माउंट आबू : भक्तों के लिए खोला गया अंबाजी का मंदिर, दर्शन के लिए करवाना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

By: Ankur Tue, 01 Feb 2022 11:47:29

माउंट आबू : भक्तों के लिए खोला गया अंबाजी का मंदिर, दर्शन के लिए करवाना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

कोरोना गाइडलाइन के तहत लंबे समय से मंदिर बंद पड़े थे। इसमें माउंट आबू का अंबाजी मंदिर भी शामिल था। लेकिन मंगलवार से इस मंदिर को भक्तों के लिए खोल दिया गया हैं जिसके लिए भक्तों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। अंबाजी मंदिर की वेबसाइट जारी की गई है। जिस पर जाकर दर्शन स्लॉट बुक करा सकते हैं। उसी हिसाब से प्रवेश मिलेगा। प्रवेश के समय वैक्सीन के दोनों डोज का सर्टिफिकेट दिखाने पर ही प्रवेश मिलेगा। हर घंटे में सिर्फ 150 भक्ति दर्शन कर पाएंगे। साथ ही अंबाजी मंदिर सवेरे 7:30 से 11:30 बजे तक दोपहर 12:30 से शाम 4:15 बजे तक और शाम 7:00 बजे से 9:00 बजे तक ही खुला रहेगा।

अंबाजी मंदिर के महाराज भट्टजी ने बताया कि अंबाजी मंदिर सवेरे से भक्तों के लिए खोला गया है। कोविड-19 के चलते भक्तों को प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ेगा। एक घंटे में केवल 150 भक्त ही दर्शन कर पाएंगे। अंबाजी मंदिर में आने वाले सभी भक्तों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद मंदिर में आने की तिथि, नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस और कोविड वैक्सीन की दोनों डोज का सर्टिफिकेट देना होगा। कोरोना के चलते मंदिर 15 से 31 जनवरी तक बंद रखा गया था।

कोरोना गाइडलाइन की पालना के लिए मंदिर के अंदर और बाहर कर्मचारी लगाए गए हैं। मंदिर में आने वाले सभी भक्तों को सैनिटाइज करेंगे। मंदिर में कोई भी भक्त ज्यादा समय के लिए नहीं रुक सकता है। भीड़ नहीं हो इस वजह से मंदिर के अंदर भी कर्मचारी लगाए गए हैं। दर्शन करने के लिए आने वाले सभी भक्तों को मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंस का पालन करना अनिवार्य रहेगा। ज्यादा भीड़ नहीं हो इसलिए जगह-जगह रस्सी बांधी गई है।

ये भी पढ़े :

# उदयपुर : बाइक सवार पति-पत्नी को सड़क क्रॉस करते समय ऑडी ने मारी टक्कर, दोनों की मौत

# REET पेपर लीक में हो रहे खुलासे पर बोले सचिन पायलट, बड़े पदों तक मिले सख्त सजा

# छत्तीसगढ़ : संक्रमण दर में कमी के बावजूद बढ़े मौत के आंकड़े, 3241 नए संक्रमित जबकि 16 लोगों की हुई मौत

# इन बॉडी केयर टिप्स के बारे में शायद ही जानते होंगे आप, मिलेगी दमकती त्वचा

# उत्तरप्रदेश : मेडिकल कॉलेज के 12 छात्रों ने राष्ट्रपति से मांगी इच्छा मृत्यु, यूनिवर्सिटी को मान्यता नहीं मिलना बना कारण

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2023 lifeberrys.com