Coronavirus: फेस मास्‍क का इस्‍तेमाल कई सालों तक करना पड़ सकता है - विशेषज्ञ

By: Pinki Mon, 22 Mar 2021 10:15 AM

Coronavirus: फेस मास्‍क का इस्‍तेमाल कई सालों तक करना पड़ सकता है - विशेषज्ञ

दुनिया भर में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। कई देशों में इसकी दूसरी लहर की बात कही जा रही है। कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ-साथ लोगों को वैक्सीन भी दी जा रही है इसके बावजूद मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग को जरुरी बताया जा रहा है। वहीं, इस बीच इंग्‍लैंड के पब्लिक हेल्‍थ विभाग के टीकाकरण प्रमुख डॉ रैमसे ने बड़ा दावा किया है। उनका कहना है कि हम लोगों को सोशल डिस्‍टेंसिंग और फेस मास्‍क का इस्‍तेमाल कई सालों तक करते रहना पड़ सकता है।

डॉ रैमसे ने कहा, 'दुनियाभर में लोगों को अब निम्‍न स्‍तर के प्रतिबंधों की आदत हो गई है और अब वे इसके साथ ही रह सकते हैं। अर्थव्‍यवस्‍था भी इन प्रतिबंधों के साथ ही आगे बढ़ सकती है। सरकार को भी किसी भी प्रतिबंध को हटाने से पहले सावधानीपूर्वक देखना होगा।'

डॉ रैमसे ने कहा, 'ज्यादा दर्शकों वाले इवेंट की अधिक सावधानीपूर्वक निगरानी जरूरी है। साथ ही साफ दिशानिर्देश भी सुरक्षित रखने के लिए आवश्‍यक हैं।'

दुनियाभर में 4.20 लाख नए मरीज मिले

दुनियाभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 4.20 लाख लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई और 5 हजार से ज्यादा लोगों की जान गई। दुनिया में अब तक 12.38 करोड़ लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। 9.97 करोड़ लोग रिकवर हुए और 27.27 लाख लोगों की मौत हुई है। फिलहाल 2.13 करोड़ मरीजों का इलाज चल रहा है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

भारत में 47 हजार से ज्यादा मरीज मिले

भारत की बात करें तो देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति खराब है। महाराष्‍ट्र, पंजाब, मध्‍य प्रदेश और तमिलनाडु में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में 47,009 संक्रमित मिले। 21 हजार 206 ठीक हो गए, जबकि 213 की मौत हो गई। इस तरह एक दिन में ही एक्टिव केस, यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 28 हजार 653 बढ़ गई। देश में अब तक 1.16 करोड़ लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 1.11 करोड़ ठीक हो चुके हैं, जबकि 1.60 लाख ने जान गंवाई है। अब 3 लाख 31 हजार 671 मरीजों का इलाज चल रहा है। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं। अकेले महाराष्ट्र में ही 30 हजार 535 संक्रमित मिले, जो राज्य में कोरोना के दौर में अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 11 सितंबर को 24,886 केस आए थे, तब यह सबसे ज्यादा थे।

इनके बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, 'कोरोना वायरस से बचाव के उपायों का पालन करने में लापरवाही के कारण संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है।' हर्षवर्धन ने कहा, '80% से ज्यादा मामले कुछ राज्य से हैं। मंत्री ने जोर दिया कि मास्क लगाने और एक-दूसरे से दूरी बनाने जैसे उचित कोविड व्यवहार का पालन किया जाए। इसका पालन टीके की उपलब्धता होने के बावजूद किया जाए।'

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, 'केवल कुछ राज्यों में बढ़ते मामलों में 80% से अधिक हिस्सेदारी है।' उन्होंने कहा, 'देश में संक्रमण के बढ़ते मामलों का प्रमुख कारण उचित कोविड व्यवहार में लापरवाही करना है। यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि टीके की उपलब्धता के बाद भी उचित कोविड व्यवहार का पालन किया जाए।'

मंत्री ने कहा, ' उचित कोविड व्यवहार और कोविड टीकाकरण के बारे में जागरूकता को बढ़ाना है और हमें इस टीकाकरण को जन आन्दोलन बनाना है।'

ये भी पढ़े :

# एक बार फिर डराने लगे आंकड़े, कोरोना के सक्रिय मामले बढ़कर हुए 3,09,087; पिछले 24 घंटे में बढ़े 20,890 एक्टिव मरीज

# देश में कोरोना की दूसरी लहर, पिछले 24 घंटे में मिले 47000 से ज्यादा मरीज; महाराष्ट्र में 30 हजार से ज्यादा नए मामले

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com