Advertisement

  • कैलाश विजयवर्गीय के ‘बैटमेन’ बेटे के बहाने मायावती का PM मोदी पर निशाना, कहा - सुधार की कोई गारंटी नही

कैलाश विजयवर्गीय के ‘बैटमेन’ बेटे के बहाने मायावती का PM मोदी पर निशाना, कहा - सुधार की कोई गारंटी नही

By: Pinki Wed, 03 July 2019 1:33 PM

कैलाश विजयवर्गीय के ‘बैटमेन’ बेटे के बहाने मायावती का PM मोदी पर निशाना, कहा - सुधार की कोई गारंटी नही

कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय के बहाने विपक्ष को बीजेपी सरकार पर उँगलियाँ उठाने का एक और मौका मिल गया है। इसी कड़ी में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सख्त टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 'देश भर में हर स्तर पर सत्ताधारी पार्टी के लोगों द्वारा जिस प्रकार से कानून को खुलेआम हाथ में लेकर हर प्रकार की अराजकता फैलाई जा रही है वह लगातार गंभीर चिन्ता का विषय बना हुआ है। लेकिन बीजेपी नेतृत्व के यदाकदा फटकार से अबतक स्थिति में कोई सुधार नहीं आया है और न आगे कोई गारंटी है।' बता दे, कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम के एक अधिकारी को बैट से पीटने से नाराज पीएम मोदी ने दो टूक कहा कि इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं की जा सकती है।

kailsah vijaywargiya,akash vijaywargiya,pm narendra modi,up news,indore,uttar pradesh,news,news in hindi ,कैलाश विजयवर्गीय, आकाश विजयवर्गीय, मायावती,नरेन्द्र मोदी

पीएम मोदी ने लगाई फटकार

पीएम मोदी ने आकाश के पिता कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में कहा, 'ये क्या हो रहा है, जिसके मन में जो आ रहा है कर रहा है और फिर उसको समर्थन किया जा रहा है। किसी का बेटा हो, सांसद का बेटा हो या मंत्री का बेटा हो, ये कहा जा रहा है पहले निवेदन, फिर आवेदन फिर दनादन, कैसी भाषा है ये?' पीएम मोदी ने अब खुले मंच इस घटना पर नाराजगी जताते हुए कहा कि पार्टी के अंदर अंहकार, दुरव्यवहार और घंमंड की कोई जगह नहीं है। पीएम मोदी ने कहा है कि इस तरह की घटना कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऐसी घटनाएं तुरंत रोकी जानी चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि मैं इसलिए खून पसीना नहीं बहा रहा हूं। किसी का बेटा होने पर मनमानी करने की छूट नहीं है। उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसा व्यवहार हर्गिज बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा, 'क्या होगा अगर एक विधायक कम हो जाएगा? उस इकाई को भंग कर देना चाहिए जो स्वागत सत्कार कर रही है। ये अहंकार, ये घमंड, ये दुर्व्यवहार स्वीकार नहीं किया जा सकता है, अनुशासनहीनता बर्दास्त नहीं की जानी चाहिए।'

क्या है मामला

बता दें कि 26 जून को कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर के गंजी कम्पाउंड क्षेत्र में एक जर्जर भवन ढहाने गए नगर निगम के एक अधिकारी को बैट से पीट दिया था। आकाश विजयवर्गीय का कहना था कि मकान में रह रही महिलाओं को जबरन निकाला गया। इस घटना के बाद पुलिस ने इंदौर से विधायक आकाश को गिरफ्तार कर लिया था। आकाश 30 जून को जमानत मिलने के बाद जेल से रिहा हुए थे।

Tags :
|
|

Advertisement