Advertisement

  • भारत के एक्शन से उड़े पाकिस्तान के होश, तबाही का सच छुपाने में जुटी सेना और मीडिया

भारत के एक्शन से उड़े पाकिस्तान के होश, तबाही का सच छुपाने में जुटी सेना और मीडिया

By: Pinki Mon, 21 Oct 2019 10:42 AM

भारत के एक्शन से उड़े पाकिस्तान के होश, तबाही का सच छुपाने में जुटी सेना और मीडिया

कश्मीर (Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाने के बाद से पाकिस्तान लगातार सीमा पार से आतंकवादियों को भारत में घुसाने की कोशिश कर रहा है और सीमा पर पिछले एक हफ्ते से लगातार गोली बारी कर रहा है। हालाकि, उसकी हर कोशिश को भारतीय सेना द्वारा विफल की जा रही है। वही पाकिस्तान की गोलीबारी का कल भारतीय सेना ने जवाब दिया है और यह जवाब इतना करारा था कि पाकिस्तान के होश उड़ गए है। भारतीय सेना की तरफ़ से एक बयान जारी कर कहा गया है कि पाकिस्तान ने बिना कोई उकसावे के आम लोगों पर गोलीबारी की है। सेना के मुताबिक़ गुंडीशत गाँव और तंगधार में पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में एक व्यक्ति और तीन जवानों की मौत हुई है जबकि तीन लोग ज़ख़्मी हुए हैं। बयान में कहा गया है कि इस गोलीबारी में हवलदार पदम बहादुर श्रेष्ठ और राइफ़लमैन गामिल कुमार श्रेष्ठ की मौत हुई है। वहीं, 55 साल के मोहम्मद सादिक़ नामक एक आम नागरिक की भी मौत हुई है। इसके अलावा 70 साल के मोहम्मद मक़बूल, 50 साल के मोहम्मद शफ़ी और 22 साल के युसूफ़ हामिद ज़ख़्मी हुए हैं।

इसके जवाब में भारतीय सेना ने बदले की कार्रवाई करते हुए चरमपंथी ठिकानों को निशाना बनाया। भारत के थल सेना अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने मीडिया को बताया है कि इस कार्रवाई में पाकिस्तान के कम से कम 6 से 10 सैनिक मारे गए हैं। जबकि उनके तीन कैंप तबाह हो गए हैं। इस बीच पाकिस्तान की ओर से इस सच को छुपाने की कोशिश की जा रही है, जिसमें पाकिस्तानी सेना और मीडिया भी शामिल है। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने बताया है कि भारत के एक्शन में 5-6 पाकिस्तानी सेना के जवान मारे गए हैं। लेकिन पाकिस्तान मीडिया इस सच को छुपा रहा है और लगातार दावा कर रहा है कि पाकिस्तान के एक्शन में भारत की काफी तबाही हो रही है। पाकिस्तानी मीडिया कई भारतीय जवानों के मारे जाने की बात कर रहा है, जो कि सरासर गलत है।

भारत की इस कार्रवाई को पाकिस्तान पचा नहीं पा रहा है, PAK सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर रविवार से ही भारत के खिलाफ ट्वीट कर रहे हैं। आसिफ गफूर की ओर से लगातार दावा किया जा रहा है कि भारत जिन आतंकी कैंपों को तबाह करने की बात कर रहा है वह गलत है। उन्होंने लिखा है कि PoK में ऐसे कोई कैंप थे ही नहीं, इतना ही नहीं उन्होंने फिर विदेशी मीडिया को चेकिंग करने के लिए न्योता दिया है।

इतना ही नहीं पाकिस्तानी मीडिया की ओर से गलत तस्वीरें भी फैलाई जा रही हैं। 2014 में भारत में हुए नक्सल हमले की एक तस्वीर को पाकिस्तानी मीडिया रविवार की तस्वीर बता रहा है और कह रहा है कि पाकिस्तानी सेना के एक्शन में कई भारतीय जवान मारे गए हैं। हालांकि, पाकिस्तान के इन दावों का सोशल मीडिया ने ही भांडा फोड़ दिया था।

गौरतलब है कि इसी तरह की हरकत पाकिस्तान पहले भी कर चुका है, फिर चाहे वह सर्जिकल स्ट्राइक की बात हो या फिर एयरस्ट्राइक के समय की बात हो। हर बार पाकिस्तान ने सच मानने से इनकार किया है और दुनिया को अपना ही अलग प्रोपेगेंडा बेचा है।

Tags :
|
|
|

Advertisement