Advertisement

  • एक हादसे ने बनाया इस लड़की को लेडी गजनी, हर दो घंटे में मिट जाती है याददाश्त

एक हादसे ने बनाया इस लड़की को लेडी गजनी, हर दो घंटे में मिट जाती है याददाश्त

By: Ankur Mon, 16 Sept 2019 1:44 PM

एक हादसे ने बनाया इस लड़की को लेडी गजनी, हर दो घंटे में मिट जाती है याददाश्त

वर्तमान समय में ऐसी कई बीमारियां दिखाई देती हैं जिनके बारे में हमें पहली बार पता चलता हैं और इनमें से कुछ बीमारियां तो ऐसी होती हैं जो बेहद ही अजीब होती हैं और इनपर विश्वास करना भी मुश्किल हो जाता हैं। आपने बॉलीवुड एक्टर आमिर खान की फिल्म गजनी तो देखी ही होगी कि किस तरह वे हर 15 मिनट में अपनी याददाश्त खो देते थे। ऐसा ही कुछ हो रहा हैं रिले हॉर्नर के साथ जिनको डांस एक्ट के दौरान लगी चोट के कारण हर दो घंटे में याददाश्त मिट जाती है और वे सबकुछ भूल जाती हैं। तो आइये जानते हैं इसके बारे में।

# खूबसूरती की वजह से कटा महिला का चालान, घटना बेहद चौकाने वाली

# अंधविश्वास : अस्पताल में तंत्र-मंत्र, हाथों में तलवार लेकर आत्मा लेने पहुंचे परिजन

short term memory loss,ghajini,lady ghajini,riley horner,dance act,incident,scan,test,weird story ,रिले हॉर्नर, गजनी ,अनोखा मामला

दरअसल, चोट लगते ही रिले को अस्पताल ले जाया गया लेकिन कई टेस्ट और स्कैन के बाद भी डॉक्टर (Doctor)ों को उसकी बीमारी समझ नहीं आई। डॉक्टर (Doctor) का कहना हैं कि जब उन्हें बीमारी का ही नहीं पता चल पा रहा हैं तो वे दवाई कैसे देंगे। रिले का कहना है कि वह कोई भी चीज याद नहीं रख पाती हैं और यह काफी डरावना है। लोग इस बात को समझ नहीं पा रहे हैं और उन लोगों के लिए मेरी कहानी शायद एक फिल्मी कहानी लगती है। उन्होंने बताया कि मेरे कमरे के दरवाजे पर कैलेंडर लगा हुआ है। मैं रोज इसे देखती हूं और सितंबर की महीना देखकर खुश होती हूं। लेकिन थोड़े ही समय में मुझे अपनी डांस परफॉर्मेंस की चोट के बाद अब तक मेरी जिंदगी में आए लम्हों की कोई जानकारी नहीं।

# यहाँ महिलाएँ नहीं पुरुष है बेबस, मर्दों को निकालना पड़ता है घूंघट

# क्या आप जानते हैं हवाई जहाज का माइलेज, आइये हम बताते हैं एक लीटर में चलता है कितना

वो बताती हैं कि मैं बहुत कोशिश करती हूं लेकिन कुछ याद नहीं रख पाती हैं। कुछ याद रहता है तो बस 11 जून याद रहता है और कुछ भी नहीं। रिले की मां सारा हार्नर का कहना है कि डॉक्टर (Doctor)ों ने उन्हें कहा था कि समय के साथ रिले की हालत में सुधार होगा, लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हो रहा है। रिले को हर चीज के लिए नोट्स बनाकर देने पड़ते है ताकि जब वह दो घंटे बाद कुछ भूले तो नोट्स काम आ सकें। हम हर रोज उसे याद दिलाते हैं लेकिन उसे कोई फर्क नहीं पड़ता।

रिले की मां बताती हैं कि उनकी बेटी मेडिकल फील्ड में जाना चाहती थी, लेकिन अगर उसकी ऐसी ही हालत रही तो शायद ही उसे कोई जॉब भी न मिलेगा। बता दें कि रिले की बीमारी जैसा ही एक मामला अमेरिका के ग्रीन्सबोरो की कैटलिन लिटन का भी इस साल आया था। कैटलिन भी साल 2017 में इसी तरह सिर में चोट लगने के बाद एंटिरोग्रेड एमनीशिया यानी एक किस्म की भूलने की बीमारी की शिकारी हो गई थी। इस बीमारी में इंसान नई यादें सहेज नहीं पाता और कुछ देर बाद चीजें भूलने लगता है। जहां रिले दो घंटे के बाद सबकुछ भूलती है, वही कैटलिन को सिर्फ 12 घंटे तक की याद रहती हैं। और उसका दिमाग साल 2017 में ही फंसकर रह गया है।

# आम के पत्तों से बनी शराब, जो डायबिटीज के साथ-साथ आपके फैट भी घटाएगी

# अंतिम संस्कार की ये परम्पराएं रूह कंपा देने वाली, कर देती है सोचने पर मजबूर

Tags :
|
|

Advertisement