Advertisement

  • दिल्ली में ऑनर किलिंग, बेटी की हत्या कर शव 80 किमी दूर फेंक आए माता-पिता

दिल्ली में ऑनर किलिंग, बेटी की हत्या कर शव 80 किमी दूर फेंक आए माता-पिता

By: Pinki Sat, 22 Feb 2020 09:25 AM

दिल्ली में ऑनर किलिंग, बेटी की हत्या कर शव 80 किमी दूर फेंक आए माता-पिता

नई दिल्ली के न्यू अशोक नगर इलाके से ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। यहां बेटी के लव मैरिज करने से खफा परिजनों ने उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद परिवार वालों ने लाश को कार में रखकर दिल्ली से 80 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले की जावा नहर में ठिकाने लगा दिया। मृतका की पहचान शीतल चौधरी के तौर पर हुर्ई है। इस मामले का पर्दाफाश तब हुआ, जब युवती के प्रेमी ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में लिखवाई।

माता-पिता समेत छह लोग गिरफ्तार

परिजनों से छिपकर एक ही गोत्र के युवक से शादी को इस हत्याकांड की वजह माना जा रहा है। मामले में न्यू अशोक नगर पुलिस ने माता-पिता समेत छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने हत्या के आरोप में युवती की मां सुमन, पिता रवीन्द्र, ताऊ संजय, फूफा ओम प्रकाश, फूफा के बेटे परवेश को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि रवीन्द्र चौधरी अपने परिवार के साथ न्यू अशोक नगर में रहते थे। उनकी बेटी शीतल चौधरी को पड़ोस में रहने वाले अंकित भाटी से प्यार हो गया था। शीतल और अंकित ने लगभग तीन साल तक रिश्ते में रहने के बाद पिछले साल अक्टूबर में आर्य समाज मंदिर पहुंचकर चुपके से शादी कर ली थी।

honour killing,love marriage,delhi,new ashok nagar,aligarh,police,delhi crime,news ,दिल्ली

परिवार ने पुलिस के सामने कबूल किया है कि काफी समझाने पर भी वह शादी तोड़ने के लिए तैयार नहीं हुई तो उन्होंने उसकी हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक, शीतल परिवार सहित न्यू अशोक नगर इलाके में रहती थी। परिवार में पिता रविन्द्र, मां व अन्य परिजन हैं।

ऐसे सामने आया मामला

बताया जा रहा है कि अंकित ने शीतल को कई बार फोन किया, तब उसका फोन स्वीच ऑफ बताता रहा। शीतल से संपर्क न होने की वजह से अंकित ने न्यू अशोक नगर थाने पहुंचकर उसके अपहरण की तहरीर दी। शिकायत मिलने के बाद हरकत में आई पुलिस ने शीतल के घर जाकर उसके संबंध में पूछताछ की, तो परिजनों ने उसके अपनी बुआ के घर जाने की जानकारी दी। पुलिस बुआ के घर पहुंची, तो शीतल वहां भी नहीं मिली। कई दिन तक हाथ-पांव मारने के बाद भी खाली हाथ रही पुलिस ने शीतल के परिजनों की कॉल डिटेल निकलवाई तो परिवार शक के घेरे में आ गया। शक के आधार पर जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो शीतल की हत्या का राज खुल गया। दिल्ली पुलिस ने जब अलीगढ़ पुलिस से संपर्क किया, तो यह खुलासा हुआ कि 30 जनवरी के दिन एक लाश मिली थी, जिसकी शिनाख्त नहीं होने पर 2 फरवरी को अंत्येष्टि भी कर दी गई। उसके कपड़े, कुछ सामान और तस्वीर के सहारे दिल्ली पुलिस ने उसकी शिनाख्त शीतल चौधरी के रूप में की।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शीतल के दोस्त ने पुलिस को बताया कि शादी करने के बाद शीतल ने ही उससे कहा था कि वह अभी इसके बारे में किसी को नहीं बताएंगे। उसने कहा था कि अभी घर में कुछ प्रोग्राम हैं वो हो जाने के बाद वह अपने परिजनों को मना लेगी। मगर जब वो नहीं मानी तो आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी।

Tags :
|
|

Advertisement