इटली : हजारों पक्षियों के लिए जानलेवा साबित हुआ नए साल का जश्न, रोम की सड़कों पर बिखरी लाशें

By: Ankur Sun, 03 Jan 2021 11:37 AM

इटली : हजारों पक्षियों के लिए जानलेवा साबित हुआ नए साल का जश्न, रोम की सड़कों पर बिखरी लाशें

कोरोना के चलते इस बार नए साल के सेलेब्रेशन और आतिशबाजी पर सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी सख्ती थी। लेकिन कई लोगों ने इसका पालन नहीं किया। इटली में इसका दुष्परिणाम देखने को मिला जहां नए साल का जश्न और इस दौरान की गई आतिशबाजी हजारों पक्षियों के लिए जानलेवा साबित हुई। शुक्रवार रात लोगों ने भीषण आवाज और भारी मात्रा में बारूदी आतिशबाजी की, जिसकी चपेट में आए पक्षियों की लाशें रोम की सड़कों पर बिखर गईं।

इस घटना की कई तस्वीरें और वीडियो पक्षी प्रेमियों द्वारा सोशल मीडिया पर अपलोड कर गुस्सा जताया जा रहा है। कुछ वीडियो में हजारों की संख्या में घबरा कर उड़ते हुए पक्षी नजर आ रहे हैं। वे थोड़ी देर बाद जमीन पर गिरकर दम तोड़ते दिखे।

सरकार ने शुरुआत में इसकी वजह नहीं बताई गई, लेकिन यहां सक्रिय जीव संरक्षण अंतरराष्ट्रीय संगठन (ओआईपीएम) ने इसके पीछे आतिशबाजी को कारण बताया।

संगठन की प्रवक्ता लोरेदाना डिजलियो के अनुसार आतिशबाजी की तेज आवाज से यह पक्षी डर गए। अपने घोसलों से निकल आए। आवाज से घबराकर उड़ते समय वे तेज गति से उड़ने पर बिजली के तारों या इमारतों से टकराए और गिर कर मर गए। इन पक्षियों की मौत में घबराहट से आए हार्ट अटैक की आशंका भी जताई गई है।

रोम में प्राइवेट तौर पर आतिशबाजी पर रोक है। खासतौर से वायरस महामारी के चलते रात 10 बजे बाद कर्फ्यू लगता है। फिर भी आतिशबाजी हुई। ओआईपीए ने पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है।

ये भी पढ़े :

# भगौड़े जाकिर नाईक ने किया पाकिस्तान में मंदिर तोड़े जाने का समर्थन, उगला जहर

# 24 घंटे में झारखंड में कोरोना से 4 लोगों की मौत; 151 नए मरीज मिले

# कैलिफोर्निया : कोरोना का ऐसा प्रकोप कि अंत्येष्टि स्थलों पर लगा लाशों का ढ़ेर, नहीं बची अब जगह

# पहाड़ों पर बर्फबारी का सिलसिला जारी, दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई इलाकों में तेज बारिश

# CoWIN App: Corona Vaccine लगवाने के लिए ऐसे करें रजिस्टर, पूरा प्रोसेस

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi
|
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com