Advertisement

  • होम
  • न्यूज़
  • राफेल पर SC के फैसलें के बाद BJP का कांग्रेस पर हमला, कहा - सत्य की जीत हुई, देश से माफी मांगें राहुल गांधी

राफेल पर SC के फैसलें के बाद BJP का कांग्रेस पर हमला, कहा - सत्य की जीत हुई, देश से माफी मांगें राहुल गांधी

By: Pinki Thu, 14 Nov 2019 2:21 PM

राफेल पर SC के फैसलें के  बाद BJP का कांग्रेस पर हमला, कहा - सत्य की जीत हुई, देश से माफी मांगें राहुल गांधी

राफेल विमान सौदे पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मोदी सरकार को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने 14 राफेल लड़ाकू विमान के सौदे को वैध मानते हुए 14 दिसंबर, 2018 के अपने फैसले को बरकरार रखा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी, वकील प्रशांत भूषण ने इस याचिका को दायर किया था। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा है कि उन्हें नहीं लगता है कि इस मामले में किसी एफआईआर या जांच किए जाने की जरूरत है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस पर हमलावर है।

फैसले के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस ने देश को गुमराह किया है, ऐसे में उन्हें देश से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा सुप्रीम कोर्ट से बचने के लिए तो राहुल गांधी ने माफी मांग ली है, लेकिन देश की जनता के सामने क्या करेंगे। उनसे माफी कब मांगेंगे? रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने इस मामले में संसद में भी झूठ बोला, राफेल के दाम के बारे में देश को गुमराह किया।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस के द्वारा इस तरह का झूठा कैंपेन चलाया गया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राफेल मामले में सच की जीत हुई है। सुप्रीम कोर्ट ने प्राइसिंग, खरीदने की प्रक्रिया को जांचा और उसे सही ठहराया है। केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान ‘राहुल गाथा’ को सुनाया और आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने लगातार इस मसले में झूठ बोला है। उन्होंने आरोप लगाया था कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को चोर कहा था, लेकिन खुद ओलांद ने इस बात को गलत करार दिया। राहुल गांधी ने अनिल अंबानी की कंपनी को फायदा पहुंचाने का दावा किया, लेकिन दसॉल्ट ने कहा था कि इस मामले में भारत सरकार का कोई रोल नहीं है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले देश में प्रायोजित कैंपेन चलाया गया, अदालत से हारे तो लोकसभा चुनाव में प्रमुख मुद्दा बनाया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी ने तो ये भी कह दिया था कि SC ने नरेंद्र मोदी को चोर कहा है। केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया कि तब के कांग्रेस अध्यक्ष ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का राजनीतिक उपयोग किया।

तीस साल से देश की वायुसेना लड़ाकू विमान की मांग कर रही थी, वाजपेयी जी की सरकार ने इस मामले को आगे बढ़ाया था। लेकिन यूपीए सरकार ने इस डील को आगे नहीं बढ़ने दिया और इसमें रोड़ा अटकाया।

वही भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने ट्वीट किया कि उच्चतम न्यायालय ने राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी। शीर्ष अदालत ने कहा कि राहुल गांधी को पूरा आदेश पढ़े बिना कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं करनी चाहिए तथा उन्हें भविष्य में सावधान रहना चाहिए।

नड्डा ने कहा कि सड़क से लेकर संसद तक राहुल गांधी और उनकी पार्टी ने देश को गुमराह करने का प्रयास किया लेकिन सत्य की जीत हुई। मैं आशा करता हूं कि राहुल गांधी देश में होंगे और राष्ट्र से क्षमा मांगेंगे।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अपने ट्वीट में कहा कि न्यायालय के फैसले ने एक बार फिर राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं सरकार के दृढ़ संकल्प की पुष्टि की है। उम्मीद है कि कांग्रेस पार्टी और उसके पूर्व अध्यक्ष झूठ फैलाना बंद करेंगे एवं राष्ट्र निर्माण और देश की सुरक्षा के प्रति सकारात्मक योगदान देंगे।'

भाजपा प्रवक्त सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘सत्यमेव जयते। सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं।'

राहुल गांधी को नसीयत

वहीं, पार्टी नेताओं ने शीर्ष न्यायालय द्वारा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को भविष्य में सावधान रहने की नसीहत दिए जाने को लेकर कांग्रेस नेता पर चुटकी ली। भाजपा के संगठन मंत्री बी एल संतोष ने ट्वीट किया, ‘उच्चतम न्यायालय ने राफेल सौदे के बारे में समीक्षा याचिका खारिज की और राहुल गांधी को भविष्य में सावधान रहने की नसीहत दी। यह मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की बड़ी जीत है।'

Tags :
|
|
|

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com

Error opening cache file