टिकटॉक के खिलाफ डोनाल्ड ट्रम्प ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर चलाया एड कैम्पेन; बैन के बावजूद भारत में अभी भी हो रहा TikTok का इस्तेमाल

By: Pinki Sat, 18 July 2020 12:36 PM

टिकटॉक के खिलाफ  डोनाल्ड ट्रम्प ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पर चलाया एड कैम्पेन; बैन के बावजूद भारत में अभी भी हो रहा TikTok का इस्तेमाल

चीन का बेहद लोकप्रिय शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक (TikTok) के भारत में बैन होने के बाद अमेरिका भी जल्द ही टिकटॉक पर बैन के बारे में आखिरी फैसला ले सकता है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प फेसबुक और इंस्टाग्राम पर इसके खिलाफ एड कैम्पेन चला रहे हैं। इसमें कहा जा रहा है कि चीन का यह ऐप अमेरिकी नागरिकों की जासूसी कर रहा है। कुछ दिन पहले ट्रम्प ने टिकटॉक पर बैन के बारे में विचार करने की बात कही थी। भारत ने पिछले महीने चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगा दिया था। अमेरिकी एनएसए रॉबर्ट ओ’ब्रायन और विदेश मंत्री भारत के सख्त कदम की तारीफ कर चुके हैं।

क्या है ट्रम्प के ऐड कैम्पेन में


न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्टर टेलर लॉरेंज ने सबसे पहले ट्रम्प के एंटी टिकटॉक कैम्पेन की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की। कैम्पेन की टैगलाइन है- टिकटॉक आपकी जासूसी कर रहा है। इसमें आगे कहा कि अमेरिकी नागरिकों को प्राइवेसी यानी निजता का अधिकार है। इस कैम्पेन के तहत यूजर के पास एक लिंक जाता है जब यूजर उस लिंक पर क्लिक करता है तो वहां उसे एक सर्वे मिलता है। इसमें पूछा गया है- क्या आपको लगता है कि ट्रम्प को अमेरिका में टिकटॉक पर बैन लगा देना चाहिए? इस सवाल के साथ ही यूजर्स से यह गुजारिश भी की गई है कि वो ट्रम्प के इलेक्शन कैम्पेन के लिए डोनेशन यानी चंदा दें।

us,donald trump,tiktok ban,facebook,instagram,india tiktok banned,world news,news ,टिकटॉक,अमेरिका

क्या ये डोनेशन पाने का खेल है

अमेरिकी वेबसाइट माशाबेल के मुताबिक, टिकटॉक सिर्फ एक नयी सोशल मीडिया कंपनी है, जिसके जरिए ट्रम्प डोनेशन हासिल करना चाहते हैं। इसके पहले स्नैपचैट और ट्विटर पर आरोप लगाए गए थे कि वे 2020 के प्रेसिडेंट इलेक्शन में दखलंदाजी की कोशिश कर रही हैं। सोशल मीडिया कंपनियां ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के निशाने पर पहले से रही हैं।

फिर, टिकटॉक के मामले में नया क्या?

एक्सपर्ट्स टिकटॉक (Tiktok) के मामले को अलग तरह से देखते हैं, क्योंकि सिर्फ अमेरिका या भारत नहीं बल्कि, दुनिया के कई देशों में यह शक और संदेह गहराता जा रहा है कि टिकटॉक के जरिए चीन इन देशों की जासूसी कर रहा है। लिहाजा, इसे नेशनलिज्म या राष्ट्रवाद से जोड़ा जा रहा है। कहा जा रहा है कि टिकटॉक या दूसरे चीनी ऐप यूजर डाटा चीन भेज रहे हैं और यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा है।

सच्चाई छिपा रही है टिकटॉक

भारत में जब इस ऐप को बैन किया गया तो कंपनी ने कहा था कि वो यूजर डाटा शेयर नहीं करती, लेकिन माशाबेल की रिपोर्ट में दावा इसके बिल्कुल उलट है। इसके मुताबिक, अमेरिका में टिकटॉक ऑपरेटर्स ने कहा है कि वे यूजर डाटा कहीं और किसी से शेयर नहीं करते और उनको ऐसा करने के लिए कहा गया है। दूसरी तरफ, 2017 के एक चीनी कानून में कहा गया है- अगर चीनी सरकार चाहे तो वो राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर इन कंपनियों से यूजर डाटा देने को कह सकती है। यानी टिकटॉक दो बातें कर रही है।

भारत में अभी भी हो रहा टिकटॉक का इस्तेमाल

वहीं, भारत में सरकार ने टिकटॉक को बैन तो कर दिया है लेकिन ये ऐप अभी भी लोगों के फोन में मौजूद है और कई यूज़र्स इसे इंस्टॉल और इस्तेमाल कर पा रहे हैं। दरअसल जब से टिकटॉक बैन हुआ है, लोग इसे यूज़ करने के लिए अलग-अलग जुगाड़ ढूंढ रहे हैं। कोई इसे APK फाइल के ज़रिए डाउनलोड कर रहा है तो कोई VPN के ज़रिए ऐप को एक्सेस करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन ज़्यादातर तरीके काम नहीं कर रहे हैं। इसी बीच वॉट्सऐप पर एक apk फाइल का लिंक तेजी से वायरल हो रहा है, जिससे लोगों के फोन में टिकटॉक डाउनलोड हो जा रहा है। जैसे ही यूज़र इस लिंक पर क्लिक करता है तो उसका फोन unknown ऐप को इंस्टॉल करने की परमिशन मांगता है। अब जब यूज़र Setting में जाकर परमिशन ON कर देता है तो उसे इंस्टॉल करने का ऑप्शन मिल जाता है, और ऐप आसानी से फोन में काम करने लगती है। आपको जानकर हैरानी होगी डाउनलोड करने के बाद लोगों को ये पहले की तरह दिखाई देने लगता है, जिसके लिए उन्हें कोई भी ट्रिक इस्तेमाल करने की ज़रूरत नहीं पड़ रही है।

ये भी पढ़े :

# भारत में अनुमान से ज्यादा स्पीड से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण, 5 दिन पहले हुए 10 लाख केस, 3 करोड़ होने की आशंका

# राजस्थान का सियासी ड्रामा, फोन टैपिंग कांड पर BJP बोली- कांग्रेस के अंदर ही साजिश, हो CBI जांच

# देश में पिछले 24 घंटे में 34820 मरीज बढ़े, अब तक 10.40 लाख केस; 26, 285 लोगों की हुई मौत

# कोरोना से देश में 26,281 मौतें, पिछले 24 घंटे में 672 मरीजों की गई जान; महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 258 लोगों ने तोड़ा दम

# UN में बोले PM मोदी- कोरोना महामारी की लड़ाई को हमने जनआंदोलन बनाया , भारत का रिकवरी रेट सबसे बेहतर

# अजीब वाक्या / महिला ने की आत्महत्या, मायके पक्ष के लोग शव को छीन कर ले गए

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com