बाजारों के अलावा मंदिरों के लिए भी जानी जाती हैं राजधानी दिल्ली, कर आएं यहां की सैर

By: Ankur Mon, 10 Jan 2022 1:23 PM

बाजारों के अलावा मंदिरों के लिए भी जानी जाती हैं राजधानी दिल्ली, कर आएं यहां की सैर


देश की राजधानी दिल्ली हर तरह से प्रसिद्द है जहां खरीददारी के लिए सस्ते बाजार हैं तो पेट की तृप्ति के लिए जायका। इतिहास का गौरव बढ़ाती इमारतें हैं तो देश का संसद भवन। लेकिन इसी के साथ ही आस्था में भी राजधानी दिल्ली का विशेष स्थान हैं जहां कई बड़े और प्रसिद्द मंदिर हैं। आज इस कड़ी में हम आपको दिल्ली के कुछ ऐसे प्रसिद्द मंदिरों की जानकारी देने जा रहे हैं जो अपने आध्यात्मिक माहौल, शांति प्रिय वातावरण, अद्भुद वास्तुकला और कारीगिरी के साथ ही मन की शांति के लिए जाने जाते हैं। दूर-दूर से देसी ई विदशी सैलानी इन मंदिरों के दर्शन करने पहुंचते हैं। तो आइये जानते हैं राजधानी दिल्ली के इन प्रसिद्द मंदिरों के बारे में...

temples of delhi,tourism,travel

अक्षरधाम मंदिर दिल्ली

अक्षरधाम मंदिर यमुना नदी के तट पर स्थित दिल्ली का प्रसिद्ध मंदिर है। बता दे अक्षरधाम मंदिर साल 2005 में खोला गया था, जो भगवान स्वामीनारायण को समर्पित है। इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि इस मंदिर ने दुनिया के सबसे बड़े व्यापक हिंदू मंदिर के रूप में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपनी जगह बनाई है। अक्षरधाम मंदिर की प्रमुख मूर्ति स्वामीनारायण जी की मूर्ति है और इनके साथ मंदिर परिसर में भारत के 20,000 दिव्य महापुरूषों की मूर्तियाँ भी स्थापित हैं। बताया जाता है कि 100 एकड़ की भूमि में फैले हुए इस प्रसिद्ध मंदिर का निर्माण जटिल नक्काशीदार संगमरमर और बलुआ पत्थर से करवाया गया है।

temples of delhi,tourism,travel

योगमाया मंदिर दिल्ली

दिल्ली के प्रमुख मंदिर में से एक योगमाया मंदिर दिल्ली के साथ साथ पूरे भारत का एक प्रसिद्ध मंदिर है जो कुतुब परिसर के करीब महरौली, नई दिल्ली में स्थित है। योगमाया मंदिर एक प्राचीन हिंदू मंदिर है जिसे जोगमाया मंदिर के रूप में भी जाना जाता है जो देवी योगमाया, कृष्ण की बहन को समर्पित है। बता दे यह मंदिर महाभारत काल के पांच जीवित मंदिरों में से एक माना जाता है। योगमाया मंदिर वास्तुकला, संस्कृति और आध्यामिकता से भरपूर है जो भारी संख्या में भक्तों और पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। आप जब भी यहाँ घूमने के लिए आयेंगें तो देवी के दर्शन के बाद मंदिर की अद्भुद वास्तुकला और कारीगरी को देख सकेगें और भक्ति रस में डूबे दिल्ली के पवित्र मंदिर में सुकून भरा समय बिता सकते है।

temples of delhi,tourism,travel

कमल मंदिर (लोटस टेंपल) दिल्ली

यूँ तो राजधानी दिल्ली में अनेक मंदिर हैं दिल्ली के नेहरू नगर में बहापुर गांव में स्थित कमल मंदिर एक अनोखा मंदिर हैं। क्योंकि यह मंदिर एक बहाई उपासना मंदिर है जहां न कोई भगवान की मूर्ति है और न ही किसी तरह की भगवान की पूजा अराधना की जाती है, यहां लोग आते हैं तो बस मन की शांति पाने। इस मंदिर का आकार कमल के समान होने से इसे कमल मंदिर नाम दिया गया है। यदि आप दिल्ली में घूमने के लिए किसी ऐसी जगह या मंदिर को सर्च कर रहे है जहाँ आप दुनिया की मोह माया से दूर खुद अपने साथ व्यतीत कर सकें तो इसके लिए दिल्ली का प्रसिद्ध कमल मंदिर आपके घूमने के लिए एक दम सही स्थान हैं। कमल मंदिर या लोटस टेंपल दिल्ली के सबसे अधिक घूमें जाने वाले मंदिर में से एक है जहाँ हर साल 4 मिलियन से भी अधिक लोग घूमने के लिए आते है जिसमें 10 हजार पर्यटक रोज यहां आते हैं।

temples of delhi,tourism,travel

इस्कॉन मंदिर दिल्ली

इस्कॉन मंदिर भगवान कृष्ण को समर्पित एक प्रसिद्ध मंदिर है जिसे “हरे राम हरे कृष्ण मंदिर” के रूप में भी जाना जाता है। आपको बता दें कि इस मंदिर स्थापना वर्ष 1998 में अच्युत कनविंडे द्वारा की गई थी और यह नई दिल्ली के कैलाश क्षेत्र के पूर्व में हरे कृष्णा हिल्स में स्थित है। इस्कॉन मंदिर एक बेहद आकर्षक संरचना है जो बाहर की तरफ से उत्कृष्ट स्टोन वर्क से बना हुआ है और इसके अंदर प्राचीन कलाकृति है। इस्कॉन मंदिर इस दिल्ली के सबसे बड़े मंदिर परिसरों में से एक है, जहां पर बड़ी संख्या में भक्त और पर्यटक आते हैं। आपको बता दें कि इस मंदिर के अनुयायी श्रील प्रभुपाद में विश्वास करते हैं। यह परिसर वैदिक विज्ञान सीखने के लिए भी एक प्रमुख केंद्र है जिसका अनुसरण न केवल भारत में बल्कि दूसरे अन्य देशों में भी किया जाता है।

temples of delhi,tourism,travel

काली बाड़ी मंदिर, दिल्ली

दिल्ली के प्रमुख मंदिर में शामिल काली बाड़ी मंदिर दिल्ली के सबसे पुराने काली मंदिरों में से एक है। काली बाड़ी मंदिर कनॉट प्लेस में लक्ष्मीनारायण मंदिर के बहुत करीब स्थित है। बता दे यह मंदिर बंगालियों के लिए मुख्य पूज्यनीय स्थल के रूप में कार्य करता है। मंदिर में होने वाली दुर्गा पूजा को बंगालियों द्वारा बहुत ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है साथ ही धार्मिक रूप से नियमित रीति-रिवाजों का पालन भी किया जाता है। आप जानकर अचंभित हो सकते है यहाँ 1936 के बाद से पूजा की रस्मों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

temples of delhi,tourism,travel

कालकाजी मंदिर दिल्ली

कालकाजी मंदिर दिल्ली में स्थित एक लोकप्रिय और अत्यधिक प्रतिष्ठित मंदिर है। कालकाजी मंदिर कालका देवी को समर्पित है, जो देवी शक्ति या दुर्गा के अवतारों में से एक हैं। मंदिर में स्थित देवी कालका की मूर्ति स्वयंभू बताई जाती है। दिल्ली के इस प्रसिद्ध मंदिर को जयंती पीठ मनोकामना सिद्ध पीठ के नाम से भी जाना जाता है जिसका अर्थ होता है कि देवी भक्तों की मनोकामना को पूरा करती हैं। भक्तो का यही अटूट विश्वास हर साल हजारों श्रद्धालुओं को कालका देवी के दर्शन करने आने के लिए प्रोत्साहित करता है। आपको बता दें कि कालका जी मंदिर अरावली पर्वतमाला के सूर्यकूट पर्वत पर स्थित है, इसीलिए माँ कालका देवी को ‘सूर्यकूट निवासिनी’ कहते हैं, जो सूर्यकूट में निवास करती हैं।

temples of delhi,tourism,travel

प्राचीन हनुमान मंदिर कनॉट प्लेस

दिल्ली के कनॉट प्लेस में स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर दिल्ली का एक और प्रसिद्ध मंदिर है जो स्थानीय लोगो के साथ साथ दूर दूर से आने वाले श्रद्धालुयों के लिए आस्था का केंद्र बना हुआ है। यह प्राचीन मंदिर महाभारत के समय में बनाए गए पांच मंदिरों में से एक माना जाता है। लेकिन मंदिर का जीर्णोद्धार करते हुए वर्तमान मंदिर का निर्माण 1724 में महाराजा जय सिंह द्वारा करबाया गया था। जैसा कि आप जानते होंगें हनुमान जी भगवान श्री राम के कितने बड़े भक्त थे इसी को ध्यान में रखते हुए मंदिर की मंदिर की छत को भगवान राम की छवियों से अलंकृत किया गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि श्री राम, जय, राम, जय राम के निरंतर जाप के लिए यह मंदिर गिनीज रिकॉर्ड रखता है। वैसे तो यह मंदिर सभी दिनों में खुला रहता है, लेकिन यहां मंगलवार और शनिवार को बड़ी संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ती है। यदि आप भीड़ भाड़ से दूर हनुमान जी के दर्शन करना चाहते है तो मंगलवार और शनिवार के दिन छोड़कर ही हनुमान मंदिर की यात्रा करें।

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com