ब्रिटेन में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट का कहर, अब तक 12 संक्रमितों की मौत, लग सकता है लॉकडाउन

By: Pinki Tue, 21 Dec 2021 09:13 AM

ब्रिटेन में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट का कहर, अब तक 12 संक्रमितों की मौत, लग सकता है लॉकडाउन

कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron Variant) करीब 90 से ज्यादा देशों में फैल चुका हैं। यूरोप के अधिकांश देशों में इस वैरिएंट के मरीज मिल रहे हैं। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के ब्रिटेन में में एक दिन में 12000 से अधिक केस सामने आए। ब्रिटेन में ओमिक्रॉन से 12 लोगों की मौत हो चुकी है। 104 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। इस बीच, यूरोपीय देशों में सख्ती और नीदरलैंड ने लॉकडाउन लागू कर दिया गया है।

ब्रिटेन के उप प्रधानमंत्री डॉमिनिक रॉब ने सोमवार को टाइम्स रेडियो से बात करते हुए बताया कि इसी देश में ओमिक्रॉन से मौत का पहला मामला सामने आया था। अब तक 12 लोगों की इस वैरिएंट की वजह से मौत हो गई हैं। देश में ओमिक्रॉन वेरिएंट के एक दिन में 12 हजार 133 मामलों को देखते हुए ब्रिटिश कैबिनेट ने सोमवार को सख्त लॉकडाउन प्रतिबंधों के विकल्पों पर विचार किया। ब्रिटेन में ओमिक्रॉन के अब तक 37,101 मामलों की पुष्टि हो चुकी है।

आशंका जताई जा रही हैं कि क्रिसमस के बाद ब्रिटेन में दो सप्ताह का लॉकडाउन लगाया जा सकता है। ब्रिटेन और यूरोपीय देशों में क्रिसमस से ठीक पहले त्योहार की भीड़ रोकने और नए वैरिएंट को फैलने से रोकने के तहत प्रतिबंधात्मक उपाय किए जा रहे हैं।

ओमिक्रॉन डेल्टा की तुलना में 5.4 गुना अधिक घातक

ब्रिटेन में इंपीरियल कॉलेज लंदन के अनुसंधानकर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन में यह अनुमान लगाया गया कि ओमिक्रॉन वैरिएंट से फिर संक्रमित होने का जोखिम डेल्टा स्वरूप की तुलना में 5.4 गुना अधिक है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह है कि पिछले संक्रमण से मिली सुरक्षा को ओमिक्रॉन 19% तक कम कर सकता है।

US में कोरोना के 73% नए मामले ओमिक्रॉन के

कोरोना के ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या अमेरिका में भी लगातार बढ़ती जा रही है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, US में कोरोना के 73.2% नए मामले ओमिक्रॉन संक्रमितों के हैं। नॉर्थवेस्ट, दक्षिण और मिडवेस्ट के कुछ इलाकों में यह आंकड़ा 90% के ऊपर पहुंच गया है।

ये भी पढ़े :

# अमेरिका में फुल स्पीड पर दौड़ रहा Omicron, 73.2% मरीज नए वैरिएंट के

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com