• होम
  • न्यूज़
  • Article 370 : भारत का विरोध करना महंगा पड़ा PAK को, रोजमर्रा के सामानों के दाम लगे आसमान छूने, ईद मनाना भी मुश्किल

Article 370 : भारत का विरोध करना महंगा पड़ा PAK को, रोजमर्रा के सामानों के दाम लगे आसमान छूने, ईद मनाना भी मुश्किल

By: Pinki Sun, 11 Aug 2019 1:39 PM

Article 370 : भारत का विरोध करना महंगा पड़ा PAK को, रोजमर्रा के सामानों के दाम लगे आसमान छूने, ईद मनाना भी मुश्किल

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के फैसले से बौखलाया पाकिस्तान (Pakistan) एक के बाद एक ऐसे फैसलें ले रहा है जिसका नुकसान उसे खुद उठाना पड़ रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने जितने भी फैसले लिए हैं वो पाकिस्तान पर ही उल्टे पड़े हैं और उसके लिए आत्मघाती साबित हुए हैं। इमरान खान के फैसलों की मार वहां की जनता को सहनी पड़ रही है। भारत से कारोबार बंद करना उसे महंगा पड़ रहा है। पाकिस्तान ने भारत से आयात किए जाने वाले समानों पर पूरी तरह रोक लगा दी है। जिसकी वजह से पाकिस्तान के बाजारों में रोजमर्रा के सामानों के दाम आसमान छूने लग गए है। हालत यह है कि अब वहां के लोग ईद की खरीदारी भी नहीं कर पा रहे हैं।

दरअसल, पाकिस्तान में आम लोगों और व्यापारियों का कहना है कि इस बार ईद मनाने में मुश्किल होगी क्योंकि भारत से आने वाली चीजों पर प्रतिबंध से महंगाई और बढ़ गई है। और इस बढ़ती महंगाई से रोजमर्रा की जरूरतों का बजट बिगड़ गया है। शादियों का भी सीजन है और उस पर भी असर पड़ने की पूरी आशंका है।

pakistan,eid,article 370,jammu-kashmir,imran khan,inflation in pakistan,people of pakistan,pakistan market,india-pakistan trade,article 370 news in hindi,pakistan news in hindi,news,news in hindi ,जम्मू-कश्मीर,आर्टिकल 370,पाकिस्तान

टमाटर की कीमत 300 रुपये प्रति किलो

उधर बाजारों से रौनक गायब है। सब्जियों के दामों में अचानक इजाफा हुआ है। टमाटर की कीमत 300 रुपये प्रति किलो तक पहुंच चुकी है। टमाटर के अलावा अन्य सब्जियों के दामों में इजाफे से पाकिस्तान के लोग सकते में हैं और पहले से ही महंगाई से जूझ रहे लोगों के लिए यह दोहरी मार जैसा प्रतीत हो रहा है।

भारत की तरफ से रोजाना हरी सब्जियों और खासतौर पर टमाटर की एक बड़ी खेप पाकिस्तान भेजी जाती थी जिस वजह से वहां सब्जियों के दाम नियंत्रित रहते है। लेकिन पाकिस्तान सरकार के कारोबार रोकने के फैसले के बाद अब भारत से टमाटर की सप्लाई खत्म हो गई है जिससे वहां टमाटर के दाम आसमान छूने लगे हैं। भारतीय ट्रक ऑपरेटरों का कहना है कि अगर पाकिस्तान को ये लगता है कि व्यापार बंद करने से नुकसान भारत और अटारी बॉर्डर पर किसानों, ट्रक ऑपरेटरों और अन्य व्यापारियों का होगा तो ये उनकी मूर्खता है क्योंकि पाकिस्तान में सब्जियों के दाम अब आउट ऑफ कंट्रोल हो जाएंगे और हाहाकार मच जाएगा।

pakistan,eid,article 370,jammu-kashmir,imran khan,inflation in pakistan,people of pakistan,pakistan market,india-pakistan trade,article 370 news in hindi,pakistan news in hindi,news,news in hindi ,जम्मू-कश्मीर,आर्टिकल 370,पाकिस्तान

बढ़े दूध के दाम

इसके अलावा दूध के दाम का भी आंकड़ा 100 के पार पहले ही जा चुका है। कराची डेयरी फामर्स असोसिएशन ने कुछ दिन पहले ही दूध के दाम बढ़ा दिए थे। पाकिस्तानी अखबार 'द डॉन' की एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रशासन के द्वारा तय किए गए दाम से ज्यादा ही दामों में विक्रेता दूध बेच रहे हैं।

pakistan,eid,article 370,jammu-kashmir,imran khan,inflation in pakistan,people of pakistan,pakistan market,india-pakistan trade,article 370 news in hindi,pakistan news in hindi,news,news in hindi ,जम्मू-कश्मीर,आर्टिकल 370,पाकिस्तान

सोने के दाम रिकॉर्ड स्तर पर

पाकिस्तान में सोना भी अपने रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। जो सोना इंडिया में प्रति 10 ग्राम सोना 37 हजार 900 रुपये मिल रहा है वही पाकिस्तान में यह दोगुने से भी ज्यादा पर पहुंच चुका है। बीते एक हफ्ते में पाकिस्तान में सोने की कीमत में 1750 रुपये की तेजी दर्ज की गई है। पेट्रोल और डीजल के दामों में पहले से आग लगी हुई है।

pakistan,eid,article 370,jammu-kashmir,imran khan,inflation in pakistan,people of pakistan,pakistan market,india-pakistan trade,article 370 news in hindi,pakistan news in hindi,news,news in hindi ,जम्मू-कश्मीर,आर्टिकल 370,पाकिस्तान

निवेशकों को नुकसान

भारत से तनाव की वजह से पाकिस्तान के शेयर बाजार को भी नुकसान पहुंचा है। अभी तक वहां बीते पांच सालों में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज हुई है। सिर्फ दो दिनों में ही कराची स्टॉक एक्सचेंज में करीब 1500 अंकों की गिरावट दर्ज की गई है और निवेशकों के 7400 करोड़ पाकिस्तानी रुपये डूब चुके हैं।

भारत को नुकसान कम

भारत के साथ व्यापार औपचारिक रूप से निलंबित करने से पाकिस्तान को अभी और नुकसान उठाना पड़ेगा क्योंकि द्विपक्षीय व्यापार में 80 फीसदी माल भारत से पाकिस्तान जाता है, जबकि पाकिस्तान से महज 20 फीसदी माल भारत आता है। इसलिए इमरान खान के फैसले से भारत को कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा।

पाकिस्तान में महंगाई के आंकड़े की बात करें तो नए वित्तीय वर्ष के शुरुआती महीने में ही महंगाई दर दहाई अंकों में पहुंच गई जो पिछले पांच साल में सबसे अधिक है। पाकिस्तान के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) के मुताबिक, इस साल जुलाई महीने में महंगाई दर 10.34 फीसदी रही, पिछले साल इसी अवधि में महंगाई दर 5.84 फीसदी थी।

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद जब भारत ने आतंकियों को ठिकाने लगाने के लिए पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था तो उस समय भारत सरकार ने पाकिस्तान से कारोबार पर रोक लगा दी थी जिसके बाद पाकिस्तान में सब्जी और टमाटर के दामों में इस कदर बढ़ोतरी हुई थी कि पाकिस्तान के लोग और वहां के पत्रकार भारत को कोसने लगे थे।

Tags :
|
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com