Advertisement

  • गोरखपुर : डोमिनगढ़ स्टेशन के पास पटरी से उतरी काठगोदाम-हावड़ा एक्सप्रेस, रेल यातायात बाधित

गोरखपुर : डोमिनगढ़ स्टेशन के पास पटरी से उतरी काठगोदाम-हावड़ा एक्सप्रेस, रेल यातायात बाधित

By: Pinki Thu, 11 Oct 2018 4:06 PM

गोरखपुर : डोमिनगढ़ स्टेशन के पास पटरी से उतरी काठगोदाम-हावड़ा एक्सप्रेस, रेल यातायात बाधित

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में डोमिनगढ़ स्टेशन के पास गुरुवार को काठगोदाम से हावड़ा जा रही काठगोदाम-हावड़ा एक्सप्रेस (ट्रेन नंबर 13020) पटरी से उतर गई हालाकि अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं आई है। दोपहर करीब एक बजे एक्सप्रेस डोमिनगढ़ स्टेशन पास कर रही थी तभी यार्ड में इंजन से पीछे वाले एसएलआर कोच के चार पहिए पटरी से उतर गए। अन्य बोगियां पटरी पर ही हैं। सभी यात्री सुरक्षित बताए जा रहे है। मौके पर रेल अधिकारी और कर्मचारी पहुंच गए है। कोच को पटरी पर लाने का प्रयास शुरू हो गया है। हालाकि अभी तक कारणों का पता नहीं चला है।

बुधवार को न्यू फरक्का एक्सप्रेस उतरी थी पटरी से


- उत्तर प्रदेश में रायबरेली के पास बुधवार की सुबह न्यू फरक्का एक्सप्रेस के पटरी से उतरने से कम से कम 5 लोगों की मौत हो गई थी तथा करीब 24 अन्य घायल हो गए।
- पश्चिम बंगाल के मालदा टाउन स्टेशन से नई दिल्ली जा रही ट्रेन का इंजन और आठ डिब्बे बुधवार की सुबह करीब छह बजे उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में हरचन्दपुर के बाबापुर के पास पटरी से उतर गए थे।
- इस हादसे में पांच यात्रियों अजय कुमार पुरी (45), अनीता (45), शम्भू (20), रीता (एक) तथा दिनेश (दो) की मौत हो गई। सभी मृतक बिहार के रहने वाले थे। दुर्घटना में करीब 24 अन्य लोग घायल भी हुए हैं।

इस साल की दूसरी सबसे बड़ी रेल दुर्घटना


- बुधवार को न्यू फरक्का एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की घटना इस साल की दूसरी सबसे बड़ी रेल दुर्घटना है।
- इस साल की पहली बड़ी रेल दुर्घटना 26 अप्रैल को हुई थी जब उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर एक स्कूल वैन ट्रेन की चपेट में आ गई थी जिसमें 13 स्कूली बच्चे मारे गए थे।
- सितंबर 2017 और अगस्त 2018 के बीच हुई 75 रेल दुर्घटनाओं में 40 लोग मारे गए हैं।
- सितंबर 2016 और अगस्त 2017 के बीच 80 रेल दुर्घटनाएं हुईं जिनमें 249 लोग मारे गए।
- नवंबर 2016 में कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की घटना में 150 से ज्यादा यात्री मारे गए थे।
- सितंबर 2017 और अगस्त 2018 के बीच रेल हादसों में 40 लोगों ने अपनी जान गंवाई।
- अगस्त 2017 में उत्कल एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने के कारण 22 लोग मारे गए थे।
- सितंबर 2013 और अगस्त 2014 के बीच 139 रेल हादसों में 275 लोगों ने जान गंवाई थी
-सितंबर 2014 और अगस्त 2015 के बीच 108 रेल हादसों में 196 लोग मारे गए थे।
- वर्ष 2017-18 में बाकी 36 मौतें अन्य कारणों से हुई जिनमें मानवरहित लेवल क्रॉसिंग पर दुर्घटना में 28 जानें गईं, मानवयुक्त लेवल क्रॉसिंग पर दुर्घटना में छह मौतें हुईं, एक व्यक्ति की मौत डिब्बे में आग लगने से हुई जबकि एक की मौत किसी अन्य दुर्घटना में हुई। आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी मिली।

# जाने क्या है रूस के साथ होने वाली S-400 डील और क्यों जरुरी है भारत के लिए इस सौदे का होना!

# 18 रुपये में पाइए अनलिमिटेड डेटा और कॉलिंग, इस कंपनी ने पेश किया जबरदस्त प्लान

Advertisement