• Hindi News/
  • Weird Story/
  • Andhra Pradesh Two Years After The Death Of Two Daughters The Couple Had Twin Girls On The Same Day

विशाखापत्तनम: 2 बेटियों की मौत के ठीक 2 साल बाद दंपति के घर उसी दिन जुड़वां बच्चियों का हुआ जन्म

By: Pinki Sun, 19 Sept 2021 2:44 PM

विशाखापत्तनम: 2 बेटियों की मौत के ठीक 2 साल बाद दंपति के घर उसी दिन जुड़वां बच्चियों का हुआ जन्म

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विशाखापत्तनम से बेहद ही चौकाने वाली घटना सामने आई है। यहां के निवासी टी अप्‍पला राजू और भाग्‍यलक्ष्‍मी के घर 15 सितंबर 2021 को जुड़वा बच्‍चों को जन्‍म हुआ। ऐसे में आप सोच रहे होंगे कि इसमें चौकाने वाली बात क्या है। दरअसल, टी अप्‍पला राजू और भाग्‍यलक्ष्‍मी ने 15 सितंबर 2019 को आंध्र प्रदेश की गोदावरी नदी (Godavari River) में हुए नाव हादसे में अपनी दो बेटियों को खो दिया था। हादसे में राजू और भाग्‍यलक्ष्‍मी की 3 साल और 1 साल की दो बच्‍चियों की भी मौत हो गई थी। इस हादसे के ठीक दो साल बाद 15 सितंबर 2021 को भाग्‍यलक्ष्‍मी ने जुड़वा बच्‍चों को जन्‍म दिया है। इसे भाग्‍य का चक्र ही कहेंगे कि दोनों बेटियां ही हैं। दंपति का कहना है कि जिस दिन उन्होंने अपनी बेटियों को खोया था, उसी दिन जुड़वा बच्चों का होना भगवान का आशीर्वाद है।

ग्‍लास फैक्‍ट्री में काम करने वाले टी अप्‍पला राजू के घर पर आज से दो साल पहले 15 सितंबर 2019 को दुखों का पहाड़ टूट पड़ा था। हादसा तब हुआ जब गोदावरी नदी में एक डबल-डेकर लॉन्च एक भंवर में फंसकर डूब गई। 32 वर्षीय अप्पला राजू ने बताया कि उस दिन उसे थोड़ी बेचैनी हो रही थी, जिसके कारण दंपति ने अंतिम समय में अपनी यात्रा रद्द कर दी थी। हालांकि, उन्होंने अपनी दो बेटियों, गीता वैष्णवी (3) और धात्री अनन्या (1) को अपने रिश्‍तेदारों के साथ श्री राम मंदिर में तीर्थ यात्रा के लिए भेज दिया था। अप्‍पला ने बताया कि इस नौका में उनके परिवार के 11 लोगों शामिल थे, जिसमें से केवल एक सदस्‍य को ही बचाया जा सका था। इस हादसे ने हमारे पूरे परिवार को हिलाकर रख दिया। नाव हादसे में हमारे परिवार के 10 रिश्‍तेदारों की मौत हुई थी। हालांकि, अब हम नवजात शिशुओं के आगमन से बहुत खुश हैं।

भाग्यलक्ष्मी ने बताया, नवजात शिशुओं में भी उनकी (मृतक) बहनों के समान लक्षण हैं। दोनों बच्चे पूरी तरह से स्‍वस्‍थ हैं। डॉ पी सुधा पद्मश्री ने बताया कि दंपति ने उनसे एक साल पहले संपर्क किया था। अपनी दो बच्चियों को खोने के बाद से दंपति काफी सदमे में थे। मैंने उन्‍हें आईवीएफ प्रक्रिया के बारे में समझाया और इलाज शुरू किया। हमने दंपति को 20 अक्‍टूबर की तारीख थी लेकिन बच्‍चों ने 15 सितंबर को भी जन्‍म ले लिया।

lifeberrys हिंदी पर देश-विदेश की ताजा Hindi News पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अपडेट। Viral News in Hindi के लिए क्लिक करें अजब गजब सेक्‍शन

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com