Advertisement

  • IL&FS घोटाला : ED दफ्तर में राज ठाकरे, MNS के विरोध के बाद दफ्तर के बाहर धारा 144 लागू

IL&FS घोटाला : ED दफ्तर में राज ठाकरे, MNS के विरोध के बाद दफ्तर के बाहर धारा 144 लागू

By: Pinki Thu, 22 Aug 2019 1:22 PM

IL&FS घोटाला : ED दफ्तर में राज ठाकरे, MNS के विरोध के बाद दफ्तर के बाहर धारा 144 लागू

कोहिनूर इमारत मामले में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पूछताछ कर रही है। राज ठाकरे अपने बेटे अमित और बेटी उर्वशी के साथ ईडी के दफ्तर पहुंचे थे। ऑफिस में अधिकारी राज के साथ घंटेभर से ज्यादा समय से पूछताछ कर रहे हैं। फिलहाल ईडी के दफ्तर के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। यहां धारा 144 लगा दी गई है। कोहिनूर सीटीएनएल इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में IL&FS द्वारा 450 करोड़ रूपये की इक्विटी निवेश और ऋण से जुड़ी कथित अनियमियतताओं की जांच के सिलसिले में ईडी ने राज ठाकरे को नोटिस जारी किया है।

ईडी ने रविवार को राज ठाकरे और उनके पूर्व कारोबारी सहयोगी रहे पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना नेता मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी के साथ ही एक अन्य कारोबारी सहयोगी को नोटिस जारी किया था। इस नोटिस के बाद राजनीतिक हलकों में खलबली मच गई थी।

राज ठाकरे की पेशी से पहले आज मुंबई पुलिस ने ऐहितिहातन तौर पर मनसे के बड़े पदाधिकारियों को हिरासत में लिया है। मनसे कार्यकर्ताओ का आरोप है कि रात भर घर के बाहर पुलिस खड़े रही और फोन करती रही। यह मानसिक प्रताड़ना है। बताया जा रहा है कि ईडी ऑफिस के आस पास चारों तरफ पुलिस की बैरिकेटिंग की गई है। मनसे के विरोध को देखते हुए मुंबई के हर बड़े चौराहे और प्रमुख सड़कों पर पुलिस मौजूद है। किसी विपरित परिस्थिती के लिए पुलिस तैनात है। हेलमेट, लाठी कवर के साथ सिपाही सड़कों पर मौजूद हैं।

# 4 लाख 59 हजार रुपए में नीलाम हुआ महात्मा गांधी द्वारा लिखा गया बिना तिथि वाला एक पत्र

# ट्रैफिक पुलिस ने दी गाड़ी सीज और चालान काटने की धमकी, कार सवार को आया हार्ट अटैक, मौत

समन पर कार्यकर्ता ने की खुदकुशी

इससे पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) के नेताओं के राज ठाकरे के आवास पहुंचने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। मनसे नेता बाला नंदगांवकर राज ठाकरे के आवास पहुंच गए हैं। एमएनएस नेता संदीप देशपांडे को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इस दौरान संदीप देशपांडे ने दावा किया कि उन्हें कार्रवाई के बारे में सूचना नहीं दी गई थी।

उधर, राज ठाकरे को समन दिए जाने से क्षुब्ध पार्टी के एक युवा कार्यकर्ता ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या कर ली। राज ठाकरे ने मंगलवार को ही सभी समर्थकों और कार्यकर्ताओं से व्यक्तिगत अपील की थी और कहा था कि वह हर कीमत पर शांत रहें।

मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के भेजे गए सम्मन का सम्मान करेंगे। इस दौरान उन्होंने अपने समर्थकों से शांत रहने की अपील भी की। इस मुद्दे पर अपनी पहली प्रतिक्रिया में ठाकरे ने सभी मनसे कार्यकर्ताओं को संबोधित करने वाले हस्ताक्षरित बयान में कहा कि मार्च-2006 में पार्टी की स्थापना के बाद से उनके और कार्यकर्ताओं के खिलाफ अनगिनत मामले दर्ज किए गए हैं।

# मोदी सरकार के लिए करें ये काम और घर बैठे मिनटों में कमाये 25 हजार रुपये, जाने कैसे

# मोदी सरकार दे रही है सुनहरा मौका, इस तरह घर बैठे जीते 1 लाख रुपये

उद्धव ठाकरे समर्थन में उतरे

नोटिस के बाद राज के चचेरे भाई और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे उनके समर्थन में उतर आए। ईडी ने एक मामले की जांच के सिलसिले में राज ठाकरे को समन जारी करते हुए गुरुवार को पेश होने को कहा। उद्धव ने अपने आवास पर मीडियाकर्मियों से यह कहते हुए अपना परोक्ष समर्थन जाहिर किया कि ईडी की ओर से उनसे (राज ठाकरे से) पूछताछ में कुछ भी नहीं निकलेगा। उद्धव ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि ईडी की उनसे (राज ठाकरे) कल की जाने वाली पूछताछ से कोई नतीजा निकलेगा।'

बता दे, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी, राज ठाकरे और राज के करीबी सहयोगी और बिल्डर राजन शिरोडकर ने बंद हो गई कोहिनूर मिल की भूमि खरीदने और उसे (भूमि को) विकिसत करने के लिए इस कंपनी की स्थापना की थी। राज कथित तौर पर 2008 में इस कंपनी से बाहर निकल गये थे। उन्मेश से 19 अगस्त से ईडी के मुंबई कार्यालय में पूछताछ हो रही है।

# कैसे बन रहा है रेलवे की कैंटीन में आपके लिए खाना, देखे घर बैठे इस तरह

# चालान से बचने के लिए इस व्यक्ति ने निकाला अनोखा तरीका, पुलिस भी देखकर खुश

Tags :
|
|

Advertisement