• होम
  • न्यूज़
  • मंदिर निर्माण शिलान्यास को लेकर बिहार के इस गांव में दो दिन से हो रहे हवन-यज्ञ, भगवान राम से है अनोखा रिश्ता

मंदिर निर्माण शिलान्यास को लेकर बिहार के इस गांव में दो दिन से हो रहे हवन-यज्ञ, भगवान राम से है अनोखा रिश्ता

By: Pinki Tue, 04 Aug 2020 6:52 PM

मंदिर निर्माण शिलान्यास को लेकर बिहार के इस गांव में दो दिन से हो रहे हवन-यज्ञ, भगवान राम से है अनोखा रिश्ता

अयोध्या में करीब 500 साल बाद फिर से राम मंदिर बनने जा रहा है। इसके लिए अयोध्या में कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भगवान राम के मंदिर का भूमि पूजन करेंगे। भूमि पूजन से पहले अयोध्या में दिवाली जैसा माहौल है। घर-घर में गीत गाए जा रहे हैं। दीए जलाए जा रहे हैं। पता चला है कि भूमि पूजन के दिन अयोध्या में 55 हजार किलो के देशी घी से बने बेसन के 14 लाख लड्डू बांटने की तैयारी चल रही है। जहां एक तरफ अयोध्या में मंदिर के भूमि पूजन को लेकर जोरदार तैयारी चल रही है वहीं, दूसरी तरफ बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के एक गांव में राम मंदिर निर्माण शिलान्यास को लेकर हवन-यज्ञ और दीपोत्सव मनाया जा रहा है। दरअसल, इस जिले का नाम भगवान राम के उपनाम वाला है। इस गांव का नाम पुरुषोत्तमपुर है और यह गांव शहर के कच्चे-पक्के इलाके से पांच किलोमीटर दूर है। पुरुषोत्तमपुर गांव के लोगों ने 1990 के दशक में देश में हुए राम मंदिर आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। गांव के कई लोगों ने कारसेवकों की भूमिका निभाई थी। बुधवार पांच अगस्त को राम जन्मभूमि पूजन महोत्सव अयोध्या में होने वाला है, इसे देखते हुए भगवान राम के उपनाम वाले इस गांव के लोगों ने पूजा-पाठ और उत्सव मनाना शुरू कर दिया है।

bihar,muzaffarpur,ayodhya ram mandir,purushottam village,news ,भगवान राम,अयोध्या राम मंदिर,बिहार

गांव में पिछले दो दिन से पूजा-पाठ का विशेष आयोजन हो रहा है। यहां के गणेश मंदिर और दूसरे भगवान और भगवती के मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया गया है। घर-घर में भी हवन और यज्ञ किया जा रहा है। इस पवित्र काम में सभी उम्र के लोग उत्साहपूर्वक भाग ले रहे हैं। इसके अलावा गांव में दो दिन से दीपोत्सव कार्यक्रम भी मनाया जा रहा है।

पुरुषोत्तमपुर गांव में सावन के पूर्णिमा यानी सोमवार के दिन से यह आयोजन शुरू हुआ है। हवन यज्ञ के साथ संध्या में ग्रामीण अपने घरों में दीया जला कर दीपोत्सव मना रहे हैं। ग्रामीणों ने गांव के मंदिर जा कर दीया जलाना भी शुरू किया है। सोमवार से शुरू हुए पूजा-पाठ, हवन-यज्ञ और दीपोत्सव का काम बुधवार की शाम तक होगा। इसके अलावा गांव में रामनवमी की तरह उत्सव मनाने की भी तैयारी चल रही है। बुधवार को गांव में विशेष पूजा अर्चना की जाएगी। ग्रामीणों में अयोध्या में जल्द होने वाले राम मंदिर निर्माण की शुरुआत को लेकर काफी उत्साह है। इसके अलावा गांव के युवा सोमवार से राम नाम का जाप कर रहे हैं। गांव के अलग-अलग मंदिरों में यह जाप किया जा रहा है। हर घर में हवन के अलावा राम नाम जाप किया जा रहा है। गांव के किशोर से लेकर युवा, महिला और वृद्ध भी राम नाम का जाप कर रहे हैं। चारों तरफ राम नाम का गुंजायमान हो रहा है। अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर को पवित्र और धार्मिक अनुष्ठान वाला कार्य बताते हुए ग्रामीण इसे ऐतिहासिक क्षण बता रहे हैं।

बता दे, करीब पांच हजार की आबादी वाले पुरुषोत्तमपुर गांव के अधिकांश लोग भगवान राम से सीधा जुड़ाव महसूस करते हैं। इस ऐतिहासिक क्षण में गांव के घर-घर में चल रहे धार्मिक अनुष्ठान से रामनवमी जैसा माहौल बन गया है। ग्रामीणों को इस बात का आभास है कि भगवान राम के उपनाम वाला उनका यह पुरुषोत्तमपुर गांव श्रीराम से सीधा जुड़ा हुआ है।

गांव में अन्य मंदिरों के अलावा यहां भगवान राम के एक मंदिर की भी आधारशिला रखी गई है। इसे ग्रामीण आपसी सहयोग से भव्य और आकर्षक बनाने की इच्छा रखते हैं।

ये भी पढ़े :

# मंदिर निर्माण को लेकर शिवसेना ने कहा - भगवान राम के आशीर्वाद से खत्म हो जाएगा कोरोना संकट

# तस्वीरों में देखें कितना भव्य होगा अयोध्या में भगवान श्री राम का मंदिर

# राम मंदिर भूमि पूजन : स्वामी रामदेव ने कहा - कार्यक्रम में शामिल होना मेरा सौभाग्य

# राम मंदिर भूमि पूजन / यूपी के दोनों डिप्टी CM का हुआ कोरोना टेस्ट, ये रही रिपोर्ट

# अयोध्या नहीं गए मनोज तिवारी, बोले- राम मंदिर पर राजनीति खत्म होनी चाहिए

# जाने क्यों की गई भगवान राम की मूछों वाली मूर्ति की मांग?

# 5100 कलश-रामधुन में मग्न अयोध्या, एक नज़र डालिए बुधवार को राम नगरी में क्या-क्या खास होने वाला है

# अयोध्या में अनुष्ठान, प्रियंका बोलीं- भूमि पूजन कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता और बंधुत्व का अवसर बने

# अयोध्या / भूमिपूजन से पहले ट्विटर पर भगवा वस्त्र में नजर आए एमपी के पूर्व CM कमलनाथ

Tags :
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com