कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक लेकिन खतरनाक कितना? आइये जानें

By: Ankur Wed, 30 Dec 2020 2:59 PM

कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक लेकिन खतरनाक कितना? आइये जानें

पूरी दुनिया कोरोना के कहर से प्रभावित हैं और इससे होने वाले संक्रमितों का आंकड़ा 8 करोड़ 23 लाख से उपार जा चुका हैं। बात की जाए सबसे ज्यादा संक्रमितों की तो अमेरिका और भारत इसमें सबसे ऊपर हैं। अब ब्रिटेन में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन ने और चिंता बढ़ा दी हैं। कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक तो हैं लेकिन खतरनाक कितना हैं यह जानना भी जरूरी हैं। यह जानने के लिए ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने एक तुलनात्मक अध्ययन किया और रिपोर्ट तैयार की हैं।

अध्ययन के बाद वैज्ञानिकों ने यह कहा कि कोरोना के नए 'वैरिएंट' से होने वाली समस्याएं पहले की तुलना में ज्यादा गंभीर नहीं हैं। पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड द्वारा करवाए इस नए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने 1,700 से ज्यादा लोगों के बीच एक तुलनात्मक अध्ययन किया, जिनके कोरोना के नए 'स्ट्रेन' से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी।

health research,health research in hindi,corona research,coronavirus,coronavirus new strain ,हेल्थ रिसर्च, कोरोना रिसर्च, कोरोनावायरस, कोरोना का नया स्ट्रेन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट और पुराने वैरिएंट से संक्रमित लोगों के अस्पताल में भर्ती कराए जाने को लेकर कोई खास अंतर नहीं है। इसका मतलब ये है कि कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमित उतने ही लोगों को गंभीर लक्षणों का सामना करना पड़ा है जितने लोगों ने पहले किया था।

हालांकि, वैज्ञानिकों ने इस अध्ययन के बाद यह जरूर कहा है कि कोरोना का यह नया 'स्ट्रेन' तुलनात्मक रूप से ज्यादा तेजी से फैल सकता है, इसलिए संक्रमण के नए मामलों में तेज उछाल देखने को मिल सकता है। ब्रिटेन में तो टीकाकरण अभियान चलाए जाने के बावजूद कोरोना के नए मामलों में काफी उछाल देखने को मिल रहा है। मंगलवार को यहां संक्रमण के रिकॉर्ड 53 हजार से अधिक मामले सामने आए, जबकि 414 लोगों की मौत हो गई।

भारत में अबतक 20 लोग कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित पाए गए हैं। ये सभी लोग ब्रिटेन से लौटे हैं। उन्हें आइसोलेट कर दिया गया है। इसके अलावा अमेरिका मे भी नए स्ट्रेन की पुष्टि हुई है। कोलोराडो के गवर्नर जारेड पोलिस ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है कि ब्रिटेन में पाया गया कोरोना का वैरियंट यहां भी खोजा गया है। इसके अलावा वायरस का यह नया स्वरूप डेनमार्क, हॉलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में भी पाया गया है। इसके तेजी से फैलने की वजह से लोगों को ज्यादा सतर्क रहने और कोरोना से बचने के लिए अपनाए जा रहे नियमों का पालन करते रहने को कहा गया है।

ये भी पढ़े :

# कहीं आप तो नहीं करते योगा के दौरान ये गलतियां, फायदे की जगह होगा नुकसान

# सर्दियों में बनाए इन 5 आहार से दूरी, अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी

# महिलाओं को करना पड़ता हैं प्रेगनेंसी में इन 5 हैल्थ प्रॉब्लम्स का सामना, जानें बचाव के टिप्स

# स्टडी: रेस्टोरेंट-कैफे में खाना अभी भी जोखिम भरा, कोरोना फैलने का सबसे ज्यादा खतरा

# कहीं मोटापा तो नहीं कर रहा आपके फिगर को खराब, ये 5 ड्रिंक घटाएगी शरीर की चर्बी

Tags :

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com