Advertisement

  • बैंकिंग फ्रॉड केस: मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को ईडी ने किया गिरफ्तार, 354 करोड़ के घोटाले का आरोप

बैंकिंग फ्रॉड केस: मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को ईडी ने किया गिरफ्तार, 354 करोड़ के घोटाले का आरोप

By: Pinki Tue, 20 Aug 2019 08:48 AM

बैंकिंग फ्रॉड केस: मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को ईडी ने किया गिरफ्तार, 354 करोड़ के घोटाले का आरोप

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के भांजे रतुल पुरी को 354.51 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले के आरोप में मंगलवार सुबह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया है। पुरी मोजरबेयर के पूर्व कार्यकारी निदेशक भी रह चुके हैं। रतुल पुरी के खिलाफ शनिवार को सीबीआई ने केस दर्ज किया था। ये मामला सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 354.51 करोड़ रुपये की चपत लगाने से जुड़ा है। रतुल के अलावा एमबीआईएल के प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, कंपनी में पूर्णकालिक निदेशक उनकी पत्नी नीता पुरी, एमबीआईएल के पूर्व कार्यकारी निदेशक रतुल पुरी, निदेशक संजय जैन, विनीत शर्मा और अन्य अज्ञात सरकारी सेवकों और अन्य व्यक्तियों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक दुर्व्यव्यवहार और आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया गया था।

# मात्र 300 रुपये से कम में बिक रहा है आपका फेसबुक लॉगिन और पासवर्ड, ऐसे करें अपने अकाउंट को सुरक्षित

# पब्लिक प्रोविडेंट फंड के जरिए कर सकते हैं टैक्स सेविंग, जानिए पीपीएफ (PPF) से जुड़ी पूरी जानकारी

बता दें, नीता पुरी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की बहन हैं और रतुल पुरी कमलनाथ के भांजे हैं। वहीं, रतुल पुरी 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले की जांच के दायरे में भी हैं। लेकिन अब ईडी ने उन्हें बैंक घोटाला मामले में गिरफ्तार किया है। इससे पहले ईडी ने अदालत में ये बात भी कही थी रतुल पुरी अगस्ता वेस्टलैंड के मामले में जांच से बच रहे हैं। हालांकि पुरी ने अपने खिलाफ गैर जमानती वारंट रद्द करने के लिए कोर्ट में याचिका भी दायर की थी। प्रवर्तन निदेशालय का आरोप है कि रतुल पुरी की स्वामित्व वाली कंपनी से जुड़े खातों का उपयोग रिश्वत की रकम लेने के लिए किया गया। अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील 3,600 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का मामला है।

# एक छोटी बचत योजना, तेजी से पैसा होता है डबल, पूरी जानकारी के लिए पढ़े

# कौन था पुलवामा एनकाउंटर में मारा गया आतंकी अब्दुल रशीद गाजी!

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने 12 वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टरों की खरीद के लिए एंग्लो-इतालवी कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ करार किया गया था। यह करार साल 2010 में 3 हजार 600 करोड़ रुपये का था, लेकिन जनवरी 2014 में भारत सरकार ने इस करार को रद्द कर दिया था।

# क्या है 'आयुष्मान भारत योजना', घर बैठे इस तरह पता करें कैसे उठा सकते है इस योजना का लाभ

# मोदी सरकार के लिए करें ये काम और घर बैठे मिनटों में कमाये 25 हजार रुपये, जाने कैसे

Tags :
|

Advertisement