जोधपुर सिलेंडर ब्लास्ट: 2 बच्चों सहित अब तक 5 की मौत, 20 परिवारों के 60 से ज्यादा लोग झुलसे

By: Pinki Fri, 09 Dec 2022 09:49:21

जोधपुर सिलेंडर ब्लास्ट: 2 बच्चों सहित अब तक 5 की मौत, 20 परिवारों के 60 से ज्यादा लोग झुलसे

राजस्थान के जोधपुर से करीब 110 किलोमीटर दूर शेरगढ़ तहसील के भूंगरा गांव में शादी के घर में गुरुवार को हुए सिलेंडर ब्लास्ट में आज सुबह इलाज के दौरान 3 महिलाओं की मौत हो गई। गुरुवार को हुए इस हादसे में अब तक 2 बच्चों सहित कुल 5 लोगों की मौत हो चुकी हैं, जबकि 40 से अधिक लोगों की हालत गंभीर है। सभी का जोधपुर के महात्मा गांधी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। डॉक्टर एसएन मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल दिलीप कच्छावा ने हादसे में गंभीर रुप से झुलसी 3 महिलाओं धापू कंवर, कंवरू और चंदन कंवर की आज हुई मौत की पुष्टि की है। इस भीषण हादसे में करीब 20 परिवारों के 60 से ज्यादा लोग झुलसे हैं। वहीं, दो घरों में शादियों की खुशियां मातम में बदल गई हैं। जब ब्लास्ट हुआ उस वक्त दूल्हा तैयार हो रहा था।

जिस समय हादसा हुआ उस दौरान दूल्हा सुरेंद्र सिंह और उसके परिवार के लोग बारात की तैयारी कर रहे थे। महिलाएं मंगल गीत गा रही थी। पूरा गांव परिवार की खुशी में शामिल होने आया हुआ था। तभी अचानक एक गैस सिलेंडर में लीकेज से आग भड़कती है और देखते ही देखते 5 सिलेंडर ब्लास्ट हो जाते हैं। इस ब्लास्ट में सुरेंद्र सिंह का पूरा घर तबाह हो गया। घर में जाे टैंट लगाया था वह भी जल गया। परिजनों ने बताया कि आंगन में बैठी महिलाओं पर एक गैस सिलेंडर आकर गिरा। ऐसे में कई महिलाएं झुलस गईं। दुल्हन के लिए जो शादी का जोड़ा रखा था वह भी इस आग में जल गया। परिवार के सदस्यों के अनुसार सुबह से गैस रिसाव की गंध आ रही थी। हलवाई ने भट्टी के पास के सिलेंडर तो चैक किए, लेकिन स्टोर के सिलेंडर चैक करना भूल गया। धीरे-धीरे गैस आंगन तक पहुंच गई और जैसे ही गैस भट्टी तक पहुंची तो चारों ओर आग फैल गई।

भट्टी के पास लगे सिलेंडर ने आग पकड़ ली और ब्लास्ट हो गया। जिस समय हादसा हुआ उस समय घर का आंगन महिला-पुरुषाें से भरा था और बारात निकलने की तैयारी हो रही थी। आग इतने तेजी से फैली कि महिलाओं की साड़ियां उनसे बुरी तरह चिपक गईं।

घटना की जानकारी मिलते ही जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य दिलीप कछवाहा महात्मा गांधी अस्पताल के अधीक्षक राजश्री बैरवा को तुरन्त निर्देशित किया।

जगदीश मेले के साथ ही अस्पताल प्रशासन ने महात्मा गांधी अस्पताल के नवीन ओपीडी में 4 वार्ड खाली करवा कर उनको तुरंत बर्न यूनिट में तब्दील कर दिया। वहीं बर्न यूनिट से संबंधित सभी कर्मचारी डॉक्टर से लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को तुरंत छुट्टियां रद्द कर अस्पताल बुला लिया गया। हादसे में घायलों के अस्पताल पहुंचने से पहले अस्पताल उनके इलाज के लिए तत्पर नजर आया। वहीं जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता व एसपी अनिल कयाल घटनास्थल पर पहुंच गए।

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2023 lifeberrys.com