• हिन्दी न्यूज़››
  • मनोरंजन››
  • केंद्र और राज्य सरकारों से सोनू सूद ने की ये खास अपील, कोरोना से जिनके मां-बाप की हुई मौत, मुफ्त हो उनकी पढ़ाई

केंद्र और राज्य सरकारों से सोनू सूद ने की ये खास अपील, कोरोना से जिनके मां-बाप की हुई मौत, मुफ्त हो उनकी पढ़ाई

By: Pinki Thu, 29 Apr 2021 5:07 PM

 केंद्र और राज्य सरकारों से सोनू सूद ने की ये खास अपील,  कोरोना से जिनके मां-बाप की हुई मौत, मुफ्त हो उनकी पढ़ाई

देश में रोजाना लाखों लोग कोरोना संक्रमण का शिकार हो रहे है। ऐसे में अस्‍पतालों की पूरी व्‍यवस्‍था चरमराती हुई नजर आ रही है। मरीज ऑक्‍सीजन और अस्‍पताल में ब‍िस्‍तर के ल‍िए दर दर भटक रहे है। ऐसे में लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों के मसीहा बनकर सामने आए सोनू सूद ने सरकार के सामने एक और नेक अपील की है। सोनू सूद ने एक वीडियो के जरिए सरकार से ऐसे बच्‍चों को मुफ्त श‍िक्षा देने की बात कही है ज‍िन्‍होंने कोरोना की इस दूसरी वेव के तहत अपने मां या बाप या दोनों को खोया है।

सोनू सूद ने गुरुवार को अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में एक्टर केंद्र और राज्य सरकार से गुजारिश कर रहे है कि कोविड 19 महामारी में अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों का भविष्य सिक्योर किया जाए। सोनू ने इस वीडियो का कैप्‍शन दिया है, 'ऐसा हर व्‍यक्ति ज‍िसने इस पेनेडमिक में अपने करीब‍ियों को खोया है, उनके ल‍िए हमें साथ आने की जरूरत है।'

एक्‍टर इस वीडियो में कहते नजर आ रहे हैं, 'नमस्‍कार, मैं आज एक गुजारिश करना चाहता हूं सरकार से और उन सभी लोगों से जो मदद में आगे आए हैं। हमने देखा है कि कोरोना की इस दूसरी वेव में बहुत सारे लोगों ने अपने परिवार वालों को खोया है। बच्‍चों ने अपने मां-बाप खो द‍िए। क‍िसी ने अपनी मां खोई तो दो द‍िन बात अपने पापा खो द‍िए। क‍िसी ने अपने मम्‍मी-पापा दोनों ही खो द‍िए और बच्‍चे बहुत छोटे-छोटे हैं। कोई 10 साल का है तो कोई 8 साल का।'

सोनू सूद ने आगे कहा, 'मैं हमेशा सोचता हूं कि इनका भविष्‍य क्‍या होगा। इसल‍िए मैं सरकार से अपील करता हूं कि एक नियम बनना चाहिए कि इस दौरान ज‍िस-ज‍िस ने अपने परिवार के सदस्‍य खोए हैं, उन बच्‍चों की स्‍कूल से लेकर कॉलेज तक की पूरी पढ़ाई, चाहे वो सरकार स्‍कूल में हो या प्राइवेट में, उनकी पूरी पढ़ाई फ्री होनी चाहिए। चाहे वो कोई भी पढ़ाई करना चाहते हों इंजीनियर‍िंग या मेडिकल, उनकी पढ़ाई फ्री होनी चाहिए। इन परिवारों ने अपने कमाने वाले इंसान को खोया है, इनके लिए ये रूल बनना चाहिए।'

बता दें कि सोनू सूद हाल ही में खुद कोरोना से ठीक हुए हैं और लगातार पेनडेम‍िक के दौरान लोगों की मदद करने में लगे हुए हैं। पिछले साल सोनू ने सैकड़ों कामकार मजदूरों और जरूरतमंद लोगों को उनके शहरों तक पहुंचाने का काम क‍िया था ज‍िसकी जमकर तारीफ हुई थी। अब भी सोनू अपने फाउंडेशन के जरिए कई लोगों की मदद करने में लगे हुए हैं।

Tags :

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com