Advertisement

  • कई कोशिशों के बाद भी गर्भधारण में आ रही है समस्या, इन घरेलू उपायों की मदद से पूरी होगी आपकी चाहत

कई कोशिशों के बाद भी गर्भधारण में आ रही है समस्या, इन घरेलू उपायों की मदद से पूरी होगी आपकी चाहत

By: Ankur Thu, 07 Feb 2019 11:49 AM

कई कोशिशों के बाद भी गर्भधारण में आ रही है समस्या, इन घरेलू उपायों की मदद से पूरी होगी आपकी चाहत

हर औरत की चाहत होती है कि वह एक दिन माँ बने और अपने बच्चे को खूब प्यार करें। लेकिन वर्तमान समय के गलत खानपान और कुछ गलतियों के कारण महिलाओं में गर्भधारण ना होने की समस्या बहुत ज्यादा होने लगी है। इस समस्या से निजात पाने के लिए महिलाऐं दवाइयों का सहारा लेती है। ऐसे में जरूरी है कि दवाइयों के साथ घरेलू इलाज भी किये जाए। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे घरेलू इलाज लेकर आए है जिनकी मदद से महिलाओं के बांझपन की समस्या दूर होगी और जल्द ही गर्भधारण होगा।

* गर्भवती होने के लिए सिर्फ सहवास करना जरुरी नहीं होता बल्कि सही समय पर सहवास करना जरुरी होता है। महिला का शरीर ऐसा नहीं होता जो कभी भी गर्भवती हो सके। उसका एक निश्चित समय होता है, एक छोटी सी अवधि होती है। आप उस अवधि को पहचानें और उस समय सहवास करें।

* नीलकमल का चूर्ण और धाय (धातकी) के पुष्पों का चूर्ण समभाग मिलाकर ऋतुकाल प्रारम्भ होने के दिन से 4 दिनों तक नियमित रूप से एक चम्मच चूर्ण शहद के साथ सेवन करने से गर्भधारण होता है।

* एक चम्मच असगंधा का चूर्ण, एक चम्मच देशी घी के साथ मिलाकर मिश्री मिले हुए दूध के साथ मासिक धर्म के छठे दिन से पुरे माह पीने से बंध्यापन दूर होकर गर्भधारण होता है। यह प्रयोग सुबह खाली पेट प्रयोग करना चाहिए और जब तक लाभ ना हो तब तक दोहराते रहना चाहिए।

# दांतों की झंझनाहट रोक रही है आइसक्रीम खाने से, इन घरेलू नुस्खों से पाएँगे आराम

# सारा अली खान को है यह बीमारी, हर 10 में से 1 लड़की को होती है, बढ़ सकता है वजन

home remedies,home remedies for pregnancy,Health tips ,घरेलू इलाज, गर्भधारण का इलाज, बांझपन का इलाज, हेल्थ टिप्स

* शीघ्र गर्भधारण करने के लिए आप 3 ग्राम गोरोचन, 10 ग्राम अश्वगंधा और 10 ग्राम गजपिपरी लें और उन्हें सुखाकर पिस लें। आप इस चूर्ण को मासिक धर्म के चौथे दिन से लगातार 5 दिन तक दूध के साथ सेवन करें। जल्द ही आपको गर्भधारण का आभास होगा।

* मासिक धर्म के खत्म होने के बाद आप सेमर की जड़ को 250 ग्राम पानी में मिलाकर पकायें और फिर इसे छानकर इक्कठा कर लें। इस उपाय को आप 4 दिन तक अपनायें।

* पीपल के सूखे फलों का चूर्ण आधे चम्मच की मात्रा में कच्चे दूध के साथ मासिक धर्म शुरू होने के पांचवें दिन से दो हफ्ते तक सुबह शाम प्रयोग करने से गर्भधारण होता है। लाभ नहीं होने से अगले महीने भी इसको जारी रखें।

* अपने गर्भाशय की शुद्धि के लिए आप 4 ग्राम त्रिफलाधृत को रोज सुबह शाम ग्रहण करें। इससे महिला का गर्भाशय गर्भधारण के लिए तैयार होता है।

* अगर कोई स्त्री बांझपन के कारण माँ नही बन पा रही है तो उन्हें 40 ग्राम गुलकंद के साथ 20 ग्राम सौंफ मिलकर चबानी चाहियें। आप इसे चबाने के बाद एक गिलास दूध भी जरुर पियें। इससे न सिर्फ आपको बांझपन से मुक्ति मिलेगी बल्कि जल्द ही आप गर्भ को भी धारण करोगी।

# भूलकर भी नजरअंदाज ना करें लो ब्लड शुगर के ये 6 संकेत, बन सकते है खतरे की घंटी

# इन 5 लोगों के लिए बादाम किसी जहर से कम नहीं, जानें और स्वास्थ्य का ध्यान रखें

Tags :

Advertisement