Advertisement

  • हिन्दी न्यूज़››
  • न्यूज़››
  • आवाहन अखाड़े के संत महामंडलेश्वर ने राहुल गांधी को लेकर दिया विवादित बयान, बताया मंदबुद्धि, ब्राह्मी पीने की दी सलाह

आवाहन अखाड़े के संत महामंडलेश्वर ने राहुल गांधी को लेकर दिया विवादित बयान, बताया मंदबुद्धि, ब्राह्मी पीने की दी सलाह

By: Pinki Thu, 04 Mar 2021 1:50 PM

आवाहन अखाड़े के संत महामंडलेश्वर ने राहुल गांधी को लेकर दिया विवादित बयान, बताया मंदबुद्धि, ब्राह्मी पीने की दी सलाह

स्टेशन की नाम पट्टिका पर आपत्ति के बाद गुरुवार को आवाहन अखाड़े के संत महामंडलेश्वर आचार्य शेखर ने राहुल-प्रियंका गांधी को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने राहुल गांधी को मंदबुद्धि कहते हुए ब्राह्मी पीने की सलाह दे डाली। आचार्य शेखर ने राहुल को उज्जैन आने का न्‍योता भी दिया है। विवादित बयान दिया है। उन्होंने राहुल गांधी को मंदबुद्धि कहते हुए ब्राह्मी पीने की सलाह दे डाली। आचार्य शेखर ने राहुल को उज्जैन आने का न्‍योता भी दिया है। आचार्य शेखर ने प्रियंका गांधी पर भी कमेंट किए। उन्होंने कहा कि चुनाव में वोट के लिए दोनों बहरूपिये मंदिर जा रहे हैं। जनता को इनसे सावधान रहना चाहिए।

दरअसल, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आरएसएस की तुलना पाकिस्तान के मदरसों से की थी। इस पर आवाहन अखाड़े के संत नाराज हो गए। उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी ने गलत तुलना की है। राहुल को ज्ञान ही नहीं है। वह पाकिस्तान को खुश करना चाहते हैं, इसलिए ऐसी बात करते हैं। मेरा कांग्रेस को एक सुझाव है। इस मंदबुद्धि को हटाओ और ब्राह्मी का सेवन कराओ। गर्मी की छुट्टियों में राहुल को मामा के घर भेज देना चाहिए या फिर उज्जैन भेज दें, ताकि उन्हें दिमाग तेज करने वाली ब्राह्मी पिलाई जा सके।'

चिंतामन गणेश स्टेशन में उर्दू में लिखे नाम पर किसी ने पोता पिला रंग

आपको बता दे, मध्य प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन का नया बना स्टेशन चिंतामन स्टेशन उदघाटन से पहले ही सुर्खियों में है। चिंतामन गणेश मंदिर के सामने बने स्टेशन की पट्टिका पर उर्दू (Urdu) में स्टेशन का नाम लिखा होने पर विवाद खड़ा हुआ तो रातों-रात उर्दू की इबारत हटा दी गई। लेकिन अब ये रेलवे की कार्रवाई है या किसी और ने पीला रंग पोत दिया है इसका अभी पता नहीं चल पाया है। आवाहन अखाड़े के महामंडलेश्वर आचार्य शेखर ने इस पर आपत्ति दर्ज कराई थी। उन्हें पट्टिका पर स्टेशन का नाम उर्दू में भी लिखे होने पर एतराज था। चिंतामन मंदिर के बिल्कुल सामने ही चिंतामन स्टेशन बनाया गया है। उज्जैन स्टेशन से इसकी दूरी 6 किमी है।

आपको बता दे, आवाहन अखाड़े के संत और महामण्डलेश्वर आचार्य शेखर मुस्लिम धर्म गुरुओं पर हमला बोलने के मामले में पहले भी कई बार सुर्खियों में रह चुके हैं। अब तब फिर उन्हें स्टेशन का नाम उर्दू में लिखे होने की जानकरी मिली तो उन्होंने कहा जेहादी प्रवृति के लोगों की भाषा हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।इस्लामिक उर्दू मुगलों की भाषा बर्दाश्त नहीं करेंगे। जल्द ही स्टेशन पर लगी पट्टिका को हटाया जाना चाहिए।

Tags :
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com