Advertisement

  • होम
  • न्यूज़
  • मुलायम सिंह की तबीयत में सुधार, देर रात अस्पताल से मिली छुट्टी

मुलायम सिंह की तबीयत में सुधार, देर रात अस्पताल से मिली छुट्टी

By: Pinki Mon, 10 June 2019 08:43 AM

मुलायम सिंह की तबीयत में सुधार, देर रात अस्पताल से मिली छुट्टी

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) को रविवार रात अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) को हाई शुगर की समस्या होने की वजह से रविवार शाम को तकरीबन साढ़े चार बजे लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया है। लोहिया अस्पताल के डॉ। भुवन चंद्र तिवारी की देखरेख में मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) का इलाज चल रहा था। दवा चलने के बाद हालत में सुधार था। जिसके बाद देर रात करीब दो बजे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। इस दौरान शिवपाल सिंह यादव भी नेताजी का हालचाल जानने अस्पताल पहुंचे।

सपा संरक्षक मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) का इलाज कर रहे डॉ भुवन चन्द्र तिवारी ने बताया कि मुलायम सिंह (Mulayam Singh Yadav) को हाई शुगर की समस्या से चलते भर्ती किया गया था। उन्हें हाइपर ग्लाइसीमिया (हाईपर टेंशन) और हाइपर डायबिटीज की समस्या भी है। उन्हें लोहिया इंस्टिट्यूट के सेकेंड फ्लोर पर प्राइवेट वार्ड में भर्ती किया गया था, फिलहाल उनकी रिपोर्ट सही आने पर उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इस दौरान उनके साथ बहू डिंपल यादव अपने बेटे-बेटी के साथ दिखाई दीं। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले भी मुलायम सिंह अस्पताल में भर्ती हुए थे। तब उनका हाल जानने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे थे। सोशल मीडिया पर दोनों की मुलाकात की फोटो भी वायरल हुई थी।

लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे अखिलेश यादव और भाई शिवपाल यादव के बीच रिश्तों को बहाल करने के लिए नए सिरे से प्रयास तेज कर दिए हैं। मुलायम सिंह यादव की दोनों नेताओं के साथ दिल्ली और सैफई में बैठकें हुई हैं।

अखिलेश को लेकर ये बोले शिवपाल


गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के साथ ही ये अटकलें तेज हो गईं थीं कि जल्द ही मुलायम अपने भाई शिवपाल को सपा में वापस लाएंगे। लेकिन शनिवार को ही शिवपाल यादव ने साफ शब्दों में कह दिया कि अब हमारा फोकस पार्टी के विस्तार पर है। इसके लिए जल्द ही पार्टी से जुड़े वरिष्ठ नेताओं और पदाधिकारियों की एक बैठक होनी है।

Tags :
|

Advertisement

Error opening cache file