Advertisement

  • हिमाचल में बारिश का कहर, 22 की मौत, उफान पर नदी-नाले, मनाली-कुल्लू हाईवे क्षतिग्रस्त, स्कूल-कॉलेज बंद

हिमाचल में बारिश का कहर, 22 की मौत, उफान पर नदी-नाले, मनाली-कुल्लू हाईवे क्षतिग्रस्त, स्कूल-कॉलेज बंद

By: Pinki Mon, 19 Aug 2019 08:40 AM

हिमाचल में बारिश का कहर, 22 की मौत, उफान पर नदी-नाले, मनाली-कुल्लू हाईवे क्षतिग्रस्त, स्कूल-कॉलेज बंद

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में जोरदार बारिश (Heavy Rain) के बाद नदी-नाले उफान पर हैं। भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में रविवार को तीन बच्चों सहित 22 लोगों की मौत हो गई और नौ अन्य लोग घायल हो गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि 9 लोगों की मौत शिमला में जबकि सोलन में 5 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा कुल्लू, सिरमौर, और चंबा में 2-2 व्यक्तियों की और उना तथा लाहौल-स्पीति जिलों में 1-1 व्यक्ति की मौत हो गई है। पिछले कई घंटों से हो रही बारिश के चलते मनाली और कुल्लू के बीच नेशनल हाईवे-3 आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया। इसके अलावा कालका-शिमला नेशनल हाईवे-22 पर पहाड़ दरकने का सिलसिला अभी-भी जारी है। रविवार को सोलन के जाबली में पहाड़ का एक बड़ा हिस्सा उस समय दरककर हाईवे पर आ गिरा, जब हाईवे पर गाड़ियों की आवाजाही चल रही थी।

# एक छोटा सा निवेश और जिंदगीभर मिलेगा आपको पैसा, यह है LIC की बेस्ट पॉलिसी

# पब्लिक प्रोविडेंट फंड के जरिए कर सकते हैं टैक्स सेविंग, जानिए पीपीएफ (PPF) से जुड़ी पूरी जानकारी

शिमला में भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि रविवार को हुई बारिश बीते 70 सालों में 24 घंटे के दौरान दर्ज की गई सबसे ज्यादा बारिश है। एक अधिकारी ने कहा कि लगातार बारिश की वजह भूस्खलन, सड़कों के संपर्क मार्ग के कटने से सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं। बारिश की वजह से बिजली परियोजनाओं को बंद करना पड़ा और बांध का पानी छोड़ना पड़ा। आईएमडी ने कहा कि पूरे राज्य में 102.5 मिलीमीटर बारिश हुई है और यह एक दिन की सामान्य बारिश से 1,065 से ज्यादा है। इसमें कहा गया कि सभी जिलों में पर्याप्त बारिश हुई है। सबसे ज्यादा बारिश बिलासपुर जिले में 252 मिलीमीटर दर्ज की गई है, जो सामान्य से 2586 फीसदी ज्यादा है। शिमला, सिरमौर, मंडी, कांगड़ा और कुल्लू जिलों के अंदरूनी इलाकों में संपर्क मार्ग को बंद किए जाने की रिपोर्ट है, जिससे यातायात बाधित हुआ है।

# लगभग 3 करोड़ रुपये में नीलाम हुआ एप्पल का ये कंप्यूटर, जाने क्या है इसमें खास

# क्या है 'आयुष्मान भारत योजना', घर बैठे इस तरह पता करें कैसे उठा सकते है इस योजना का लाभ

उफनती ब्यास नदी के किनारे बड़े पैमाने पर हुए भूस्खलनों के कारण मंडी और कुल्लू शहरों के बीच चंडीगढ़-मनाली राजमार्ग पर यातायात बाधित हो गया है। मंडी-जोगिंदरनगर राजमार्ग को भी यातायात के लिए बंद किया गया है। राज्यभर में 68 सड़कों पर यातायात बाधित है और चंबा जिले में सबसे अधिक 47 सड़कें बाधित हैं। बाढ़ के कारण कुल्लू शहर के पास एक पुल बह गया।

हिमाचल प्रदेश के शिमला और कुल्लू जिले में सभी शैक्षिक संस्थान सोमवार को भी बंद रहेंगे। हिमाचल प्रदेश की राजधानी में भारी बारिश की वजह से यह कदम उठाया गया है। जिला प्रशासन ने यह जानकारी दी। शिमला और चंबा जिला प्रशासन की ओर से रविवार को जारी एक पन्ने के आदेश में सभी स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों, आईटीआई, पॉलीटेक्निक और आंगनवाड़ी केंद्रों को फिलहाल बंद रखने के लिए कहा गया है। शिमला के उपायुक्त सह जिला मजिस्ट्रेट अमित कश्यप ने कहा, भारी बारिश, सड़कों के क्षतिग्रस्त होने व उनके बाधित होने को देखते हुए छात्रों की सुरक्षा के मद्देनजर शिमला जिले के सभी शैक्षणिक संस्थानों को 19 अगस्त तक बंद रखने का आदेश देना जरूरी हो गया था।

# मोदी सरकार दे रही है सुनहरा मौका, इस तरह घर बैठे जीते 1 लाख रुपये

# अब ATM से निकाले पैसा बिना डेबिट कार्ड के, SBI दे रही है आपको यह सुविधा, जानकारी के लिए पढ़े

Tags :
|

Advertisement