Advertisement

  • होम
  • रिलेशनशिप
  • पढ़ाई के लिए बेटी को भेज रहे है दूर, जरूर रखें इन बातों का ध्यान

पढ़ाई के लिए बेटी को भेज रहे है दूर, जरूर रखें इन बातों का ध्यान

By: Ankur Thu, 27 Sept 2018 4:51 PM

पढ़ाई के लिए बेटी को भेज रहे है दूर, जरूर रखें इन बातों का ध्यान

दुनिया के हर माँ-बाप की इच्छा होती है कि उनकी बेटी पढ़-लिखकर कामयाब बने और उनका नाम रोशन करें। इसलिए ही मात-पिता मन मारकर भी अपनी बेटियों को दूर पढने के लिए भेजते हैं। लेकिन आज के समय के माहौल को देखते हुए वे अपनी बेटी के लिए हमेशा फिक्रमंद रहते हैं। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स लेकर आए हैं जिनकी मदद से आप अपनी बेटियों को सुरक्षित और सहज महसूस करवा सकते हैं। तो आइये जानते हैं उन सावधानियों के बारे में जो माता-पिता को अपनी बेटी के लिए बरतनी चाहिए।

* मोबाइल भी जरूरी

कुछ मां- बाप की सोच है कि मोबाइल फोन से बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। वह पढ़ना- लिखना छोड़ देंगे और पूरा दिन सिर्फ मोबाइल फोन पर ही लगे रहेंगे लेकिन बेटियों के पास मोबाइल फोन होना जरूरी है। वह कहीं बाहर गई हो और घर वापसी में लेट हो जाए तो आपको फोन करके बता सकती हैं। इसके अलावा अगर कभी कोई मुसीबत आती है तब भी वह आपको फोन कर सकती हैं।

* मां-बाप नहीं दोस्त बने

बच्चों का दोस्त बनना बहुत जरूरी है अगर आप उनके साथ दोस्तों जैसा व्यवहार करेंगे तो वह खुल कर आप से हर बात शेयर कर पाएंगे। जब आपको उसके बारे में हर बात पता होगी तो आप अपनी बच्ची को परेशानियों से बचा सकते हैं।

daughter things,keep in mind,mobiles use,parents become friends,space important,friends check out ,बेटी को पढने भेजे, मोबाइल का उपयोग, माता-पिता का दोस्त होना, दुरिया भी जरूरी, उसके दोस्तों को जाने, बाप-बेटी का रिश्ता, रिलेशनशिप टिप्स

* थोड़ी दूरी भी बनाएं

बच्चों को स्पेस देना भी जरूरी है हर वक्त उनके पीछे परछाई की तरह लगने रहने से वह परेशान हो जाएगी। इससे आपका बच्चा धीरे- धीरे आप से दूर होता चला जाएगा और कभी आप पर भी भरोसा नहीं करेगा। खुद का भरोसा बच्चे पर बनाने के लिए कुछ समय उसे अकेले भी समय बिताने का मौका दें ताकि उन्हें पता चल सके कि क्या सही है और क्या गलत।

* दोस्तों की जानकारी

आपको उनके दोस्तों के बारे में पता होना जरूरी है वह पूरा दिन कौन से दोस्तों के साथ रहती है इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए। इस बात को सुनिश्चित करें की उसकी संगत अच्छी हो। अपने बच्चे ही नहीं बल्कि उनके दोस्तों से भी दोस्ती बनाएं।

* आत्मरक्षा के तरीके

बेटियों को आत्मरक्षा करने के लिए तरीके बताएं। आजकल तो बहुत से स्कूलों और कॉलजों में बच्चों को कराटे और बहुत-से ऐसे टिप्स बताए जाते है जिनसे वह अकेली होने पर अपनी रक्षा कर सके। लड़कियों को कभी भी कमजोर या अकेला महसूस न होने दें।

* अपनी राय न थोपें


बच्चों को अच्छी बुरी के बातों के बीच फर्क बताना जरूरी है लेकिन उन पर अपनी राय थोपना गलत है। जब आप उनकी हर बात पर अपनी राय थोपेंगे तो वह बहुत-सी बातों को आप छीपाएगी। जो उसके लिए बाद में परेशानियां खड़ी कर सकती हैं।

Tags :

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com

Error opening cache file