• होम
  • हेल्थ
  • देसी कोरोना वैक्सीन को मिली बड़ी कामयाबी, विकसित हो रही रोग प्रतिरोधक क्षमता

देसी कोरोना वैक्सीन को मिली बड़ी कामयाबी, विकसित हो रही रोग प्रतिरोधक क्षमता

By: Ankur Sat, 12 Sept 2020 12:46 PM

देसी कोरोना वैक्सीन को मिली बड़ी कामयाबी, विकसित हो रही रोग प्रतिरोधक क्षमता

देश में कोरोना के रिकॉर्ड आंकड़े आ रहे हैं जो चिंता बढ़ाने वाले हैं। बीते दिन 96 हजार 760 नए मरीज के चलते अब देश में संक्रमितों की संख्या 46 लाख 57 हजार से ऊपर हो चुकी हैं। मौत का आंकड़ा भी बढ़ते हुए 77 हजार को पार कर गया हैं। ऐसे में कोरोना वैक्सीन की कितनी जरूरत हैं आंकड़े देखते ही पता चलता हैं। दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन पर काम जारी हैं। इस बीच देश में कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर सामने आई हैं जिसमें हैदराबाद की भारत बायोटेक कंपनी की कोरोना वैक्सीन COVAXIN का ट्रायल सफल रहा है।

Health tips,health tips in hindi,health research,corona research,coronavirus,bharat biotech,covaxin,indian corona vaccine ,हेल्थ टिप्स, हेल्थ टिप्स हिंदी में, हेल्थ रिसर्च, कोरोना रिसर्च, कोरोनावायरस, भारत बायोटेक, भारतीय कोरोना वैक्सीन

कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि बंदरों के चार समूहों पर वैक्सीन का ट्रायल किया गया। इस दौरान SARS-CoV-2 वैक्सीन के दो डोज दिए गए और उनकी निगरानी की गई। एक समूह की प्लेसबो के साथ देखरेख की गई जबकि तीन समूहों को 14 दिनों में 3 अलग-अलग वैक्सीन दी गईं। 14 दिनों के बाद इन्हें वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई। वैक्सीन की वजह से इन पर ट्रायल के दौरान कोरोना वायरस बेअसर रहा। रिजल्ट देखने पर पता चला कि जिन बंदरों को वैक्सीन दी गई थी उनमें प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो गई थी। जिन समूहों को वैक्सीन दी गई थी उनके हिस्टोपैथोलॉजिकल टेस्ट में निमोनिया का कोई सबूत नहीं देखा गया। कुल मिलाकर इस वैक्सीन को वायरस से निपटने में कारगर पाया गया।

कोरोना के स्‍ट्रेन से ही बनी है यह वैक्‍सीन

ICMR-भारत बायोटेक की Covaxin एक 'इनऐक्टिवेटेड' वैक्‍सीन है। यह उन कोरोना वायरस के पार्टिकल्‍स से बनी है जिन्‍हें मार दिया गया था ताकि वे इन्फेक्‍ट न कर पाएं। कोविड का यह स्ट्रेन पुणे की NIV लैब में आइसोलेट किया गया था। इसकी डोज से शरीर में वायरस के खिलाफ ऐंटीबॉडीज बनती हैं।

Health tips,health tips in hindi,health research,corona research,coronavirus,bharat biotech,covaxin,indian corona vaccine ,हेल्थ टिप्स, हेल्थ टिप्स हिंदी में, हेल्थ रिसर्च, कोरोना रिसर्च, कोरोनावायरस, भारत बायोटेक, भारतीय कोरोना वैक्सीन

15 जुलाई से शुरू हुआ था ट्रायल

भारत में बनी पहली कोरोना वैक्‍सीन Covaxin का फेज 1 ट्रायल 15 जुलाई 2020 से शुरू हुआ था। देशभर में 17 लोकेशंस पर फेज 1 ट्रायल हुए। Covaxin ट्रायल की सारी डिटेल्‍स ICMR को भेजी जाएंगी। वहीं पर डेटा को एनलाइज किया जा रहा है।

फेज 2 ट्रायल की हो गई शुरुआत

दिल्‍ली स्थित एम्‍स में कोवैक्सिन का फेज 2 ट्रायल शुरू हो गया है। रेवाड़ी के गावं खरखड़ा निवासी प्रकाश यादव को वैक्‍सीन की पहली डोज दी गई। उन्‍हें 0.5ml की डोज देने के बाद दो घंटे तक ऑब्‍जर्वेशन में रखा गया। डॉक्‍टर अगले 7 दिन तक उनके टच में रहेंगे। 28 दिन बाद प्रकाश को दूसरी डोज दी जाएगी।

ये भी पढ़े :

# जच्चा-बच्चा की अच्छी सेहत के लिए ऐसा हो गर्भवती महिलाओं का आहार

# कहीं पछताने का कारण ना बन जाए ये 5 बुरी आदतें, करती हैं धीमे जहर का काम

# ब्लड ग्रुप से भी है मच्छरों के काटने का कनेक्शन, जानें कौन लोग होते हैं ज्यादा परेशान

# WHO ने वीडियो जारी कर बताया, मास्क पहनते समय ना करें ये गलतियां

# जल्द खुलने जा रहे देश में स्कूल, कोरोना संकट में शिक्षक और छात्र इस तरह रहें सुरक्षित

Tags :

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com