Advertisement

  • होम
  • न्यूज़
  • क्या इन विवादों की वजह से मनोज तिवारी को गवानी पड़ी दिल्ली BJP अध्यक्ष की कुर्सी

क्या इन विवादों की वजह से मनोज तिवारी को गवानी पड़ी दिल्ली BJP अध्यक्ष की कुर्सी

By: Pinki Tue, 02 June 2020 6:48 PM

क्या इन विवादों की वजह से मनोज तिवारी को गवानी पड़ी दिल्ली BJP अध्यक्ष की कुर्सी

भोजपुरी एक्टर और सिंगर मनोज तिवारी को 2016 में बीजेपी की कमान सौंपी गई थी। 2017 में बीजेपी ने मनोज तिवारी के नेतृत्व में एमसीडी चुनाव जीता था। लेकिन विधानसभा चुनावों में करारी हार का सामना करना पड़ा। सांसद मनोज तिवारी को अब इस पद से हटा दिया गया है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने आदेश कुमार गुप्ता को दिल्ली प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है।

हालाकि, मनोज तिवारी को हटाने के पीछे क्या कारण रहे होंगे इसका अभी कुछ पता नहीं लग सका है, केवल कयास ही लगाए जा रहे है। दरअसल, मनोज तिवारी विवादों से दूर ही रहते हैं लेकिन पिछले दिनों में वो विवादों में घिरे रहे।

महिला टीचर को लगाई फटकार

पहले तो बात करते हैं साल 2017 में शिक्षक दिवस के मौके पर हुए विवाद की। दरअसल, उत्तर पूर्वी दिल्ली के यमुना विहार में निगम के स्कूलों में सीसीटीवी कैमरा लगवाने के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में मनोज तिवारी को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाया गया था। इसी कार्यक्रम के दौरान मंच से एक महिला टीचर ने उन्हें अपने अंदाज में कुछ गाने की फरमाइश कर डाली। ये सुनते ही तिवारी तमतमा गए। उन्होंने टीचर को फटकार लगाते हुए मंच से उतर जाने का फरमान सुना डाला। महिला टीचर के इस अनुरोध से नाराज मनोज तिवारी ने कहा, 'आपको क्या ऐसा कहना चाहिए। मैं कोई नौटंकी कर रहा हूं। यहां मजाक नहीं हो रहा। आप सांसद को बोलोगे, गाना गाओ। ये तमीज है आपकी, ये गाने का प्रोग्राम है क्या। दो करोड़ रुपये के सीसीटीवी लग रहे हैं और आप कह रहे हैं कि गाना गाओ।' ये विवाद काफी बढ़ गया था और उस टीचर के समर्थन में लोग आगे आ गए थे।

जाने अनजाने कोई त्रुटि हुई हो तो क्षमा करना.. : मनोज तिवारी

manoj tiwari removed,manoj tiwari news,manoj tiwari delhi bjp president,manoj tiwari delhi bjp chief,manoj tiwari,delhi bjp new president,bjp new chief,adesh kumar gupta,coronavirus ,मनोजी तिवारी बीजेपी अध्यक्ष, मनोज तिवारी हटाए गए

मनोज तिवारी के विवादित बयान

लोकसभा चुनावों के दौरान दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अमेठी में विवादास्पद बयान दिया था। मनोज ने कांग्रेस पर गौ-हत्या करने का आरोप लगाया था। अमेठी के तिलोई इलाके में स्मृति ईरानी के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे मनोज तिवारी ने कहा था कि जो लड़ने वाले हैं वह कहीं और गए हैं, क्योंकि पता है यहां कुछ नहीं होगा और जहां लड़ने गए हैं उस वायनाड के बारे में आप लोग जानते हैं। मनोज तिवारी ने कहा, 'यह वही वायनाड है जहां कांग्रेस के लोगों ने वीडियो बनाकर हमारी गौ माता का। इसके आगे बोल नहीं सकता। आपने देखा होगा केरल में वीडियो बनाकर गौ हत्या हुई थी।

जानें कौन हैं आदेश गुप्ता, जिन्हें मिली दिल्ली BJP की कमान

छत्तीसगढ़ में दिया विवादित बयान

11 नवंबर, 2018 को छत्‍तीसगढ़ के अंबिकापुर जिले के कलाकेंद्र मैदान में आयोजित भाजपा की एक सभा में मनोज तिवारी ने कांग्रेस, सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि सोनिया गांधी ने कभी छठ पूजा नहीं की। छठ पूजा करने से बुद्धिमान और देशभक्‍त बच्‍चे पैदा होते हैं। लेकिन उनको पता नहीं था या वो भूल गए थे उनकी पार्टी के ही तमाम नेताओं के यहां छठ पूजा नहीं होता। इस बयान का असर ये हुआ कि लोग सोशल मीडिया में कहने लगे कि क्या पीएम मोदी और अमित शाह के घर छठ पूजा होती है।

manoj tiwari removed,manoj tiwari news,manoj tiwari delhi bjp president,manoj tiwari delhi bjp chief,manoj tiwari,delhi bjp new president,bjp new chief,adesh kumar gupta,coronavirus ,मनोजी तिवारी बीजेपी अध्यक्ष, मनोज तिवारी हटाए गए

जेएनयू और दीपिका विवाद में कूदे मनोज तिवारी

बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के जवाहर नेहरु विश्वविद्यालय जाने के बाद विवाद छिड़ गया था। हालांकि इस विवाद पर किसी भी नेता ने टिप्पणी करना उचित नहीं समझा लेकिन मनोज तिवारी यहां खुद को नहीं रोक पाए। सांसद मनोज तिवारी ने उन्हें देशभक्त बताया है और कहा है कि उन्हे कोई गुमराह कर रहा है। मनोज ने दीपिका के जेएनयू जाने के सवाल पर कहा है कि उन्हें स्पष्ठ करना चाहिए कि वह वहां किसका समर्थन करने गई थी। वह कहते हैं कि बेशक दीपिका जेएनयू गई थी मगर इसका मतलब यह नहीं है कि वह देशद्रोही हैं। वह कहते हैं कि उनकी फिल्म छपाक का बहिष्कार नहीं होना चाहिए। वह एक देशभक्त सुपरस्टार हैं उन्हें कोई गुमराह कर रहा हैं।

दिल्ली चुनाव और हनुमान जी विवाद

दिल्ली चुनाव के दौरान अरविंद केजरीवाल के हनुमान मंदिर जाने को लेकर भी बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने विवादित बयान दिया था। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि वे पूजा करने गए थे या हनुमान जी को अशुद्ध करने गए थे? तिवारी ने कहा था एक हाथ से जूता उतारा, उसी हाथ से माला लेकर।।।क्या कर दिया? जब नकली भक्त आते हैं न तो यही होता है। मैंने पंडित जी को बताया, बहुत बार हनुमान जी को धोए हैं। मनोज तिवारी के इस बयान के बाद दिल्ली की सियासत गरमा गई थी। विवाद बढ़ने अरविंद केजरीवाल ने हनुमान चालीसा भी सुनाई थी। मनोज तिवारी इस विवाद को लेकर बैकफुट में आ गए थे।

सोशल डिस्टेंसिंग विवाद

कुछ ही दिनों पहले मनोज तिवारी हरियाणा के सोनीपत मैच खेलने चले गए थे। उन पर कोरोना वायरस लॉकडाउन तोड़ने का आरोप लगा था। लॉकडाउन और हरियाणा बॉर्डर सील होने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता मनोज तिवारी सोनीपत पहुंचे थे, जिसे कार्यक्रम में मनोज तिवारी शामिल हुए वहां सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ीं और तिवारी ने खुद भी मास्क नहीं पहना हुआ था। वहां वह एक क्रिकेट मैच के लिए गए थे। इस दौरान वहां काफी लोगों की भीड़ जमा हुई, जिसकी मनाही है। वीडियो में तिवारी वहां बिना मास्क लगाए दिखाई देते हैं। इसके साथ ही लोग भी वहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे थे। वहां भीड़ के सामने मनोज तिवारी ने क्रिकेट खेला (जिसका वीडियो उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर है) फिर लोगों के सामने बिना मास्क लगाए गाने भी गाए। इसके बाद नौबत यहां तक आ गई थी कि मनोज तिवारी को सफाई तक देनी पड़ गई थी।

वहीं, इसके बाद सोमवार को मनोज तिवारी को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन करने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। वे दिल्ली में कोविड-19 को नियंत्रित करने में अरविंद केजरीवाल सरकार की नाकामी के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए राजघाट पर जमा हुए थे।

Tags :

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com