Advertisement

  • लोमड़ी का यह काम बना रिकॉर्ड, जानकर सभी रह गए हैरान

लोमड़ी का यह काम बना रिकॉर्ड, जानकर सभी रह गए हैरान

By: Ankur Sat, 10 Aug 2019 07:45 AM

लोमड़ी का यह काम बना रिकॉर्ड, जानकर सभी रह गए हैरान

जब भी रिकार्ड्स की बात की जाती हैं तो जहन में इंसान ही आते है। लेकिन आज हम आपको जिस अनोखे रिकॉर्ड की बात बताने जा रहे हैं वह किसी इंसान ने नहीं बल्कि एक जानवर ने बनाया हैं। इस जानवर को नीले या तटीय लोमड़ी के रूप में भी जाना जाता हैं। लोमड़ी द्वारा बनाए गए रिकार्ड्स के बारे में जान वैज्ञानिक तक दंग रह गए और सोचने पर मजबूर हो गए। तो आइये जानते हैं लोमड़ी के इस रिकॉर्ड के बारे में।

# खूबसूरती की वजह से कटा महिला का चालान, घटना बेहद चौकाने वाली

# मुम्बई : 1.7 करोड़ की उल्टी बेचने निकला था शख्स, पुलिस ने किया गिरफ्तार

fox,fox records,weird record,shocked information ,लोमड़ी, लोमड़ी का रिकार्ड, अनोखा रिकॉर्ड, हैरान करने वाली जानकारी

जानकारी के मुताबिक़, एक लोमड़ी द्वारा चार महीने में एक अविश्वसनीय दूरी को पूरा कर वैज्ञानिकों को चौंका दिया गया है और इस जानवर को तटीय या नीले लोमड़ी के रूप में भी जाना जाता है, इसने नॉर्वे के स्वालबार्ड द्वीपसमूह के सबसे बड़े द्वीप, स्पिट्सबर्गेन से 2,700 मील की दूरी तय की है, जो कि कनाडा के नुनावुत में एलेस्मेरे द्वीप पर मौजूद है। बता दें कि यह किसी प्रजाति द्वारा तय की गई सबसे लंबी यात्राओं में से एक मानी जा रही है।

# क्या आप जानते हैं हवाई जहाज का माइलेज, आइये हम बताते हैं एक लीटर में चलता है कितना

# आम के पत्तों से बनी शराब, जो डायबिटीज के साथ-साथ आपके फैट भी घटाएगी

शोधकर्ताओं की माने तो नॉर्वेजियन पोलर इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं द्वारा पहली बार 2017 में एक ट्रैकिंग कॉलर के साथ लोमड़ी को 'आर्कटिक लोमड़ियों के स्थानिक पारिस्थितिकी' के बारे में चल रहे अध्ययन के हिस्से के रूप में प्रकृति में छोड़ दिया गया था। जहां महीनों तक लोमड़ी पश्चिमी स्पिट्सबर्गेन के समुद्र तट के किनारे ही रही। वहीं पहली बार बर्फ से ढके समुद्र को खोजने के बाद, लोमड़ी द्वारा स्पिट्सबरगेन को छोड़ दिया गया और21 दिन में लगभग 939 मील की यात्रा करने के बाद, वह 16 अप्रैल, 2018 को ग्रीनलैंड पहुंची थी। बता दें कि इस कारनाम से वैज्ञानिक भी हैरत में पड़ गए हैं।

# आखिर शराब की बोतल क्यों रखी जाती हैं हरे और भूरे रंग की, जानें इसके पीछे का राज

# अंतिम संस्कार की ये परम्पराएं रूह कंपा देने वाली, कर देती है सोचने पर मजबूर

Tags :
|

Advertisement