Advertisement

  • होम
  • हेल्थ
  • पुरुषों से कई ज्यादा है महिलाओं को सेक्स से जुड़ी बीमारियां, जानें इसकी वजह

पुरुषों से कई ज्यादा है महिलाओं को सेक्स से जुड़ी बीमारियां, जानें इसकी वजह

By: Ankur Mon, 13 Jan 2020 4:31 PM

पुरुषों से कई ज्यादा है महिलाओं को सेक्स से जुड़ी बीमारियां, जानें इसकी वजह

हर कोई अपने सेहत को लेकर सजग रहता हैं और इसके लिए वह अच्छा खानपान और व्यायाम की भी मदद लेता है। लेकिन इतना ही जरूरी नहीं आपकी अच्छी सेहत के लिए। जी हां, आप केवल आम बिमारियों से प्रति सजघ हो रहे है और सेक्शुअल हेल्थ की तरफ ध्यान भी नहीं दे रहे है। आपको जानकर हैरानी होगी कि सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन यानी सेक्स के दौरान सावधानियां न बरतने की वजह से सेक्स से जुड़ी बीमारियां बहुत बढ़ चुकी हैं और पुरुषों कि तुलना में महिलाओं की तादाद कई ज्यादा हैं।

BMC पब्लिक हेल्थ नाम के जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसंधानकर्ताओं की मानें तो पुरुषों की तुलना में महिलाओं की सेक्शुअल हेल्थ बेहद खराब स्थिति में है और यह महिलाओं को कई तरीके से प्रभावित भी करती है। यूके में हुई इस स्टडी में 16 से 74 साल के बीच के 12 हजार 132 महिलाओं और पुरुषों को शामिल किया गया था जिनमें से 48 प्रतिशत महिलाओं और सिर्फ 17 प्रतिशत पुरुषों ने अपनी सेक्शुअल हेल्थ के खराब होने की बात स्वीकारी। ये सभी लोग इंग्लैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स के थे।

Health tips,health tips in hindi,health research,sexual health research ,हेल्थ टिप्स, हेल्थ टिप्स हिंदी में, हेल्थ रिसर्च, सेक्सुअल हेल्थ रिसर्च

यूके की यूनिवर्सिटी ऑफ ग्लैसगो में इस स्टडी को किया गया और स्टडी के लीड ऑथर ऐलिसन पार्क्स कहते हैं, 'सेक्शुअल हेल्थ एक बड़ा टॉपिक है जिसके अंदर सेहत से जुड़ी कई समस्याएं और हेल्थ रिस्क शामिल हैं जैसे- सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन यानी STI, STD, अनचाही और अनप्लान्ड प्रेग्नेंसी, सेक्शुअल फंक्शन से जुड़ी दिक्कतें, सेक्स के दौरान की गई जबरदस्ती आदि।'

इस स्टडी के दौरान लोगों की सेक्शुअल हेल्थ को सोशियो-डेमोग्राफिक, हेल्थ और लाइफस्टाइल से जुड़े अभिलक्षणों के साथ-साथ इस बात से भी जोड़कर देखा गया कि कोई व्यक्ति अपनी सेक्स लाइफ से कितना संतुष्ट या कितना परेशान। इस दौरान अनुसंधानकर्ताओं ने 4 ग्रुप्स की पहचान की जो महिलाओं और पुरुषों दोनों में कॉमन था। पहला- अच्छी सेक्शुअल हेल्थ (83 प्रतिशत पुरुष और सिर्फ 52 प्रतिशत महिलाएं), दूसरा- होशियारी से रिस्क लेने वाले (4 प्रतिशत पुरुष, 2 प्रतिशत महिलाएं), तीसरा- बिना सावधानी के रिस्क लेने वाले (4 प्रतिशत पुरुष, 7 प्रतिशत महिलाएं), चौथा- सेक्शुअल फंक्शन से जुड़ी प्रॉब्लम (9 प्रतिशत पुरुष, 7 प्रतिशत महिलाएं)।

Tags :

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com

Error opening cache file