• होम
  • अजब गजब
  • पुलिस में भर्ती होने के लिए आखिर क्यों किया जाता हैं यहां लड़कियों की वर्जिनिटी का 'टू फिंगर टेस्ट'

पुलिस में भर्ती होने के लिए आखिर क्यों किया जाता हैं यहां लड़कियों की वर्जिनिटी का 'टू फिंगर टेस्ट'

By: Ankur Fri, 07 Aug 2020 7:19 PM

पुलिस में भर्ती होने के लिए आखिर क्यों किया जाता हैं यहां लड़कियों की वर्जिनिटी का 'टू फिंगर टेस्ट'

महिलाएं कदम के साथ कदम मिलाकर मर्दों को मुकाबला दे रही हैं। पुलिस में भी मर्दों के साथ महिलाऐं देखि जा सकती हैं। पुलिस में भर्ती होनी की अपनी एक प्रक्रिया होती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंडोनेशिया में महिलाओं का पुलिस बनना इतना आसान नहीं है। इससे पहले उनका वर्जिनिटी का 'टू फिंगर टेस्ट' किया जाता हैं। यहां औरतों को पुलिस में भर्ती होने हेतु ये साबित करना होता है कि वो वर्जिन हैं। यहीं नहीं, उनकी वर्जिनिटी चेक हेतु उनका टेस्‍ट भी होता है।

यहां वर्जिनिटी टेस्ट में महिलाओं को वो टेस्ट पास करना होता है जो बलात्कार के बाद लड़कियों का किया जाता है। इस टेस्ट का नाम टू फिंगर टेस्ट से होता है। बता दें कि, इसके साथ ही पुलिस में भर्ती होने के लिए महिलाओं को एक सलेक्शन कमिटी के सामने अपनी सुंदरता का प्रदर्शन भी करना पड़ता है।

यह टू फिंगर टेस्ट देश में प्रचलित टीएफटी से बलात्कार पीड़ित महिला की वजाइना के लचीलेपन की जांच की जाती है। अंदर प्रवेश की गई उंगलियों की संख्या से डॉक्टर अपनी राय देता है कि ‘महिला सक्रिय सेक्स लाइफ’ में है या नहीं। इंडोनेशिया में जिस महिला को पुलिस में भर्ती होने का मन होता है उसे भर्ती होने तक कुंवारेपन का पालन करना अनिवार्य है।

ये भी पढ़े :

# रातों-रात लाखों का मालिक बना मध्य प्रदेश का यह मजदूर, जानें कैसे

# लड़का करना चाहता था गर्लफ्रेंड को प्रपोज, जलाई सैकड़ों मोमबत्तियां, लेकिन जो हुआ वो सोच से परे

# यहां शादी के लिए तरस रही लड़कियां, नहीं मिल रहे लड़के

# यह किस्सा जानकर कहीं आप भी मोमोज से नफरत ना करने लगें

# इंस्टाग्राम पर मशहूर है ये कुत्ता, करता हैं एक बड़े शोरूम में ‘सेल्समैन’ की नौकरी

Tags :

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com