Advertisement

  • महिलाओं पर बना रहता है इन 5 तरह के कैंसर का खतरा, जानें लक्षण और बरते सावधानी

महिलाओं पर बना रहता है इन 5 तरह के कैंसर का खतरा, जानें लक्षण और बरते सावधानी

By: Ankur Mon, 01 Oct 2018 4:32 PM

महिलाओं पर बना रहता है इन 5 तरह के कैंसर का खतरा, जानें लक्षण और बरते सावधानी

आज के समय की बिगडती जीवनशैली ने कई बीमारियों से परेशान करके रखा हैं। खासतौर पर महिलाओं को कैंसर का खतरा तो बना ही रहता हैं। ऐसे में इन कैंसर के लक्षणों को जानना बहुत जरूरी हैं, ताकि इनका सही समय पर उपचार किया जा सकें। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं महिलाओं में होने वाले कैंसर और उनके लक्षणों के बारे में, ताकि आपका शरीर स्वस्थ बना रहें।

* ब्रेस्ट कैंसर

आज के समय में महिलाएं कम उम्र में ही ब्रेस्ट कैंसर का शिकार हो रही हैं। यह स्तन में असामान्य कोशिकाओं के म्युटेशन बढ़ने से होता है। ये कोशिकाएं मिलकर पहले एक ट्यूमर बनाती हैं। ब्रेस्ट कैंसर होने पर निप्पल का धंसा हुआ होना, स्तन पर गुठलिया बनना, त्वचा का लाल होना, बगल में गांठ पड़ना, स्तन के कुछ हिस्से में सूजन या निप्पल्स से खून निकलना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, जो पीरियड्स के बाद भी बने रहते हैं।

* सर्वाइकल (ग्रीवा) कैंसर

एक रिपोर्ट के मुताबिक, सर्वाइकल कैंसर के कारण हर साल करीब 63,000 महिलाओं की मौत हो जाती है। यह कैंसर गर्भाशय ग्रीवा से शुरू होता है, जो धीरे-धीरे शरीर के दूसरे हिस्सों में फैलता है। सर्वाइकल कैंसर में उस समय तक लक्षण नहीं दिखते, जब तक यह बढ़ी हुई अवस्था में न पहुंच जाए। मगर फिर भी कई बार सर्वाइकल कैंसर में संबंध बनाने के बाद योनि से रक्त स्राव, पीरियड साइकल के बीच में खून दिखना, सामान्य से ज्यादा पीरियड होना, असामान्य डिस्चार्ज और पेट के निचले हिस्से में दर्द रहने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

# सारा अली खान को है यह बीमारी, हर 10 में से 1 लड़की को होती है, बढ़ सकता है वजन

# खतरनाक डेंगू बनती जा रही है महामारी, इन तरीकों से करें अपना बचाव

Health tips,women,women at risk these cancers,5 types of cancers,cancer sympotoms ,हेल्थ टिप्स, महिलाए, महिलाओ को कैंसर, 5 प्रकार के कैंसर, कैंसर के लक्षण

* कोलोरेक्टल कैंसर

महिलाओं में होने वाला यह तीसरा सबसे खतरनाक कैंसर है, जो बड़ी आंत को प्रभावित करता है। इसमें डायरिया या कब्ज समेत पेट का व्यवहार बदलना, या मल में बदलाव (जो चार हफ्ते से ज्यादा रहे) जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। इसके अलावा कोलोरेक्टल कैंसर के दौरान मल से खून आना, पेट में दर्द रहना, वजन का घटना, कमजोरी और थकान जैसी समस्याए भी होने लगती है।

* ओवेरियन (अंडाशय) कैंसर

वैसे तो यह कैंसर 55- 65 साल की उम्र में अधिक होता है लेकिन आजकल महिलाओं को यह कैंसर कम उम्र में हो जाती है। ज्यादा महिलाओं को यह कैंसर जेनेटिक प्रॉब्लम के कारण होता है। पेट के निचले हिस्से में दर्द, अपच, बार- बार पेशाब आना, भूख न लगना, पेट के व्यवहार में परिवर्तन, पेट में सूजन और पेट का फूलना इस कैंसर के प्रमुख लक्षण हैं।

* मुंह का कैंसर


तंबाकू या शराब के ज्यादा सेवन से होने वाला यह कैंसर महिलाओं और पुरूषों में सामान्य रूप से होता है। इस कैंसर के लक्षण हैं मुंह में लाल या सफेद निशान, गांठ बनना या होंठों या मसूड़ों की खराबी। कई बार मुंह का कैंसर होने पर सांस की बदबू, दांतों का कमजोर होना और वजन का कम होना जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।

# सप्ताह के सातों दिनों करें इन जूस का सेवन, मिलेगी रोगप्रतिरोधक क्षमता को मजबूती

# मिर्गी का दौरा बन सकता है जानलेवा, राहत पाने के लिए अपनाए ये 5 घरेलू उपचार

Tags :
|

Advertisement