महामारी से सबसे ज्यादा मौतों वाला तीसरा देश बना भारत, दूसरी लहर में 2.50 लाख लोगों ने गंवाई जान

By: Pinki Fri, 02 July 2021 09:56:59

महामारी से सबसे ज्यादा मौतों वाला तीसरा देश बना भारत, दूसरी लहर में 2.50 लाख लोगों ने गंवाई जान

भारत में कोरोना महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 4 लाख के पार हो गया। इनमें से सबसे ज्यादा 1.22 लाख मौत महाराष्ट्र में हुई हैं। कोरोना की दूसरी लहर 10 मार्च से शुरू हुई थी। तब तक देश में इस महामारी से 1.58 लाख मौतें हो चुकी थीं। यानी दूसरी लहर में करीब 2.50 लाख लोगों ने जान गंवाई। भारत के अलावा ब्राजील (Brazil) और अमेरिका ही दो देश ऐसे हैं, जहां चार लाख से ज्यादा मरीजों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटे की बात करे तो भारत में 782 कोरोना मरीजों की मौत हुई है।

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका में हुई। यहां अब तक 6 लाख 20 हजार 645 मरीजों की जान जा चुकी है। वहीं, इस मामले में दूसरे नंबर पर बने ब्राजील में 5 लाख 20 हजार 189 लोगों की मौत हुई है। भारत, अमेरिका और ब्राजील के बाद मेक्सिको एकमात्र ऐसा देश है, जिसने 2 लाख से ज्यादा मौतें दर्ज की हैं। मेक्सिको में इस वायरल की वजह से 2.3 लाख मौतें हो चुकी है। इसके अलावा पेरू (1.9 लाख), रूस (1.3 लाख), ब्रिटेन, (1.2 लाख) इटली (1.2 लाख), फ्रांस (1.1 लाख), कोलंबिया (1+ लाख) का नाम शामिल है। वहीं, कुल मरीजों के मामले में भी अमेरिका शीर्ष पर है और इसके बाद भारत का नंबर आता है। ये आंकड़े वर्ल्डोमीटर से लिए गए हैं।

मरने वालों की संख्या में भारत में प्रति 10 लाख आबादी के हिसाब से मौत अब तक सबसे कम है। भारत में यह आंकड़ा 287 है। जबकि, रूस में यह संख्या 916, फ्रांस, मैक्सिको, अमेरिका और ब्रिटेन में 1000 और 2000 के बीच है। महामारी से खासे प्रभावित इन देशों में पेरू में मौत का अनुपात सबसे ज्यादा है। यहां प्रति 10 लाख आबादी पर 5,765 लोगों की मौत हुई है। वहीं कोलंबिया, इटली और ब्राजील अन्य तीन देश हैं, जिन्होंने अब तक एक लाख से ज्यादा मौतें देखी हैं, यहां प्रति मिलियन डेथ रेट 2000 से ज्यादा है, हालांकि ये 3 हजार से नीचे है। भारत में डेथ रेट 100 संक्रमण के मामलों के हिसाब से 1.3 है, जो इन देशों के मुकाबले सबसे कम है। अन्य बड़े एशियाई देशों (अर्थव्यवस्था और जनसंख्या दोनों) और उसके पड़ोसियों की तुलना में भारत में प्रति मिलियन डेथ रेट का अनुपात सबसे ज्यादा है।

नेपाल में प्रति मिलियन 308 मौतें दर्ज की गई हैं। फिलीपींस और इंडोनेशिया ही ऐसे अन्य देश हैं, जहां यह अनुपात 200 से ज्यादा है। मलेशिया में यह अनुपात 160, श्रीलंका के लिए 143 और अफगानिस्तान के लिए 122 है। पाकिस्तान, बांग्लादेश, म्यांमार और थाईलैंड में यह अनुपास 100 से कम है। श्रीलंका, थाईलैंड और मलेशिया में सीएफआर कम है।

भारत में टीकाकरण का आंकड़ा 35 करोड़ पार

देश में गुरुवार को 43,169 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 54,246 ठीक हुए और 782 की मौत हो गई। इसके साथ ही एक्टिव केस यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में 33,259 की कमी आई है। अब 5.05 लाख मरीजों का इलाज चल रहा है। पीटीआई-भाषा के अनुसार, देश में कोविड-19 रोधी टीके की 35 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी है। को-विन डैशबोर्ड के आंकड़ों से यह जानकारी मिली।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 18-44 उम्र समूह में 9.61 करोड़ खुराकें दी गयी हैं। शाम सात बजे तक अंतिम रिपोर्ट के मुताबिक देश में गुरुवार को 38.17 लाख से ज्यादा खुराकें दी गयी। देश में 18-44 उम्र समूह में कुल मिलाकर 9 करोड़ 38 लाख 32 हजार 139 लोग पहली खुराक ले चुके हैं और 22 लाख 68 हजार 517 लोगों को दूसरी खुराक दी गयी।

ये भी पढ़े :

# रूस की सिंगल डोज वैक्सीन 'स्पुतनिक लाइट' को भारत में इमरजेंसी यूज की नहीं मिली मंजूरी, यूरोप और अमेरिका को छोड़ 60 देशों में हो रहा है इसका इस्तेमाल

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2023 lifeberrys.com