Advertisement

  • भारत सरकार की चिंता बढ़ी, केरल की नर्स भी कोरोना वायरस की चपेट में, चीन में अब तक 25 लोगों की मौत

भारत सरकार की चिंता बढ़ी, केरल की नर्स भी कोरोना वायरस की चपेट में, चीन में अब तक 25 लोगों की मौत

By: Pinki Fri, 24 Jan 2020 08:25 AM

भारत सरकार की चिंता बढ़ी, केरल की नर्स भी कोरोना वायरस की चपेट में, चीन में अब तक 25 लोगों की मौत

तेजी से अपने पैर पसार रहा कोरोना वायरस की चपेट में एक भारतीय नर्स आ गई है। यह नर्स सऊदी अरब में कार्यरत केरल की रहने वाली है। भारतीय नर्स के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने की खबर मिलने के बाद केरल के साथ-साथ भारत सरकार की चिंता बढ़ा दी है। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने गुरुवार को ट्वीट के जरिए इस बात की जानकारी दी। ट्वीट में उन्होंने लिखा कि जो महिला नर्स इस वायरस की चपेट में आई है वह फिलहाल सऊदी अरब में कार्यरत है। वायरस से प्रभावित नर्स का इलाज अस्पताल में चल रहा है और वह दिन पर दिन पहले से ठीक हो रही हैं। सऊदी अरब में काम करने वाली 100 नर्सों की जांच की गई थी जिनमें से एक नर्स इस वायरस से पीड़ित मिली। असीर नेशनल हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है और वह स्वस्थ हो रही हैं। भारतीय वाणिज्य दूतावास के लोग अस्पताल प्रबंधन और सऊदी के विदेश मंत्रालय के संपर्क में हैं। हमने अपने दूतावास से हरसंभव सहायता पहुंचाने के लिए कहा है। बता दें कि चीन में करॉना वायरस के कारण अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है।

मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त बयान के अनुसार विजयन ने जयशंकर को पत्र लिखकर इस संबंध में अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को सऊदी अरब में अपने समकक्ष से संपर्क कर इस वायरस से प्रभावित लोगों को उचित उपचार मुहैया कराने के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए। विजयन ने पत्र में लिखा कि मामले को गंभीरता से देखा जाना चाहिए।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने चीन में फैले नए वायरस के अपने यहां पहले मामले की जानकारी दी थी। यह वायरस चीन के वुहान शहर में फैला हुआ है। संघीय एवं राज्य अधिकारियों ने बताया कि पीड़ित की उम्र 30 से 35 साल की है और वह वुहान से अमेरिका आया है। हालांकि वह वुहान के सीफूड बाजार में नहीं गया था जो कि वायरस संक्रमण का केंद्र बना हुआ है। उन्होंने बताया था कि व्यक्ति को एहतियात के तौर पर अस्पताल में भर्ती किया गया है न कि इसलिए कि वह गंभीर स्थिति में है।

चीन में स्वास्थ्य विभाग ने इस विषाणु के प्रकोप को देखते हुए अलर्ट जारी किया है। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलेजा ने कहा है कि जो लोग चीन से लौटे हैं, उन्हें जिला चिकित्सा अधिकारियों को सूचित करना चाहिए साथ ही राज्य के सभी चार हवाई अड्डों- तिरुवनंतपुरम, कोच्चि, कोझीकोड और कन्नूर में निगरानी रखने के लिए अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं।

कोराना वायरस के लक्षण

तेजी से अपने पैर पसार रहा कोरोनावायरस का लक्षण सबसे पहले पीड़ित को सांस लेने में काफी दिक्कत होने लगती है, गले में दर्द रहने लगता है इसके अलावा जुकाम, खांसी, सिर दर्द, नाक बहना, कफ और बुखार होता है। इसके अलावा बुखार निमोनिया का रूप भी ले सकता है और निमोनिया किडनी से जुड़ी कई तरह की दिक्कतों को बढ़ाने का काम कर सकता है।

कोराना वायरस का इलाज क्या है?

अमेरिका की नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ इस वायरस के वैक्सीन पर शोध कर रही है। लेकिन मनुष्यों पर इसे परीक्षण में अभी महीनों लग सकते हैं। लेकिन इसके लक्षणों के आधार पर डॉक्टर्स इसके इलाज में दूसरी जरूरी मेडिसिन्स का उपयोग कर रहे हैं। साथ ही साथ इसकी वैक्सीन तैयार करनेपर भी काम चल रहा है।

कोराना वायरस से बचने के तरीके

- पहली और अहम बात है कि जब तक करॉन वायरस का प्रकोप शांत नहीं हो जाता, जितना हो सके सी-फूड से दूर रहें।

- साफ-सफाई करॉन वायरस से बचने का दूसरा और जरूरी तरीका है। कहीं भी बाहर से आने या कुछ भी खाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह साफ करें। सिर्फ पानी से नहीं बल्कि साबुन या हैंडवॉश से धोएं।

- अपने साथ हैंड सेनिटाइजर हमेशा रखें। जहां पानी से हाथ धोने की व्यवस्था ना हो, वहां इसका इस्तेमाल करें।

- पब्लिक ट्रांसपोर्ट का यूज करने के बाद हाथ साफ किए बिना उन्हें अपने चेहरे और मुंह पर ना लगाएं।

- बीमार लोगों की देखभाल के दौरान अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। अपनी नाक और मुंह को कवर करके रखें। उनके इस्तेमाल किए हुए बर्तन और कपड़ों का उपयोग करने से बचें।

Tags :

Advertisement

Error opening cache file