Advertisement

  • कोरोना के साथ ही सताने लगा हंटा वायरस का डर, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

कोरोना के साथ ही सताने लगा हंटा वायरस का डर, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

By: Ankur Thu, 26 Mar 2020 09:52 AM

कोरोना के साथ ही सताने लगा हंटा वायरस का डर, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

कोरोना वायरस के डर और दहशत के बारे में तो सभी जानते हैं कि किस तरह यह पूरी दुनिया में मौत का तांडव खेल रहा हैं। अब तक इससे 21 हजार से ज्यादा मौत हो चुकी हैं और संक्रमितों की संख्या 4.75 लाख से भी ऊपर हो चुकी हैं। कोरोना की दहशत के साथ ही अब नया हंटावायरस परेशानी का कारण बन रहा हैं। दहशत की एक वजह और है कारण यह वायरस भी चीन से ही सामने आया है। इस खतरनाक वायरस के कारण चीन में अब तक एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक यह बीमारी यानी वायरस गिलहरी छोटे कीटों और चूहों से फैलता है। भारत में तो पहले से ही स्वाइन फ्लू और बर्ड फ्लू के वायरस हर साल अपना प्रकोप दिखाते थे। ऐसे में पहले क़रोना और अब हंटा वायरस। आइए जानते हैं इस हंटा वायरस से जुड़ी जानकारी के बारे में।

आखिर क्या है हंटा वायरस ?

चूहों की वजह से फैलने वाला वायरस जोकि वायरस फैमिली का ही एक मेंबर है। बहुत सी खतरनाक बीमारियों को जन्म दे सकता है। जब किसी चूहे का मूत्र या मल या फिर लार किसी व्यक्ति के संपर्क में आती है, तो यह वायरस फैलता है। मतलब कोरोना के जैसे यह भी हवा से नहीं फैलता और इसकी वजह से हंटा वायरस पलमोनरी सिंड्रोम (HPS) और इमो हेमोरेजिक फीवर विद रीनल सिंड्रोम (HFRS) होता है। कहना है सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवशन (CDC)।

Health tips,health tips in hindi,hantavirus,symptoms and preventive measures,coronavirus ,हेल्थ टिप्स, हेल्थ टिप्स हिंदी में, कोरोनोवायरस, हंटावायरस, लक्षण और बचाव के उपाय

क्या है हंटा वायरस के लक्षण?

सिर दर्द, पेट दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बलगम, मांसपेशियों में दर्द, थकान, बुखार, ठंड लगना, उल्टी आना, जी मिचलाना, इलाज ना मिलने पर मृत्यु, 38% मॉरटैलिटी रेट

संक्रमण से बचने के लिए उपाय

- चूहों की संख्या कम करें ।घर से चूहों की आवाजाही बंद हो। ताकि कोई भी व्यक्ति उसके मल मूत्र या लार के संपर्क में ना सके। चूहों के बिल बंद करें।

- यह वायरस भी प्लास्टिक के धातु पर काफी समय तक जीवित रहता है इसलिए ऐसे किसी प्रयोग से बचें और कचरा जमा करने या पानी इकट्ठा करने से बचें।

- घरों में लकड़ी या कबाड़ इकट्ठा ना होने दें क्योंकि चूहे इनमें अपना बिल बनाकर घुस जाते हैं।

- यदि घर में या आसपास कोई चूहा मर गया हो तो दस्ताने पहनकर उस जगह को साफ करें और बाद में दस्ताने भी फेकने हाथों को अच्छी प्रकार से गर्म पानी में 20 सेकंड तक एंटीसेप्टिक साबुन से साफ करें।

- घर के आस-पास के नालों या नालियों को ढके और डीडीटी पाउडर छिड़क कर रखें।

Tags :

Advertisement