Advertisement

  • 5000 साल से इन दो गांवों के लोग आपस में नहीं करते शादी, कारण चौकाने वाला

5000 साल से इन दो गांवों के लोग आपस में नहीं करते शादी, कारण चौकाने वाला

By: Ankur Sat, 16 Nov 2019 10:08 AM

5000 साल से इन दो गांवों के लोग आपस में नहीं करते शादी, कारण चौकाने वाला

हमारे देश भारत को रीती-रिवाजों का देश माना जाता हैं जिसमें कई रिवाज तो पौराणिक समय से चले आ रहे हैं। ऐसा ही एक रिवाज हैं जिसे देश के दो गांव पीछले 5000 साल से निभा रहे हैं। इन दोनों गांव के नाम हैं नंदगांव और बरसाना जो कि भगवान कृष्ण के काफी करीब रहे हैं। इन दोनों ही गांवों के लोग कभी आपस में वैवाहिक संबंध नहीं जोड़ते। यह अनोखी परंपरा करीब पांच हजार साल से चली आ रही है। लेकिन फिर भी इन दोनों ही गांवों के लोग आपस में ससुराल की रस्म निभाते हैं। नंदगांव के युवा मानते हैं कि बरसाना उनका ससुराल है।

weird news,weird rituals,ritual of marriage,nandgaon and barasana ,अनोखी खबर, अनोखे रिवाज, शादी एक रिवाज, नंदगांव और बरसाना, दोनों गांव में वैवाहिक संबंध नहीं

स्थानीय बुजुर्गों का कहना है कि दोनों गांवों में हर जाति बिरादरी के लोग रहते हैं, लेकिन किसी ने भी आज तक न तो बरसाना में बेटे की शादी की है और न ही नंदगांव में किसी ने बेटी की। दरअसल, इस परंपरा को निभाने के पीछे भगवान कृष्ण और राधा रानी का अटूट प्रेम है, जिसे दोनों गांवों के लोगों ने अब तक सहेज कर रखा हुआ है। बरसाना के लोगों का कहना है कि यहां का सिर्फ एक ही दामाद रहेगा और वो हैं श्रीकृष्ण, जबकि नंदगाव की बहू भी सिर्फ एक ही रहेंगी और वो हैं राधा रानी।

नंदगांव और बरसाना के लोग मानते हैं कि अगर इन दोनों ही गांवों के बीच रिश्ता जुड़ गया तो लोग राधा-कृष्ण के प्रेम को भूल जाएंगे। उनके इसी प्रेम की धरोहर को नंदगांव और बरसाना के लोग आज तक सहेजे हुए हैं। कहते हैं कि बरसाना के बूढ़े-बुजुर्ग नंदगांव को राधा रानी का ससुराल मानते हुए उसकी सीमा का पानी तक नहीं पीते। आज भी बरसाना में नंदगांव से आए किसी भी व्यक्ति को खाली हाथ विदा नहीं किया जाता। उन्हें ससम्मान ही विदा किया जाता है।

Tags :

Advertisement