Advertisement

  • कोरोना वायरस ने भारत में रखे कदम, मुंबई एयरपोर्ट्स पर मिले दो संदिग्ध, बढ़ी निगरानी

कोरोना वायरस ने भारत में रखे कदम, मुंबई एयरपोर्ट्स पर मिले दो संदिग्ध, बढ़ी निगरानी

By: Pinki Fri, 24 Jan 2020 2:53 PM

कोरोना वायरस ने भारत में रखे कदम, मुंबई एयरपोर्ट्स पर मिले दो संदिग्ध, बढ़ी निगरानी

तेजी से अपने पैर पसार रहे कोरोना वायरस के संदिग्ध मामले मुंबई से सामने आए है। कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका के चलते दोनों संदिग्धों को कस्तूरबा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। उनका परीक्षण कराया जा रहा है। बृहन्मुंबई महानगरपालिका की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पद्मजा केस्कर ने बताया कि ऐसे लोगों के निदान और उपचार के लिए एक अलग वार्ड बना दिया गया है जिनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका है। केस्कर ने बताया कि इन दोनों को हल्का सर्दी-जुकाम है। बता दे, कोरोना वायरस से चीन में 26 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 830 लोग संक्रमित हैं। वुहान समेत 9 शहरों को बंद कर दिया गया है। वुहान में 700 से अधिक भारतीय स्टूडेंट पढ़ाई करते हैं।

coronavirus,coronavirus disease,coronavirus in india,coronavirus china,coronavirus infection,coronavirus treatment,world news,news ,कोरोना वायरस

वहीं बता दे, सऊदी अरब में कार्यरत केरल की रहने वाली एक भारतीय नर्स कोरोना वायरस की चपेट में आ गई है। भारतीय नर्स के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने की खबर मिलने के बाद केरल के साथ-साथ भारत सरकार की चिंता बढ़ा दी है। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने गुरुवार को ट्वीट के जरिए इस बात की जानकारी दी। ट्वीट में उन्होंने लिखा कि जो महिला नर्स इस वायरस की चपेट में आई है वह फिलहाल सऊदी अरब में कार्यरत है। वायरस से प्रभावित नर्स का इलाज अस्पताल में चल रहा है और वह दिन पर दिन पहले से ठीक हो रही हैं। सऊदी अरब में काम करने वाली 100 नर्सों की जांच की गई थी जिनमें से एक नर्स इस वायरस से पीड़ित मिली। असीर नेशनल हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है और वह स्वस्थ हो रही हैं। भारतीय वाणिज्य दूतावास के लोग अस्पताल प्रबंधन और सऊदी के विदेश मंत्रालय के संपर्क में हैं। हमने अपने दूतावास से हरसंभव सहायता पहुंचाने के लिए कहा है।

coronavirus,coronavirus disease,coronavirus in india,coronavirus china,coronavirus infection,coronavirus treatment,world news,news ,कोरोना वायरस

आपको बता दे, चीनी वैज्ञानिकों के ताजा अध्ययन में वायरस के चमगादड़ों से सांपों में और फिर सांपों से इंसानों में फैलने की संभावना प्रकट हुई है। चीन की राजधानी पेइचिंग में शोधकर्ताओं का अध्ययन जर्नल ऑफ मेडिकल वायरॉलजी में प्रकाशित किया गया है। इसमें कहा गया है कि करॉनाा वायरस सांपों से इंसान तक पहुंचा है। चीन में सांप खाने की परंपरा है। चीन के वुहान में ऐसे जीव-जंतुओं का बाजार है जहां सांप, चमगादड़, मैरमोट्स, पक्षी, खरगोश आदि बिकते हैं। इन जीवों को चीन के लोग खाते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है चमगादड़ से फैलने वाला SARS का वायरस सांप के जरिए लोगों में फैला। वैज्ञानिकों का मानना है कि SARS वायरस सांप में गया तो वह कोरोनावायरस में तब्दील हो गया। सांप के शरीर में बने नए कोरोनावायरस का कोई इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है। कोरोना वायरस पर अध्ययन करने वाले वैज्ञानिक वी जी ने यह खुलासा किया है कि चमगादड़ से सांप में आने के बाद वायरस ने अपने जीनोम में बदलाव कर लिया। इससे यह बेहद खतरनाक हो गया है। वी जी ने विभिन्न जीव-जंतुओं से कुल मिलाकर 217 वायरस के सैंपल लिए थे। इनमें से पांच सैंपल कोरोना वायरस के थे। जब सभी जीवों में मिलने वाले वायरस की तुलना इस नए वायरस से की गई तो पता चला कि यह वायरस सांपों में मिल रहे वायरस से मिलता है।

वी जी की बात का समर्थन करते हुए पेंसिलवेनिया स्थित पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हाईताओ गुओ ने बताया कि यह खुलासा बेहद हैरान करने वाला है। चमगादड़ और सांप के वायरस ने आपस में मिलकर कोरोना वायरस बनाया है।

Tags :

Advertisement

Error opening cache file