द और मांसपेशियों में अकड़न तथा सुनने में परेशानी की शिकायत सुनने को मिल रही है।

1 मिनट में कर सकता है संक्रमित

एक्सपर्ट का यह भी कहना है कि इस बार कोरोना वायरस इतना खतरनाक है इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में 1 मिनट के लिए आते है तो आप संक्रमित हो सकते है। दिल्‍ली के बीएलके सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के रेस्पेरेटरी एक्सपर्ट डॉ संजीव नय्यर ने इस बाबत जानकारी दी है। उनका कहना है कि कोरोना वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है। इस बर यह इतना शक्तिशाली है कि किसी को भी यह सिर्फ 1 मिनट में संक्रमित कर दे रहा है। उनके अनुसार पिछली बार ऐसा नहीं था। पहले कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने पर इससे संक्रमित होने में 10 मिनट लग रहे थे।' वहीं एक अन्‍य डॉक्टर ने जानकारी दी है कि इस समय दिल्ली में 30 से 40 साल के युवा सबसे ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि ये लोग ही बाहर अधिक निकल रहे हैं। हालात यह है कि अगर घर पर कोई एक व्‍यक्ति कोरोना संक्रमित होता है तो पूरा का पूरा परिवार ही पॉजिटिव पाया जा रहा है। इस बार आइसोलेशन में जाने के बावजूद घर पर रहने वाले अन्‍य लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। पहले सांस लेने में दिक्‍कत होती थी। लेकिन इस बार तो उल्‍टी और दस्‍त की परेशानी भी हो रही है। साथ ही त्‍वचा पर लाल चकत्‍ते पड़ रहे हैं।

देश में कोरोना महामारी की रफ़्तार हर दिन नए रिकॉर्ड बना रही है। देश के सभी राज्‍यों में कोरोना संक्रमण के आंकड़े दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं। बीते 24 घंटे में 1 लाख 99 हजार 376 नए मरीज मिले हैं। 93 हजार 418 ठीक हुए और 1,037 की मौत हो गई। कई राज्‍यों में हालात बेहद खराब हैं। बड़ी संख्‍या में मौतें हो रही हैं। नए केस का आंकड़ा पिछले साल 16 सितंबर को आए पहले पीक के दोगुना से ज्यादा हो गया है। तब एक दिन में सबसे ज्यादा 97,860 केस आए थे। इसके साथ ही एक्टिव केस, यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 14 लाख 65 हजार 877 हो गई है। कोरोना से पीड़ित लोगों के ठीक होने की दर और गिरकर 89.51% रह गई है।

ये भी पढ़े :

# कोविड को लेकर सामने आई नहीं शोध, वायु प्रदूषण के कारण बढ़ता हैं कोरोना से मौत का खतरा

Tags :
|
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com