बारिश के दिनों में बढ़ जाता है गठिया का दर्द, अपनाएं ये घरेलू उपचार, कम हो जाएगी परेशानी

By: Pinki Sat, 02 July 2022 3:28 PM

बारिश के दिनों में बढ़ जाता है गठिया का दर्द,  अपनाएं ये घरेलू उपचार, कम हो जाएगी परेशानी

आर्थराइटिस यानि जोड़ों का दर्द जिसे गठिया भी कहा जाता है। पहले आम तौर पर ये समस्या 50 वर्ष के ऊपर के लोगों को होती थी लेकिन अब कम उम्र के लोगों को भी ये समस्या हो रही है। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में जोड़ों में दर्द और इसके कारण सूजन बनी रहती है। लाइफस्टाइल और खान-पान में बदलाव होने के कारण हमारे शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है और यह बढ़ा हुआ स्तर जोड़ों में दर्द का बनता है। गठिया रोग वैसे तो कई प्रकार के होते हैं लेकिन दो प्रकार के अर्थराइटिस की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। ऑस्टियो अर्थराइटिस (Osteoarthritis) और रूमेटाइट अर्थराइटिस (Rheumatoid arthritis) से लोग ज्यादा पीड़ित होते हैं।अर्थराइटिस की बीमारी वंशानुगत तौर पर भी होती है, अगर परिवार में किसी को अर्थराइटिस है तो इसकी भावी पीढ़ी को भी होने की संभावना रहती है। अर्थराइटिस के कारण कोई भी हो मौसम के बदलने का इस पर काफी असर पड़ता है। बारिश के मौसम में यह परेशानी और बढ़ जाती है ऐसे में इसे कैसे नियंत्रित कर सकते हैं। आइए जानते हैं...

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

क्या है कारण?

जोड़ों में कार्टिलेज नाम का एक टिश्यू होता है जो हड्डियों के लिए कवर का काम करता है इसके नष्ट हो जाने के बाद हड्डियां रगड़ खाने लगती हैं और इससे दर्द होने लगता है। इसी बीमारी को गठिया कहते हैं। यह अनुवांशिक भी हो सकती है। इसके अलावा मोटापा और संक्रमण के कारण भी गठिया की बीमारी हो सकती है। पहले 50 वर्ष के बुजुर्गों को ही ये बीमारी होती थी पर आजकल ये युवाओं को भी हो रही है। इस बीमारी के मरीजों को चलने, उठने बैठने तक में काफी परेशानी आती है। हड्डियों के जोड़ों में यूरिक एसिड जमा हो जाने या फिर हड्डियों में कैल्शियम की कमी से भी जोड़ों में सूजन या अकड़न आ जाती है। इससे जोड़ों में गांठ जैसा महसूस होने लगता है। इस बीमारी में जोड़ों में मौजूद टिश्यू टूटकर गिरने लगते हैं इसी अवस्था को गठिया कहा जाता है।

गठिया के लक्षण

- इससे जल्दी थकान होने लगती है।
- पीड़ित व्यक्ति को बार-बार बुखार आता है।
- शरीर के कुछ हिस्सों में सूजन के साथ-साथ दर्द शुरू हो जाता है। सुबह के समय ये समस्या ज्यादा होती है जिससे चलने फिरने में दिक्कत होती है।
- जिस जोड़ में गठिया हुआ है वहां पर भारीपन का एहसास होता है।
- प्रभावित जगह लाल रंग की हो जाती है और शरीर का इम्यून सिस्टम भी खराब हो जाता है।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

गठिया का घरेलू इलाज

​लहसुन


शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से अर्थराइटिस या जोड़ो में दर्द की समस्या होती है। ऐसे में लहसुन की मदद से यूरिक एसिड को कम किया जा सकता है। लहसुन की 3-4 कलियों का रोज सुबह खाली पेट सेवन करना चाहिए। इसके स्वाद को थोड़ा बेहतर करने के लिए इसमें सेंधा नमक, हींग और जीरा आदि मिला सकते हैं। इसलिए अगर आप गठिया के मरीज हैं तो आपको नियमित तौर पर लहसुन खाना चाहिए।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

​अदरक

अदरक के सेवन से अर्थराइटिस रोग में होने वाली जोड़ों के दर्द और सूजन को कम किया जा सकता है। दरअसल, अदरक में एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लेमेटरी के गुण प्रचूर मात्रा में पाये जाते हैं। यह शरीर में से यूरिक एसिड को कम करता है। साथ ही अदरक का तेल जोड़ों पर लगाने से दर्द में राहत भी मिलती है।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

अजवाइन

अजवाइन में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसके नियमित सेवन से यूरिक एसिड की समस्या से निजात मिल है। अजवाइन को रातभर पानी में भिगोकर रखें और अगले दिन इस पानी का सेवन करने से गठिया के दर्द में राहत मिलती है।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

हल्दी

हल्दी में कई रोगों के उपचार की शक्ति मौजूद हैं। इसमें पाया जाने वाला करक्यूमिन एक प्राकृतिक दर्द निवारक है। आर्थराइटिस के दर्द से राहत पाने के लिए एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से राहत मिलती है। आप दो-तीन ग्रीम हल्दी को पानी में डालकर भी पी सकते है। हल्दी का तेल भी काफी फायदेमंद है। इसमें सूजन को बढ़ने से रोकने और फंगस को रोकने वाले गुण मौजूद है।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

मेथी

हड्डियों के सूजन व दर्द को कम करने में मैथी का सेवन फायदेमंद रहता है। दरअसल, मेथी को एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटी आर्थराइटिक का प्रमुख स्रोत माना गया है। इसमें सैचुरेटेड और अनसैचुरेटेड फैटी एसिड भी होता है। आप मैथी के दानों को पानी में उबाल लें। अब इस पानी को छान कर उसमें नींबू व शहद मिला दें और इसे दिन में 4 से 5 बार चाय की तरह पीएं। इसके अलावा आप मेथी के दानों को पीसकर पाउडर बनाकर इसे सूप में डाकर भी पी सकते हैं। इसके अलावा इसे भिगो कर अंकुरित कर स्प्राउट की तरह भी खा सकते हैं।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

आलू का रस

गठिया की बीमारी के लिए ये बेहद काम की चीज है आलू का रस। आलू के रस में कई प्रकार के मिनरल्स व कार्ब्निक मौजूद होते हैं जो शरीर में जमा होने वाले यूरिक एसिड को शरीर से बाहर निकाल देता है। ऐसा होने के बाद आर्थराइटिस की बीमारी में काफी आराम मिलता है। इसके लिए आलू को छीलकर बारीक टुकड़ों में काट लें इसके बाद इसे रातभर के लिए पानी में भिगो दें। सुबह उठकर आप इस पानी का खाली पेट में सेवन कर लें। इसके अलावा आप इस आलू और पानी को पीस कर भी इसे पी सकते हैं।

arthritis pain,arthritis pain home remedies,ghatia rog bhagane ke upay,home remedies to treat arthritis pain,health news,healthy living

मुलेठी

मुलेठी में कई प्रकार के एेसे तत्व पाए जाते हैं जो शरीर को सुरक्षा प्रदान करते हैं। मुलेठी में पाए जाने वाले तत्व गठिया से राहत दिलाने का भी काम करते हैं।

ये भी पढ़े :

# दही के फायदें ही नहीं नुकसान भी है, त्वचा पर रोजाना लगाने से हो सकती हैं ये परेशानियां

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com