Advertisement

  • इन 5 देशों में नहीं एक भी एयरपोर्ट, जानें कैसे किया जाता हैं सफ़र

इन 5 देशों में नहीं एक भी एयरपोर्ट, जानें कैसे किया जाता हैं सफ़र

By: Ankur Mon, 23 Mar 2020 10:51 AM

इन 5 देशों में नहीं एक भी एयरपोर्ट, जानें कैसे किया जाता हैं सफ़र

इस दुनिया में कई देश हैं जो कि अपनी खूबसूरती के लिए जाने जाते हैं और जहां हर समय सैलानियों का जमावड़ा लगा रहता हैं। इसके लिए लोग हवाईयात्रा ही करना पसंद करते हैं। लेकिन जरा सोचिए कि किसी देश में एयरपोर्ट ही ना हो तो। जी हां, आज हम आपको कुछ ऐसे देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां एक भी एयरपोर्ट नहीं है। तो आइये जानते हैं कैसे किया जाता हैं यहां सफ़र।

अंडोरा

यूरोप का छठा सबसे छोटा और दुनिया का 16वां सबसे छोटा देश है अंडोरा, जो करीब 468 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। इस देश की जनसंख्या 85,000 के आसपास है। इस देश में एक भी एयरपोर्ट नहीं हैं, लेकिन इनके पास तीन प्राइवेट हैलीपैड जरूर हैं। यहां से सबसे करीबी एयरपोर्ट स्पेन में है, जो इस देश से लगभग 12 किलोमीटर दूर है। हालांकि इसके बावजूद यहां हर साल लाखों की संख्या में लोग घूमने के लिए आते हैं।

tourist places,without airport countries,foreign places ,पर्यटन स्थल, विदेशी स्थल, बिना एयरपोर्ट के देश

मोनाको

यह पश्चिमी यूरोप का एक छोटा सा देश है, जिसे दुनिया का दूसरा सबसे छोटा देश माना जाता है। यह फ्रांस और इटली के बीच स्थित है। आपको जानकर हैरानी होगी यहां दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा प्रतिव्यक्ति करोड़पति हैं, लेकिन इसके बावजूद यह भी हैरान करने वाली बात है कि इस देश में एक भी एयरपोर्ट नहीं है। यहां का नजदीकी एयरपोर्ट फ्रांस में है।

लिस्टेंस्टीन

यह भी यूरोप का ही एक देश है, जो ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड के बीच में स्थित है। महज 160 वर्ग किलोमीटर में फैले इस देश में ज्यादातर लोग जर्मन भाषा बोलते हैं। लिस्टेंस्टीन को एक प्राचीन देश के तौर पर जाना जाता है, क्योंकि यहां पाषाण युग से लोगों के निवास करने के प्रमाण मिले हैं। इसके अलावा यह देश इसलिए भी जाना जाता है, क्योंकि यहां एक भी एयरपोर्ट नहीं है, लेकिन यहां पर एक हेलीपोर्ट जरूर है। यहां से नजदीकी एयरपोर्ट स्विट्जरलैंड का ज्यूरिख हवाईअड्डा है।

tourist places,without airport countries,foreign places ,पर्यटन स्थल, विदेशी स्थल, बिना एयरपोर्ट के देश

वेटिकन सिटी

यह दुनिया का सबसे छोटा देश है। यह ईसाई धर्म के प्रमुख संप्रदाय रोमन कैथोलिक चर्च का केंद्र है और इस संप्रदाय के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप का निवास स्थान यही है। यहां भी कोई एयरपोर्ट नहीं है। दरअसल, यह देश ही इतना छोटा है कि यहां एयरपोर्ट बनाने की जगह ही नहीं है। यहां का नजदीकी एयरपोर्ट रोम में है।

सैन मैरिनो

यह भी यूरोप में ही स्थित एक देश है। इसे यूरोप का सबसे पुराना गणराज्य भी माना जाता है। साथ ही यह दुनिया के सबसे छोटे देशों में से एक है। इस देश में भी फिलहाल कोई एयरपोर्ट मौजूद नहीं है, लेकिन यहां एक हेलीपोर्ट और एक छोटा सा एयरफील्ड जरूर है। यहां से नजदीकी एयरपोर्ट इटली में है।

Tags :

Advertisement