Advertisement

  • दिल्ली : बाढ़ का खतरा बढ़ा, यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर, कई इलाकों को कराया गया खाली

दिल्ली : बाढ़ का खतरा बढ़ा, यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर, कई इलाकों को कराया गया खाली

By: Pinki Tue, 20 Aug 2019 07:49 AM

दिल्ली : बाढ़ का खतरा बढ़ा, यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर, कई इलाकों को कराया गया खाली

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) और आसपास के इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। हरियाणा के हथनीकुंड बैराज से करीब नौ लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली में यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है। दिल्ली में यमुना का खतरे का स्तर 205.33 मीटर है। रविवार दोपहर दो बजे जलस्तर 205.14 मीटर पर था और शाम तक जलस्तर खतरे के निशान को पार करके 205.36 मीटर तक पहुंच गया और मंगलवार शाम चार बजे तक यमुना का जलस्तर 206.20 मीटर तक पहुंच सकता है। वहीं, यमुना के खतरे के निशान को छूने से पहले ही आसपास के इलाकों में खलबली मच गई है। आज शाम तक हथनीकुंड का पानी दिल्ली पहुचेगा। हालात को देखते हुए निचले इलाके के लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने को कहा गया है। बारिश होने के साथ-साथ हथिनीकुंड बैराज से पानी छोड़े जाने के कारण जलस्तर बढ़ रहा है और आज सुबह 10 बजे तक यमुना का जलस्तर 207 मीटर तक बढ़ सकता है, जिससे लोगों की जान और माल को खतरा हो सकता है।

# पब्लिक प्रोविडेंट फंड के जरिए कर सकते हैं टैक्स सेविंग, जानिए पीपीएफ (PPF) से जुड़ी पूरी जानकारी

# 18 रुपये में पाइए अनलिमिटेड डेटा और कॉलिंग, इस कंपनी ने पेश किया जबरदस्त प्लान

हथिनीकुंड बैराज में जलस्तर ने 6 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। रविवार को जलस्तर 8.28 लाख क्यूसेक तक पहुंच गया था। इससे पहले साल 2013 में जलस्तर 8 लाख क्यूसेक था। अभी तक हथिनीकुंज बैराज से यमुना में 8 लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा जा चुका है। दिल्ली की तरफ 40 साल बाद इतना पानी छोड़ा गया है।

दिल्ली सरकार ने 2,120 कैंप लगाए

दिल्ली सरकार के ऐलान के बाद लोग अपने जरूरी सामान लेकर आशियाने छोड़कर जा रहे हैं। इनकी मदद के लिए सरकार ने 2,120 कैंप लगाए हैं। सोमवार शाम तक खतरे का निशान पार करने की आशंका जताते हुए निचले इलाकों में रहने वाले लोगों से अनुरोध किया जा रहा है कि वे प्रशासन की ओर से बनाए गए अस्थायी आश्रय स्थलों में चले जाएं। नदी का जल स्तर बढ़ने के मुद्देनजर प्रशासन ने लोहे के पुल को बंद कर दिया है।

साथ ही यमुना ब्रिज से गुजरने वाली ट्रेनों को रोक दिया गया है। बताया जा रहा है कि दिल्ली में अगले दो दिन हालात बेहद मुश्किल हो सकते हैं, क्योंकि अगले दो दिन पानी का बहाव तेज होगा।

# चालान से बचने के लिए इस व्यक्ति ने निकाला अनोखा तरीका, पुलिस भी देखकर खुश

# मात्र 100 रुपये में शुरू करें ये स्कीम, मिलेगा बचत खाते से ज्यादा मुनाफा

वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि हरियाणा ने यमुना में पानी छोड़ने से पहले उनको खबर तक नहीं दी। हलांकि सियासत से इतर फिलहाल दिल्ली में बाढ़ से प्रभावित होने वाले लोगों की हर मुमकिन मदद की तैयारी की जा रही है। केजरीवाल ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अगले दो दिन महत्वपूर्ण हैं, लेकिन उनकी सरकार स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

दिल्ली के प्रभावित इलाकों में 30 बोट तैनात कर दी गई हैं। साथ ही किसी इमरजेंसी की हालत में मदद के लिए फोन नंबर भी जारी किए गए हैं। किसी प्रकार की मदद के लिए 011-22421656 और 011- 21210849 पर कॉल की जा सकती है।

# इन आसान तरीको को अपनाकर जोड़े अपने आधार को पैन कार्ड के साथ...

# आतंकी मसूद अजहर : एक प्रिंसिपल का बेटा कैसे बन बैठा इंसानियत के लिए बड़ा खतरा!

Tags :
|
|

Advertisement