Advertisement

  • इस स्कूल में फीस के तौर पर ली जाती हैं बेकार प्लास्टिक की बोतलें, कारण ला देगा चहरे पर मुस्कान

इस स्कूल में फीस के तौर पर ली जाती हैं बेकार प्लास्टिक की बोतलें, कारण ला देगा चहरे पर मुस्कान

By: Ankur Sat, 22 June 2019 06:42 AM

इस स्कूल में फीस के तौर पर ली जाती हैं बेकार प्लास्टिक की बोतलें, कारण ला देगा चहरे पर मुस्कान

हर बच्चा अपने बचपन के दिनों में स्कूल जाना पसंद करता हैं और यह उसका हक भी हैं। हर पेरेंट्स की चाहत भी होती हैं कि बच्चों को स्कूल भेजा जाए और उन्हें शिक्षित किया जाए। हांलाकि कभीकभार आर्थिक तंगी के चलते कुछ पेरेंट्स बच्चों को स्कूल नहीं भेज पाते हैं क्योंकि वे स्कूल की फीस नहीं दे पाते हैं। ऐसे में आज हम आपको ऐसे स्कूल के बारे में बताने जा रहे हैं जो पढ़ाने के लिए फीस नहीं बल्कि बेकार प्लास्टिक की बोतलें लेता हैं। हम बात कर रहे हैं नाइजीरिया के लागोस में स्थित एक स्कूल के बारे में।

weird school,nigeria school,morit international school,wastage plastic bottles as school fees ,अनोखी स्कूल, नाइजीरिया स्कूल, मॉरिट इंटरनेशनल स्कूल, फीस की जगह बेकार प्लास्टिक बोतल

इस स्कूल का नाम बताया जा रहा है मॉरिट इंटरनेशनल स्कूल। जानकारी के लिए बता दें कि इस स्कूल में ऐसा करने की दो वजह बताई जा रही है जिसमें पहला तो पर्यावरण को साफ रखना है वही दूसरा कारण पारिवारिक स्थिति को मजबूत करना बताया जा रहा है। वही इस बारे में स्कूल प्रशासन का कहना है कि हमने बच्चों के पेरेन्टस से स्कूल में फीस देने की बजाय बेकार रखी बोतलों को बच्चों के साथ स्कूल भेजने को कहा है, वही इनसे जो भी राशि प्राप्त होगी उसे बच्चों की स्कूल फीस से लैस कर दिया जाएगा इसलिए आप जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके बोतले भेजे।

weird school,nigeria school,morit international school,wastage plastic bottles as school fees ,अनोखी स्कूल, नाइजीरिया स्कूल, मॉरिट इंटरनेशनल स्कूल, फीस की जगह बेकार प्लास्टिक बोतल

इस बारे मे एक बच्चे के पिता शेरिफत ओंकुवो का कहना है कि आज के युग में बच्चों की फीस भरना कोई आसान काम नही है लेकिन स्कूल प्रशासन द्वारा जब से ये स्कीम शुरू की गई है तभी से हमारे बच्चों को पढ़ाना काफी आसान हो गया है क्योंकि इस योजना के कारण हमारे बच्चों को स्कूल नहीं छोड़ना पडेगा। यह योजना अफ्रीकन क्लीन अप इनिशिएटिव और वीसाइक्लर्स संस्थाओं के सहयो्ग से इस स्कूल में प्रारंभ ​की गई थी।

Tags :

Advertisement