रोजाना 7000 स्टेप्स चलने से मौत का खतरा 50 से 70% तक कम, नई स्टडी में दावा

By: Pinki Sun, 12 Sept 2021 6:55 PM

रोजाना 7000 स्टेप्स चलने से मौत का खतरा 50 से 70% तक कम, नई स्टडी में दावा

भारतवर्ष में हम लोग प्रियजनों के जन्मदिन पर संस्कृत में शुभकामना देते हैं - जीवेम शरदः शतम ! अर्थात भगवान करे आप सौ वर्ष जियें। पर आज के समय में हमारी खराब लाइफस्टाइल के चलते ऐसा हो पाना मुश्किल है। खान-पान और अनहेल्दी आदतों का असर सीधा इंसान की जिंदगी पर पड़ता है। ऐसे में एक स्टडी में सामने आया है कि अगर हम रोजाना 7000 स्टेप्स चलते है तो कम उम्र में मौत का खतरा 50 से 70% तक कम हो जाता है। यह स्टडी JAMA नेटवर्क ओपन जर्नल में प्रकाशित हुई है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

फिजिकल एक्टिविटी एपिडेमायोलॉजिस्ट और स्टडी की प्रमुख लेखक अमांडा पलुच ने बताया कि 10,000 से ज्यादा स्टेप्स चलने या तेज चलने से किसी भी तरह के अतिरिक्त लाभ का प्रमाण नहीं मिला है। उन्होंने 10,000 स्टेप्स चलने को जापानी पेडोमीटर के लिए करीब एक दशक पुराने मार्केटिंग कैंपेन का हिस्सा बताया।

इसके लिए शोधकर्ताओं ने कोरोनरी आर्टरी रिस्क डेवलपमेंट इन यंग एडल्ट (CARDIA) स्टडी से डेटा लिया है, जो वर्ष 1985 में शुरू हुई थी और इस पर शोध अभी भी जारी है। 38 से 50 साल की उम्र के तकरीबन 2,100 वॉलंटियर्स को 2006 में एक्सीलेरोमीटर पहनाया गया था। फिर उनकी हेल्थ को लगभग 11 साल तक मॉनिटर किया गया।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

इसके बाद 2020-21 में इसके डेटा का विश्लेषण किया गया और इसमें शामिल वॉलंटियर्स को तीन अलग-अलग ग्रुप्स में बांटा गया। पहला लो स्टेप वॉल्यूम जो रोजाना 7,000 से कम स्टेप्स चलते, दूसरा मॉडरेट जो रोजाना 7,000-9,000 स्टेप्स चलते और तीसरा हाई 10,000 से ज्यादा स्टेप्स चलने वाले। स्टडी के आधार पर एक्सपर्ट ने बताया कि रोजाना 7,000 से 9,000 स्टेप्स चलने वाले वॉलंटियर्स की हेल्थ को बहुत फायदा हुआ है। लेकिन प्रतिदिन 10,000 से ज्यादा कदम चलने वालों की सेहत को कोई अतिरिक्त फायदा नहीं मिला है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

रोजाना पैदल चलने के स्वास्थ्य लाभ

वजन को रखें मेंटेन


अगर आप बढ़े हुए वजन से परेशान हैं तो रोजाना 30 मिनट तक वॉक कर सकते हैं। वॉकिंग आप अपने घर की छत पर या घर के अंदर भी कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें की रोजाना 30 मिनट तक वॉक करना जरूरी है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

हृदय को स्वस्थ रखे

रोजाना 30 मिनट तक पैदल चलने से आप अपने हृदय को हेल्दी रख सकते हैं। पैदल चलना कोलेस्ट्रॉल, रक्तचाप, मधुमेह, मोटापा, तनाव, सूजन और मानसिक तनाव जैसे हृदय जोखिम कारकों को कम कर सकता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

मांसपेशियों का निर्माण और हड्डियों को करे मजबूत

पैदल चलना एक सबसे अच्छा और सरल व्यायाम है जो मांसपेशियों का निर्माण करता है और मजबूत हड्डियों को बनाए रखने में मदद करता है। यह हड्डी और मांसपेशियों की ताकत, समन्वय और संतुलन में सुधार कर सकता है। साथ ही रोजाना 30 मिनट तक वॉक करना समग्र स्वास्थ्य और गतिशीलता में सुधार कर सकता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

मूड में सुधार

यह नियमित रूप से वॉक करने के सबसे प्रभावी लाभों में से एक है। जब भी आप तनावग्रस्त या चिड़चिड़ापन महसूस करते हैं, तो अपने आप को कुछ समय दें, सब कुछ छोड़ दें जिनमें आप शामिल हैं और 30 मिनट तक रोजाना सुबह वॉकिंग करें। आप अपने घर की बालकनी में, घर के बाहर के हिस्से में वॉक कर सकते हैं। यह आपके दिल में हल्कापन ला सकता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है

पैदल चलना ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है और इस प्रकार डायबिटीज के खतरे को कम कर सकता ई। व्यायाम करने से मांसपेशियों को ब्लड शुगर को अवशोषित करने और ब्लड प्रेशर को कम या ज्यादा होने से रोकने में मदद कर सकता है साथ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के साथ ब्लड शुगर लेवल को बैलेंस करने में भी मदद कर सकता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

कोलेस्ट्रोल को करे कम

शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने से हृदय रोग, रक्तचाप का खतरा बढ़ जाता है लेकिन यदि आप हर रोज 30 मिनट की वॉक करते हैं तो शरीर में गुड कोलेस्ट्रोल का स्तर बढ़ता है जो शरीर के जरूरी और फायदेमंद भी होता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

गठिया और अर्थराइटिस से बचाए

रोजाना नियमित रूप से टहलना शरीर के जोड़ों को मजबूत और फिट रखने का एक रामबाण और एक अचूक उपाय है। गठिया ऑर्थराइटिस और हड्डियों के फ्रैक्चर होने की समस्या में यह काफी राहत पहुंचाता है। रोज अगर आप 30 मिनट तक चलते है तो आपके शरीर की हडि्डयों का घनत्व अधिक होता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

कैंसर और स्तन कैंसर से बचाता हैं

रोजाना केवल 30 मिनट पैदल चलाना कैंसर का खतरा कम कर देता है। एक अध्ययन में सामने आया है कि रजोनिवृत्ति menopause के बाद रोजाना एक घंटा टहलना महिलाओं में स्तन कैंसर की आशंका में काफी कम कर देता है। ‘दि अमेरिकन कैंसर सोसाइटी‘ के अनुसार अगर महिलाएं टहलने को हर रोज अपनी दिनचर्या में शामिल करती है तो वो स्तन कैंसर का खतरा बहुत हद तक कम कर सकती हैं।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

पाचन रखे दुरुस्त

पाचन संबंधी समस्या आज आम बात हो गई है। ऐसे में पाचन क्रिया को दुरुस्त करने के लिए शाम की सैर करना लाभदायक हो सकता है। शाम के नाश्‍ते या भोजन के बाद घूमना आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा हो सकता है।

walking,health benefits of walking,walking benefits,longevity,long life,premature death risk,health and fitness,life expectancy,healthy lifestyle

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

सुबह या शाम टहलना या पैदल चलना किसी कसरत से कम नहीं है। अगर आपको जल्दी-जल्दी सर्दी और ख़ासी या फिर थकावट की शिकायत है तो आपकी रोग प्रतिरक्षा शक्ति कम हो गयी है। ऐसे में रोजाना नियमित रूप से पैदल चलने और कसरत से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद मिलती है। टहलने के दौरान आपके शरीर के लगभग सभी अंग क्रियाशील रहते हैं और विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से लड़ने की ताकत हासिल करता है।

ये भी पढ़े :

# डार्क सर्कल्स आपकी खूबसूरती को कर रहे है कम, तो बादाम तेल दिलाएगा इनसे निजात; इस्तेमाल का तरीका

# कब्ज को करे दूर, इम्युनिटी को करता है मजबूत, जानें कीवी जूस पीने के और फायदों के बारे में...

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com