Advertisement

  • आपके सोने का तरीका बचा सकता है आपको भयंकर रोगों से, जानिए और जरूर आजमाइए

आपके सोने का तरीका बचा सकता है आपको भयंकर रोगों से, जानिए और जरूर आजमाइए

By: Ankur Fri, 14 Sept 2018 7:22 PM

आपके सोने का तरीका बचा सकता है आपको भयंकर रोगों से, जानिए और जरूर आजमाइए

इंसान अपनी भागदौड़ भरी जिंदगी से थक हारकर रात को एक आराम की नींद लेना पसंद करता हैं। अगर उस नींद में कोई अड़चन आए तो इसका सीधा असर इंसान के स्वास्थ्य पर पड़ता हैं। जरा सोचिए रात की यह नींद आपको कई बिमारियों से बचाए तो। जी हाँ, ज्योतिष के अनुसार यदि सोते समय कुछ बातों को ध्यान मे रखा जाए तो टेंशन और बीमारियों को काफी हद तक कम किया जा सकता है। बस जरूरत हैं तो सोते समय दिशाओं का सही ज्ञान रखने की। क्योंकि ज्योतिष के अनुसार रात को सोते समय पैरों की सही दिशा आपका जीवन स्वस्थ और सुखमय बनाते हैं। तो आइये जानते हैं किस तरह सोएं।

* सोते वक्त यदि सिर दक्षिण दिशा की ओर तथा पैर उत्तर दिशा की ओर रखा जाए तो इससे पृथ्वी की ऊर्जा का प्रवाह सही बना रहता है।

* दक्षिण दिशा की ओर सिर करने पर ऊर्जा शरीर में प्रवेश करती है और पैरों के जरिए बाहर निकल जाती है। यह शरीर का रक्त संचरण और पाचन तंत्र मे काफी मददगार रहते हैं।

# उल्लू को मत समझिए ऐसा-वैसा, देता है आपके जीवन से जुड़े कई संकेत

# भोजन का स्वाद बढ़ाने वाला नमक सवार सकता है आपकी जिंदगी, जानें किस तरह

astrology tips,right direction,direction to sleep,good health,vaastu tips ,दिशाएँ, सोने की सही दिशा, वास्तु टिप्स, ज्योतिषीय उपाय, निरोगी काया, स्वस्थ शरीर

* यदि अप मन को शांत रखना चाहते है तो दक्षिण दिशा की ओर सिर रखकर सोना चाहिए है और अवसाद तथा तनाव पर नियंत्रण करना आसान होता है।

* यदि दक्षिण दिशा की ओर सिर कर पाना संभव ना हो तो पश्चिम दिशा की और भी किया जा सकत है इस दौरान पैर पश्चिम की ओर रहते हैं।

* चूंकि पूर्व दिशा से सूर्य उदय होता है, सूर्यदेव सम्पूर्ण जगत को प्रकाश देते हैं। वे जीवन के लिए ऊर्जा भी प्रदान करते हैं। अगर पूर्व की ओर सिरहाना किया जाए तो यह फलदायक होगा|

* पूर्व दिशा की ओर पैर करके सोना उचित नहीं माना जाता है। इससे जीवन में दोषों का प्रवेश हो सकता है। यह सूर्यदेव की दिशा है इसलिए पूर्व की और पैर नहीं करना चाहिए।

# घर में ये 5 पवित्र चीजें हमेशा होनी चाहिए, बनी रहेगी सुख-समृद्धि

# वास्तु के अनुसार ध्यान में रखा गया दिशा ज्ञान, बनता है सफलता का कारण

Advertisement