Advertisement

  • हिन्दी न्यूज़››
  • न्यूज़››
  • सुशांत की बहन का मुंबई पुलिस को दिया बयान, कहा - जब घर पहुंची तो सिर्फ पंखे से लटका कपड़ा देखा

सुशांत की बहन का मुंबई पुलिस को दिया बयान, कहा - जब घर पहुंची तो सिर्फ पंखे से लटका कपड़ा देखा

By: Pinki Thu, 03 Sept 2020 10:02 AM

सुशांत की बहन का मुंबई पुलिस को दिया बयान, कहा - जब घर पहुंची तो सिर्फ पंखे से लटका कपड़ा देखा

सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई की जांच का आज 14वां दिन है। सीबीआई के साथ ईडी और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की जांच भी तेज रफ्तार से चल रही है। ईडी जहां मनी लॉन्ड्रिंग की तहकीकात कर रही है, वहीं NCB ड्रग्स मामले की पड़ताल में जुटी है। उधर, सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सबसे अहम गवाह यानी उनकी बहन मीतू सिंह का 16 जून को मुंबई पुलिस को दिया बयान सामने आया है। इसमें मीतू सिंह ने बताया है कि कैसे उन्हें सुशांत की मौत की जानकारी मिली थी। इससे पहले सुशांत के रूममेट सिद्धार्थ पिठानी ने कहा था कि उन्होंने मीतू सिंह के कहने पर ही सुशांत के शव को पंखे से नीचे उतारा था।

मीतू ने मुंबई पुलिस को दिया ये बयान

मीतू ने मुंबई पुलिस को बताया कि मेरे छोटे भाई सुशांत सिंह राजपूत ने साल 2006 में इंजीनियरिंग पास की थी और फिर वो टीवी सीरियल्स में काम करने लगा था। टीवी में सफल होने के बाद उसने फिल्मों में काम करना शुरू किया था। मेरे भाई सुशांत ने कई फिल्मों में काम किया है। मैं अपने पति और बच्ची के साथ साल 2018 से मुंबई में रहने लगी थी। मुंबई आने के बाद मैंने सुशांत से कई बार मुलाकात की थी।

मीतू ने आगे बताया कि अक्टूबर 2019 में सुशांत ने पूरे परिवार से कहा था कि वह खुद को डिप्रेशन महसूस कर रहा है। मेरी बहनें नीतू सिंह और प्रियंका सिंह भी दिल्ली और हरियाणा से सुशांत सिंह राजपूत के पास मुंबई आई थीं। उसके बांद्रा वेस्ट के जॉगर्स पार्क में माउंट ब्लैंक बिल्डिंग के फ्लैट नंबर 601 में उससे मिले थे। सभी बहनें कुछ समय तक उसके साथ रही थीं और उसे समझाया था। मेरा भाई सुशांत सिंह प्रोफेशनल अप और डाउंस को लेकर उदास था। मेरी बहन नीतू सिंह ने उससे कहा था कि वह उसके साथ दिल्ली चले तो उसने कहा था कि वह कुछ दिन बाद आएगा। नवंबर 2019 में मेरे भाई सुशांत सिंह ने डिप्रेशन महसूस होने पर हिंदुजा अस्पताल में डॉ केरसी चावड़ा से से इलाज कराया था।

मीतू ने आगे कहा कि मार्च 2020 में कोविड-19 के चलते वह घर पर ही रहा। इस दौरान वह पुस्तकें पढ़ता रहा, कसरत, मेडिटेशन और योग करता रहा। जून 2020 को मैंने अपने भाई सुशांत को कॉल किया था और पूछा कि उसने पिछले चार-पांच दिन से फोन क्यों नहीं किया। उसे अच्छा महसूस नहीं हो रहा था। मैंने उसे उस समय बोला कि लॉकडाउन के खत्म होने पर मैं उससे आकर मिलूंगी।

मीतू ने बताया कि 8 जून को सुशांत ने मुझे मिलने के लिए बुलाया था। मैं इसी दिन शाम को 5:30 बजे उससे मिलने गई थी। जब मैं सुशांत से मिली तो वो शांत था और जब मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ तो उसने कहा कि वो लॉकडाउन के कारण कहीं जा नहीं पा रहा है और इसके चलते वो काफी बोर हो रहा है। उसने मुझसे कहा था कि जब लॉकडाउन खत्म हो जाएगा तो हम दक्षिण भारत घूमने चलेंगे। सुशांत ने मुझसे कहा था कि मुझे उसके पास कुछ दिन रुक जाना चाहिए। मैंने ऐसा ही किया, जब मैं सुशांत के पास थी तो मैंने उसके लिए उस दौरान उसके फेवरेट डिशेज बनाए। मेरी बेटी गोरेगांव में अकेले थी, इसलिए 12 जून को शाम को मैं चली गई। घर जाने के बाद सुशांत को मैसेज कर बताया, लेकिन उसने रिप्लाई नहीं किया और ना ही मुझे कॉल किया।

सुशांत की मौत वाले दिन को लेकर मीतू का बयान

मीतू ने बताया कि 14 जून को मैंने अपने भाई सुशांत को सुबह 10:30 बजे कॉल किया था, लेकिन उसने मेरा फोन नहीं उठाया तो मैंने सिद्धार्थ पिठानी को कॉल किया जो सुशांत के साथ ही रहता था। उसने मुझे कहा था कि उसने सुशांत को नारियल पानी का जूस और अनार का जूस दिया है और वो शायद सो रहा है। उसने फिर दरवाजे पर नॉक किया था लेकिन दरवाजा अंदर से बंद था।

मीतू ने बताया कि मैंने उससे कहा था कि सुशांत कभी दरवाजा अंदर से लॉक नहीं करता है। मैंने उसे कहा था कि वो दोबारा दरवाजा नॉक करे और मैंने उसे ये भी कहा कि सुशांत को बता दे कि मैं उसे कॉल कर रही हूं। सिद्धार्थ ने इसके बाद मुझे बताया कि उसने कई बार सुशांत के बेडरूम को नॉक किया है, लेकिन उन्होंने दरवाजा नहीं खोला है और इसलिए वो इस दरवाजे के की-मेकर को कॉल कर रहा है ताकि दरवाजे को खोला जा सके। मैं सिद्धार्थ के इस कॉल के बाद फौरन गोरेगांव से बांद्रा के लिए कैब से रवाना हो गई थी।

मीतू ने बताया कि टैक्सी से आते हुए, मुझे सिद्धार्थ का कॉल आया और उसने मुझे बताया कि सुशांत का दरवाजा खोल लिया गया है और सुशांत की बॉडी पंखे से लटकी हुई पाई गई है। सिद्धार्थ और फ्लैट में मौजूद अन्य लोगों ने उनकी बॉडी को चाकू से कुर्ते को काट कर उतारा है। मैंने इस घटना के बारे में अपनी बहन नीतू और प्रियंका को बताया। इसके बाद पुलिस सुशांत को कूपर अस्पताल एंबुलेंस से ले गई थी। वहां पहुंचने पर डॉक्टर्स ने सुशांत को मृत घोषित कर दिया था। मुझे नहीं पता कि सुशांत ने 'आत्महत्या' बिजनेस की वजह से या किसी और कारण से की है।

रिया के भाई शोविक से पूछताछ करेगी ED

वहीं, सुशांत केस की जांच कर रही सीबीआई ने आज फिर रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक को पूछताछ के लिए बुलाया है। शोविक को सुबह 11 बजे ईडी दफ्तर पेश होने को कहा गया है। शोविक से ड्रग्स पर सवाल हो सकते हैं। बता दें, शोविक का नाम ड्रग्स मामले में लगातार सामने आ रहा है। जल्द NCB भी उन्हें पूछताछ के लिए बुला सकती है। रिया चक्रवर्ती के पिता इंद्रजीत को भी आज फिर से सीबीआई ने तीसरे दिन पूछताछ के लिए बुलाया है। रिया के पिता से सुशांत संग उनकी बेटी के रिश्ते पर सीबीआई सवाल कर रही है। बुधवार को सीबीआई ने रिया के पिता से 9 घंटे तक पूछताछ की थी।

ये भी पढ़े :

# सुब्रह्मण्यम स्वामी ने बताया, आखिर क्यों CBI को नहीं मिल रहे सुशांत के 'मर्डर' के सबूत?

Tags :
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com