• होम
  • अजब गजब
  • व्यक्ति ने सिर्फ 8 दिन में कर डाला टोल फ्री नंबर पर 24 हजार बार कॉल, हुआ गिरफ्तार

व्यक्ति ने सिर्फ 8 दिन में कर डाला टोल फ्री नंबर पर 24 हजार बार कॉल, हुआ गिरफ्तार

By: Ankur Fri, 06 Dec 2019 09:59 AM

व्यक्ति ने सिर्फ 8 दिन में कर डाला टोल फ्री नंबर पर 24 हजार बार कॉल, हुआ गिरफ्तार

अक्सर आपने ऐसे कई लोगों को देखा होगा जो अपना टाइम पास करने के लिए टोल फ्री नंबर पर फोन लगाकर कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव को परेशान करते नजर आते हैं। लेकिन आपने देखा होगा कि वो 1 या 2 बार फोन मिलाकर रूक जाते होंगे। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने पूरे 24 हजार बार टोल फ्री नंबर पर कॉल कर डाला। यह काम एक 71 साल के बुजुर्ग ने किया हैं। इस जापानी पेंशनर को पुलिस ने कंपनी अनुबंध का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

weird news,weird incident,japan news,toll free number,customer care ,अनोखी खबर, अनोखा मामला, जापान की खबर, टोल फ्री नंबर, कस्टमर केयर

पुलिस ने बताया कि आकातोशी आकामोतो ने पब्लिक पे फोन्स से देश की बड़ी टेलिफोन कंपनी के कस्टमर केयर को आठ दिन में 24 हजार बार फोन किए। इस दौरान उसने कस्टमर केयर प्रतिनिधि से बेहद खराब व्यवहार किया और उनके साथ बेहूदा तरीके से बातचीत की। कंपनी ने कुछ वक्त तक शिकायत सुनने के बाद कई बार इन शिकायती कॉल्स को नजरअंदाज करने की कोशिश भी की, लेकिन जब कॉल्स बहुत ज्यादा हो गए तो कंपनी ने ओकामोतो के खिलाफ सख्त कदम उठाने का फैसला किया। टेलिकॉम कंपनी का कहना है कि बार-बार कॉल्स किए जाने से कॉल सेंटर के कर्मचारियों को काम करने में काफी दिक्कतें आ रही थीं। वे दूसरे ग्राहक से बात नहीं कर पा रहे थे।

जब कंपनी को कोई और रास्ता नहीं सूझा तो उन्होंने पुलिस में शिकायत में दर्ज करवाई। ओकामोतो पर कंपनी के बिजनेस में बाधा डालने के आरोप है। जापान के कानून के मुताबिक, किसी के कारोबार में व्यवसाय में बाधा पैदा करना हस्तक्षेप के रूप में परिभाषित किया जाता है। जापान में बुजुर्गों की आबादी ज्यादा है, जिससे कई तरह की सामाजिक समस्याएं देखी जा रही हैं। बुजुर्गों की वजह से सड़क हादसों में तेजी आई है। इसके अलावा, रेलवे ऑपरेटर ने भी बुजुर्ग यात्रियों द्वारा हिंसा की शिकायत की है।

Tags :

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com