Advertisement

  • भंसाली 'पद्मावत' : सुचित्रा कृष्णमूर्ति के बाद स्वरा भास्कर के पत्र पर रोहित शेट्टी ने बोली इतनी बड़ी बात

भंसाली 'पद्मावत' : सुचित्रा कृष्णमूर्ति के बाद स्वरा भास्कर के पत्र पर रोहित शेट्टी ने बोली इतनी बड़ी बात

By: Pinki Mon, 29 Jan 2018 4:50 PM

भंसाली 'पद्मावत' : सुचित्रा कृष्णमूर्ति के बाद स्वरा भास्कर के पत्र पर रोहित शेट्टी ने बोली इतनी बड़ी बात

फिल्म निर्देशक रोहित शेट्टी ने कहा है कि भगवान के लिए फिल्म 'पद्मावत' को सांस लेने दीजिए।

संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' को देखने के बाद अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने फिल्म में सती और जौहर जैसे रिवाजों के महिमामंडन की निंदा करते हुए भंसाली को एक खुला पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने कहा कि फिल्म देखकर उन्हें लगा कि महिलाएं मात्र योनि तक ही सीमित हैं।

वहीं जानी मानी अभिनेत्री एक्ट्रेस सुचित्रा कृष्णमूर्ति ने स्वरा को उनके इस लेटर का जवाब दिया। सुचित्रा ने ट्वीट कर लिखा, ‘फनी..जो एक्ट्रेस डांसर...वैश्या का किरदार निभा चुकी हो वह ये फिल्म देखने के बाद खुद को वजाइना मात्र महसूस कर रही हैं। क्या स्टैंडर्ड है ये…।'

सुचित्रा कृष्णमूर्ति के बाद रविवार को रेडियो मिर्ची पुरस्कार समारोह में स्वरा भास्कर के इस पत्र पर प्रतिक्रिया जताते हुए रोहित ने कहा, "मैं हर किसी से प्रार्थना करता हूं कि बहुत सारी समस्याओं और संघर्षो के बाद 'पद्मावत' रिलीज हुई है, कृपया इसे शांति से चलने दीजिए।"

bollywood,sanjay leela bhansali,swara bhaskar,rohit shetty,padmavati,padmaavat ,बॉलीवुड,संजय लीला भंसाली,पद्मावती,पद्मावत,स्वरा भास्कर,रोहित शेट्टी

उन्होंने कहा, "यह हमारी फिल्म है इसलिए अगर मैं कुछ कहता हूं या कोई और कहता है तो इससे फिल्म के लिए और अधिक परेशानी पैदा होगी।"

उन्होंने कहा, "फिल्म रिलीज हो गई है और दर्शकों को इसे देखने दीजिए। फिल्म से जुड़े सभी सदस्यों विशेष रूप से संजय लीला (भंसाली), दीपिका पदुकोण, रणवीर सिंह और टीवी 18 को बहुत परेशानियां झेलनी पड़ीं, लेकिन अब फिल्म बहुत बढ़िया व्यवसाय कर रही है। कृपया उनकी फिल्म को शांति से चलने दीजिए।"

रोहित ने आगे कहा, "अब अगर हम कुछ कह और समस्या पैदा करें तो इसका क्या औचित्य है। भगवान के लिए फिल्म को सांस लेने दीजिए।"

वहीं, फिल्मकार इम्तियाज अली ने भी भंसाली को लिखे स्वरा के खुले पत्र पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा, "मैंने स्वरा का पत्र नहीं पढ़ा है लेकिन मुझे उसके बारे में पता है। पद्मावत में कुछ भी ऐसा नहीं है जिसके लिए किसी भी विरोध की आवश्यकता हो, यह केवल अपने-अपने नजरिए की बात है।"

Tags :

Advertisement